loading...
Get Indian Girls For Sex
   

chudai

हेलो दोस्तो मैं रणवीर आज फिर से एक बार अपनी एक और मस्त कहानी ले कर आपके लिए हाजिर हूँ. मुझे मेरी कहानियों का बहोट अछा रेस्पॉन्स मिल रहा है. मुझे उमीद नही थी की आप सब को मेरी कहानी इतनी पसंद आएगी.

आप सब के इतने प्यार मिलने की वजह से आज मैं आप को एक और नया और मस्त किस्सा ब्ताने जा रहा हूँ. मुझे उमीद है आप को आज भी मेरी ये कहानी पसंद आएगी. तो चलिए फिर ज़्यादा देर ना करते हुए कहानी को शुरू करते है.

जैसे की मैने पहले ब्टाया था की मैने केसे अपनी दोनो मामी यो को चोदा था. पर कुछ टाइम वो दोनो मामी यो अलग हो गई थी. बड़ी मामी मेरे घर से ज़्यादा दूर नही थी पर छोटी मामी थोड़ी दूर थी.

बड़ी मामी एक नंबर की लेज़्बीयन थी. वो साली अपनी चूत को मरवाने से ज़्यादा चटवाना पसंद करती थी. इसलिए उसे लंड की भूक कम ही लगती थी. पर उधर छोटी मामी एक नंबर की चुद्कद औरत थी. उसे तो लंड के बिना चैन नही आता था.

हर हफ्ते मे 2 या 3 बार तो वो मेरा ही लंड मांगती थी. और उसके बाद हर रात मामा जी से भी चुद्ति थी. पर उसका कहना था की मामा का बहोट छोटा है और वो 5 मिनिट मे ही फ्री हो जाते है. इसलिए वो मेरा लंड मांगती है.

पर दोनो ममियो को फ्री मे चोदने मे मुझे कोई दिकाट नही थी. मैं जब चाहे उन दोनो मे से किसी की भी चूत मार सकता था. मैं ज़्यादा तक छोटी मामी को चोद्त था. क्योकि उनकी चूत कमाल की थी. और वो चुद्ति थी भी बहोत ही मस्त तरीके से.

एक दिन मैं बड़ी मामी को चोदने गया क्योकि उन्होने ही मुझे फोन करके बुलाया था. मैं उनके घर गया और उनको चोदने की तायारी करने लग गया. पहले उन्होने मुझसे हमेशा की तरह 30 मिनिट तक अपनी चूत को आछे से चटवाया. वैसे मामी की चूत को चाटने मे एक अलग ही मज़ा है.

क्योकि जब चिकनी चूत पर जीब लगती है तो मज़ा ही कमाल का आता है. उसके बाद वो खुद भी अपनी चूत को आछे से चॅट वती थी. वो मेरा सिर पकड़ कर अपनी चूत मे दबा लेती थी. और अपनी गॅंड को खुद ही उपर नीचे करके मुझसे अपनी चूत को आछे से चॅटवती थी.

चूत को चाटने और उसका 2 बार पानी निकालने के बाद अब चूत चोदने का मोका मिला. मामी की चूत मैं जब भी चोद्त था जबही वो मुझे एक दम टाइट मिलती थी. क्योकि वो अपनी चूत बहोट कम मरवती थी. इस लिए उनकी मस्त चिकनी चूत बहोत ही कमाल की थी.

मैने बड़ी मामी को खूब आछे से 2 घंटे तक चोदा. इन 2 घंटो मे मैने अपने लंड का पानी 2 बार और मामी की चूत का पानी 3 बार निकाला. तब जब कर मैं और मामी थोड़ी शांत हुई. कुछ देर बाद उन्होने मेरा लंड चूसना शुरू कर दिया. और मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया.

मैने इस बार मामी का मूह और गला जाम कर चोदा. और फिर उनके गले मे ही अपने लंड का सारा पानी निकल दिया. लंड का सारा अपनी पीने के बाद मामी ने मेरे लंड को छत कर पूरा सॉफ कर दिया. उसके बाद वो मेरी बाहों मे आगयइ.

कुछ देर रेस्ट करने के बाद मामी मेरी बाहों मे लेते हुए बोली. मेरे राजा मैने तेरे लंड के लिए एक बहोत कमाल की चूत को डुनधा है. वो तेरे लंड के लिए तड़प रही है. और मैं यकीन के साथ कह सकता हूँ. अगर तेरे लंड ने वो चूत देख ली ना तो तेरा लंड भी उसके बिना नही रह पाएगा.

फिर क्या था मैने मामी से उसके बारे मे पूछा. मामी ने मुझे अपने फोन मे एक वीडियो दिखाई उसमे एक जवान आंटी मामी की चूत को आचे से चॅट रही थी. देखने मे ही वो मुझे बहोत कमाल की लग रही थी. उसके बूब्स 34 के होंगे और सच उनको देख कर मेरे मूह मे पानी आ गया.

मैने मामी से उसके बारे मे पूछा तो उन्होने खा की ये उसके घर के पास मे नही आई है. इसका पति इसको चोद्त नही और अभी इसकी शादी को सिर्फ़ 5 साल हुए है और अभी तक कोई बचा भी नही है. इसलिए इसकी चूत बहोत ज़्यादा तड़प रही है. इसे तुम्हारे जेसा एक मस्त जवान लड़का और मस्त लंबा लंड चाहिए. जो तुम्हारे पास है मेरे राजा.

बस फिर क्या था मैने मामी से मीटिंग फिक्स करने को खा. मामी बोली तुम थोड़ा वेट करो एक बार ऐसे ही इससे मिल लो फिर मैं बात आगे चलती हूँ. मैने कहा ठीक है पर जल्दी काम करना अब मेरा लंड इसकी चूत मे जा कर ही चैन पाएगा.

Sex Stories हेल्लो दोस्तों मेरा नाम जय हैं और मैं गुजरात के राजकोट से हूँ. पहले मैं अपने बारें में आप लोगों को बता दूँ. मेरी उम्र २५ साल हैं और मेरा लंड साधे ६ इंच लम्बा हैं और मेरी लबाई १७८ सेंटीमीटर हैं. मैं भाभी और आंटी को चोदने में दिलचस्पी रखता हूँ. चलिए अब हम स्टोरी पर आते हैं और मैं आप को बता दूँ की मैं अपने बॉस की वाइफ निराली को एक बार चोद चूका हूँ. निराली खुद भी एक हॉट लुकिंग भाभी हैं जो दिखने में सेक्सी और हॉट हैं. उसकी बूब्स और गांड बड़ी बड़ी हैं तो आज मैं आप को बताऊंगा की कैसे मैंने निराली की गांड मारी.

आज से करीब ६ महीने पहले एक दिन १२ बजे अपने घर पर बैठा हुआ मोबाइल पर गेम खेल रहा था, तब निराली का कॉल आया. हम दोनों क्लोज थे और काफी बार वो कॉल करती थी मुझे. इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम मैंने निराली भाभी से पूछा की आज कैसे आप को हमारी याद आ गई? तो उसने बताया की वो आज बोर हो रही थी और उनके हसबंड भी बहार गए हुए थे और वो रात को ही वापस आनेवाले थे. तो मैंने कहा की मैं आप के लिए क्या कर सकता हूँ तो उसने बताया की आज कोई मूवी देखने जाते हैं तो मैंने कहा ठीक हैं.

दोपहर १ बजे को उसने हमारे लिए दो टिकिट बुक करवा दिए, करीब २ बजे मैं उनको लेने के लिए उनके घर प्र पहुंचा. जैसे ही उसने दरवाजा खोला मैं उनको देखते ही चौंक गया. उसने ब्लेक ड्रेस पहना हुआ था जिसमे वो बड़ी ही सेक्सी लग रही थी और उनके बूब्स बहार आने के लिए जैसे तडप रहे थे.फिर मैंने अपने आप को संभाला और अपना बाइक वहाँ पर छोड़ कर उनकी कार लेकर हम निकल गए. मूवी स्टार्ट होने से पहले हम वहां चले गए, थोड़ी देर बाद मूवी स्टार्ट हो गई तो हम देखने लगे. फिर अचानक मैंने महसूस किया की मेरे लंड के ऊपर हाथ फिर रहा हैं तो मैंने निराली की औ देखा और उनके बूब्स को अपने हाथ में ले के दबाने लगा. मेरा लंड पूरा टाईट हो चूका था. फिर उसने मेरे लंड को पेंट ससे बहार निकाला और हाथ से प्यार देने लगी उस को.

करीब १० मिनिट बाद मेरे लौड़े का पानी छटक गया और निराली भाभी के हाथ गंदे हो गए. उसने अपने रुमाल से मेरा लंड और अपने हाथ को साफ़ कर लिया. फिर हम मूवी ख़तम की और वापस लौटने लगे.

जैसे हमने उनके घर में एंट्री की मैंने दरवाजा लॉक किया और भाभी को किस करने लगा. उनके बूब्स को मैं ड्रेस के ऊपर से ही दबाने लगा. करीब १० मिनिट तक हमने एक दुसरे को किस किया और उसके बाद हम उनके बेडरूम में चले गए और मैंने उनका ड्रेस निकाल दिया. अब वो सिर्फ ब्रा और पेंटी में थी मैंने उनके बूब्स को जोर जोर दबाने लगा और चूसने लगा. फिर मैंने उनके ब्रा और पेंटी निकाल दी और उनकी बॉडी को चूसने लगा.

उसने भी मेरे कपडे निकाले और मेरे लंड को चूसने लगी. फिर हम ६९ पोजीशन में हो गए, उनकी चूत चाटने से मैं जन्नत की शेर करने लगता था. वो भी मेरे लंड को मस्ती से चाट रही थी. फिर मैंने उनकी चूत पर लंड रखा और जोर से शॉट मारा. वो चीखने लगी और बोलने लगी स्लो स्लो करो बहुत दर्द हो रहा हैं.

उनकी चीख पुरे रूम में गूंज रही थी, फिर जब वो नार्मल हुई तो मैंने फिर शॉट्स मारना चालू किया. अब वो भी मजा लेने लगी  थी और बोल रही थी चोदो मुझे तुम्हारी रंडी बनाओ मुझे ऐसे ही रोज चोदो, रोज चोदने आओ मुझे मैं तुम्हे बहुत मिस करती हूँ. ये सब सुनके मेरे मैं और भी जोश आने लगा तो मैंने जोर जोर से निराली भाभी की चूत में शॉट्स मारने लगा.

फिर मैंने उनको डौगी स्टाइल में चोदने के लिए उल्टा लिटाया और चूत में दे दिया. इस स्टाइल में लंड पूरा अन्दर घुसा तो उसे भी बहुत मस्त लगा. वो भी अपनी गांड को हिला हिला के चुद रही थी. मैं अपने हाथ से उनके बूब्स दबाने लगा और पीछे से उनकी चूत मैं लंड डालके उनकी चूत चोद रहा था और उनकी गांड पर जोर जोर से थप्पड़ मार रहा था. उनकी गांड लाल हो चुकी थी और वो आह्ह्ह्ह सीईह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह की अजीब आवाजें निकाल रही थी.

फिर मैंने उनको कहा की मुझे तुम्हारी गांड मारनी हैं तो वो चौंक गई और मना करने लगी. और उसने कहा की पीछे लंड लेने से दुखता हैं मुझे. तो मैंने उनको मनाया और बोला की मैं स्लो स्लो करुणता तो दर्द नहीं होगा. २ मिनिट की महनत के बाद आखिर वो गांड सेक्स के लिए मानी. 

फिर उसने लोशन निकाला और पहले मेरे लंड को चूसने लगी और लोशन मेरे लंड पर लगाया और मैंने थोडा लोशन ले के निराली भाभी की गांड पर लगा दिया. फिर मैंने उनकी गांड के होल पर अपना लंड रखा और लंड डालने लगा तो अन्दर जा रहा था तो मैंने जोर से शॉट मारा तो वो रो पड़ी मैं रुक गया.

जब वो नोर्मल हुई तो मैंने शॉट्स मारना स्टार्ट कर दिया. तो उनको भी कुछ देर में मजा आने लगा और वो आह आह ओह ओह की आवाजें निकाल रही थी और बोली की तुमने मेरी बरसो पुरानी ख्वाहिश को पूरा कर दिया हैं आज. ये सुन के मैं और भी जोश में आ गया और जोर जोर से गांड को चोदने लगा. करीब ७-८ मिनिट्स उनकी गांड मारने के बाद मैं थक गया. इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम उस वक्त वो २ बार अपना पानी छोड़ चुकी थी. मैं निचे लेट गया और वो मेरे ऊपर आकर मेरे लंड को अपने हाथ में लेकर सहलाने लगी. फिर लंड को चूत में ले लिया उसने और उछल उछल कर चुदवाने लगी. जब वो उछल रही थी तो उनके बूब्स आजाद पंछी के जैसे उड़ रहे थे.

उनके बूब्स को देखकर मेरे लंड में और भी जोर आ गया और मैं भी निचे से कस के शॉट्स लगाने लगा था. फिर जब मेरा पानी निकलने वाला था तो मैंने उनको बोला की मेरा पानी निकलेगा तो उसने कहा की अन्दर मत निकालना प्लीज़.

फिर वो मेरे ऊपर से निचे उतर आई और मेरे लंड को अपने मुहं में लेकर जोर जोर से चूसने लगी. करीब २ मिनिट में मेरे लंड से वीर्य की पिचकारी निकल पर और सब का सब वीर्य उसके मुह में और चहरे पर आ गया. फिर उसने अपने मुह पर पानी मारा और वीर्य साफ़ किया. मेरा लंड गन्दा हुआ था उसे उसने चूस के साफ़ किया और एक एक बूंद को लंड की नाली से निकाल ली. निराली भाभी की मस्त चूत और गांड की चुदाई कर के मुझे सुकून मिला! और मैं वही बिस्तर में न्यूड सो गया. भाभी भी मुझसे चिपक के सो गई. फिर मेरी नींद तब खुली जब २ घंटे के बाद भाभी ने नींद से जग के सीधे ही मेरे लंड को मुहं में ले लिया. भाभी के हसबंड के घर आने से पहले मैंने २ बार और सेक्स किया और अपने घर की और चल पड़ा!

Hindi sex हेलो दोस्तों, मेरा नाम अवि(नाम चेंज) हे. और में सूरत (गुजरात) का रहेने वाला हू. Stories  मेरे लंड का साइज़ ८ इंच का हे. और इतना बड़ा लंड किसी भी ओरत और लड़की को अच्छे से खुश कर सकता हे. में अभी मास्टर्स कर रहा हु. और में मास्टर्स की एग्जाम देने के लिए अहमदाबाद गया था. सो स्टोरी स्टार्ट…

में सुबह ५ बजे अहमदाबाद पहोचा. वहा पर मेरे एक फ्रेंड के साथ और उसके रिश्तेदार के घर चले गये. और में वही पर सो गया. हमारा एग्जाम ३ बजे था. सो हम १२:३० बजे घर से निकले. और एग्जाम ४:३० को ख़तम हो गया. हालाकी मेरा फ्रेंड वही पर रुकने वाला था. और में उसी दिन  सूरत वापस लोटने वाला था. तो मेने तय किया की में बस में रेलवे स्टेशन पर पहोचता हु. तो फिर में नजदीक के बस स्टैंड पर पहोचा तो देखा की वहा तो बहोत ही ट्राफिक थी. वहा पर मेने एक बड़ी लड़की को देखा. वो एज में मुझसे थोड़ी बड़ी थी. और में उसी बड़ी लड़की के पीछे खड़ा रह गया. इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम वो दिखने मे थोड़ी सावली थी. पर उसका फिगर बहोत ही बेहतरीन था. जैसे कोई न्यूली मेरीड भाभी की तरह. लिप्स मीडियम साइज़ के और रसीले. उसने लिपस्टिक बहोत अच्छी की थी खुशबूदार. बड़े बूब्स और पीछे निकली हुई बड़ी सी बेहतरीन गांड. ऐसे फिगर की लडकिया कम ही दिखने को मिलती हे. उसने मुलायम शर्ट और  जीन्स पहनी हुई थी. शर्ट में से उसके बूब्स को में साफ साफ देख सकता था.

फिर बस आई. बहोत भीड़ होने के कारन हम उस बस में नही चढ़ पाए. हम को दूसरी बस का वेट करना था. क्योकि वहा पर भीड़ बहोत ज्यादा थी. तो मेरा हाथ उसके कंधे पर था. और मुझे मजा भी आ रहा था. शायद वो भी मजा ले रही थी. और मेने फोग का डीओ लगाया था. तो सायद वो भीड़ में मेरे डियो की खुश्बू ले रही थी. और मेरी और देखकर उसने एक अजीब सी स्माइल की. फिर थोड़ी देर बाद बस आ गई. सो हम लोग उस बस में चड गये. वहा पर बहोत ज्यादा ही भीड़ थी. तो में उसके एकदम सामने खड़ा हो गया. और वो भी मेरे सामने खड़ी थी.  उसका सिर मेरे कंधे पर था. और वो डियो की बेहतरीन खुस्बु से मजे ले रही थी. और हमारी आंख एक दुसरे से मिली तो शर्मा गई और स्माइल की. मेने भी जवाब में उसके सामने स्माइल की. बट में भीड़ के कारन अपना सिर भी नही हिला पा रहा था. और वो मुझे हग करके खड़ी थी. क्यों की वो भी नही हिल पा रही थी. तो मेरा हाथ उसके बूब्स को जरासा टच कर रहे थे. मेरा तो हाथ टच होते ही मेरा लंड खड़ा हो गया. और उसको शायद टच भी करने लगा था.

फिर बस जब भी टर्न या ब्रेक लगाती तो में उसके बूब्स को टच करता था. फिर मेने अपना पूरा का पूरा हाथ उसके बूब्स पर रख दिया. और हलके से दबाने लगा. शायद उसने नोटिस भी किया. बट उसने कुछ किया नही. और ना स्माइल की. तो में जरा कंफ्यूज हो गया. बट भीड़ ज्यादा थी तो हम कर भी क्या सकते थे. इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम

फिर मेने अपना पूरा का पूरा हाथ उसके बड़े बूब्स पर रख दिया और सीधा दबाने लगा. फिर उसने मुझे देखा और देखती ही रह गई. इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम

फिर बस एक स्टेसन पर रुकी. तो और ज्यादा पैसेंजर चड़े. भीड़ बहोत ज्यादा ही बढ़ गई. लगा की भीड़ की वजसे हमें अलग होना पड़ेगा. तो में पीछे चला गया. बट वो भी मेरे आगे आकर खड़ी हो गई. उसने टाइट से अपनी गांड को मेरे लंड को दबा दिया.

और वो बिना कोई वजह के अपनी गांड को मेरे लंड पर हिलाने लगी. भीड़ की वजह से उसने अपने हाथ उसके आगे खड़ी लड़की के कंधे पर रख दिया. और मेने मेरा हाथ उसके हाथ के निचे से उसके बूब्स पर रख दिए. और अपना मुह उसकी गर्दन पर रख दिया. में फिर से हलके से उसके बूब्स दबाने लगा. और उसकी और देखने लगा. उसने नोटिस किया और साथ में एक हलकी सी स्माइल भी की. उसकी ये हरकत से मुझे परमिशन मिल गई. तो में फिर जोर जोर से उसके बड़े बूब्स को दबाने लगा. वह हलकी सी आह्ह्हेई …..ले रही थी. और अपनी गांड हिलाकर मेरे लंड को मसल रही थी.

मेने अपना एक हाथ नीचे करके उसकी शर्ट के अन्दर से अपना हाथ डाल कर उसे जोर से अपनी और खीच लिया. और वो पूरी की पूरी मेरी बाहो में आ गई. इसकी वजह से उसकी गर्दन पर मेरा एक किस हो गया. और साथ में बूब्स को भी बहोत जोर से दबाया. तो उसके मुह से हल्किसी आवाज निकल गई आहाहाह हाहाहा……..

फिर मेने अपना एक हाथ उसकी जीन्स के ऊपर से ही उसकी चूत के ऊपर घुमाने लगा. उसे और भी मजा आने लगा.

फिर उसने अपने मोबाईल में कोल आने का नाटक किया. और अपना हाथ उसकी जेब में डाला फोन निकला और देखकर वापस रखा. हाथ पीछे करके मेरे लंड को मेरे जीन्स के ऊपर से ही रगड़ ने लगी. मुझे तो जेसे करंट ही लग गया,उसने अपने हाथ से मेरी जीन्स के ऊपर से ही मेरा लंड मेरी निकर से बहार निकाला और दबाने लगी. जब मेरा लंड मेरी निकर से बहार निकला तो फिर उसने हाथ में पकड़ा.( जीन्स के अन्दर ही) फिर वो शोक हो गई. सायद उसे लगा की ये लंड बहोत ही बड़ा हे.

फिर वो लंड को रगड़ रही थी. और में अपने हाथ से उसके बूब्स को दबा रहा था. फिर वो हलके से सिस्कारिया भर रही थी. मेने अपना एक हाथ उसके शर्ट के उंदर से डाल कर उसकी ब्रा हटा के उसके निपल को दबाने लगा. वो बहोत उत्तेजित हो गई थी. और तेजी से मेरा लंड दबाने लगी. १२ मिनिट ऐसे ही चलता रहा. फिर मेने पीछे से जोर से उसकी गर्दन पर किस किया. और उसे पूरी की पूरी तरह से अपनी बहो में ले लिया. वो शर्मा गई. एंड हँसने लगी और मजे लेने लगी. इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम

फिर हमारान स्टेशन आ गया. हम साथ में ही बस से निचे उतर गये. वो अपनी सहेलियों के साथ आई हुई थी. फिर उसने जल्दी से आपना मोबाईल निकाला. में समज गया. मेने जल्दी से उसे अपने मोबाईल नम्बर  दिया. और उसने कंफर्म किया. और साथ में उसने जल्दी से अपना मोबाईल नम्बर दिया. और वो २-३ बार अपना मोबाईल नम्बर बोली.

फिर वो अपनी फ्रेंड के साथ चली गई. और मुझे एक सेक्सी स्माइल दी. और धीरे से हल्का हाथ उठाके उसने मुझे बाय कहा. और वो अपनी फ्रेंड के पीछे पीछे चली गई. और स्माइल करति करती मुझे ही देख रही थी. में एक जगह पर खड़ा हो गया. मुझे तो समज ही नही आ रहा था की में क्या करू.

फिर मुझे याद आया की मेरा लंड अभी भी मेरी जीन्स में से बहोत ज्यादा दिख रहा हे. मेने अपना हाथ अपनी जेब में डाल कर अपने लंड को सेट किया. और अपनी ट्रेन के लिए निकला. करीब रात को १०:१५ उसका कोल आया. मुझे अभी तक उसका नंबर याद था.

फिर उसने कहा पहचाना मेने कहा की आपको कैसे भूल सकता हु. आप एक सपनो की रानी बनकर मेरी जिन्दगी में जो आये हो. और उसने अपना नाम बताया. उसका नाम सपना (नाम चेंज)था. और हम करीब ११:३० तक बात करते रहे. और मे फिर घर पहोचने वाला था तो मेने कहा अब में फोन रखता हु मेरा घर आ गया हे.

तो उसने बताया की आप बहोत अच्छे हो. आप बहोत ही अच्छे से बात करते हो. एकदम फनी हो आप. मुझे आपसे प्यार हो  गया हे. मेने कहा आप मुझे आप आप क्यों कह रहे हो  में शायद आपसे छोटा हु. आप मुझे तुम बुलाओ. फिर उसने कहा ठीक हे. चलो में बादमे बात करता हु. ऐसा कहके हमने फोन रख दिया.

फिर मेने रात को व्हाट्सआप पर उसके साथ चेटिंग की. और वो मेरी दीवानी हो गई थी. हम रोज रोज बात और चेट करने लगे. और हम सेक्सी बाते भी करने लगे थे. फिर उसने कहा….

सपना : तुम यहाँ मेरे घर पर आओ न.

में  : अरे पगली कैसे आउ. कोई रीजन भी तो मिलना चाहिए ना घर से निकल ने के लिए?

सपना : तुम बाते बनाने में बड़े ही एक्सपर्ट हो आ जाओ कुछ दिन के लिए.

में   : वहाहह वाहह्वाहा…. में वहा आके कहा रुकुंगा? मेरा वहा कोई भी घर नही हे. एक काम करो तुम ही आ जाओ यहाँ पर हमारा एक फार्म हाउस हे. हम २-३ दिन के लिए वहा रह जायेंगे.

सपना : अरे ऐ आईडिया हे…. मेरे मम्मी पापा कुछ दिनों के लिए बहार जा रहे हे. एक वीक के बाद. तुम तब तक कोई रिजन सोच लो. और यहाँ पर आ जाओ. मेरे ही घर पर मेरे पडोसी भी बहार गये हुए हे. हम साथ में रहेंगे.

में  : ठीक हे में कुछ सोचता हु.

सपना : उसमे सोच ने का क्या…..? तुम आ जाओ बस…तुम यहाँ पर कोई भी टेंशन मत लेना. में सब अरेंज कर दूंगी.

में   : ठीक हे. अभी के लिए एक सेक्सी वाली पिक भेज दो मुझे.

सपना ने फिर एक पिक भेजी और में मुठ मार ली. बाद में मेने प्लान बनाया. उसके घर जाने के लिए. और घर पे बोल दिया की मुझे वेरिफिकेशन के लिए जाना हे.

और एक वीक के बाद में फिर से अहमदाबाद पहोच गया. वो बाइक लेके मुझे रिसीव करने आई थी. मेने सीधा ही उसे पूछ लिया की अगर तुमारे पास बाइक हे फिर उस दिन क्यों ट्रावल किया. तो उसने बताया की वो उस दिन उसकी सभी फ्रेंड के लिए बस में आई और उसने कहा “तुमसे मिलना जो था इसी लिए” और वो जोर से हसने लगी…..

फिर हम चल पड़े उसके घर की ओर… में जब उसके घर पहोचा तो में देखता ही रह गया. बहोत ही बडा घर था उसका. उसने बताया की आज उसने सरे नोकर को छुटी दे दी हे. फिर उसने मुझे फ्रेश होने को कहा. में सीधा उसको किस करने लगा. तो उसने बोला की में कहा भागी चली जा रही हु. पहले फ्रेश तो हो जाओ. पर मुझे पता था की उसके अन्दर मुझसे भी ज्यादा आग लगी हे. फिर में नहाने चला गया. थोड़ी देर बाद वो टावर लेकर खुद भी बाथरूम में आ गई.

वो अपने कपडे चेंज करने आई हुई थी. क्या मस्त लग रही थी. उसने टी शर्ट और नीचे लेगिंगस जैसा स्मूथ सेक्सी लेंघा पहना हुआ था. वो भी साथ में नाहने लगी. उसका बदन शोवर में भीगने लगा. जिसकी वजह से वो और भी सेक्सी लगने लगी. और एक बात बता दू दोस्तों अगर कोई लड़की या भाभी या आंटी हलकी सी लिपस्टिक लगाकर पानी के सोवर में भीग जाये तो वो बहोत ही ज्यादा सेक्सी लगती हे. हम साथ में नहाने लगे. और वो मजे से मेरे बदन को हाथ लगा रही थी. में बस उसकी हरकतों को ही देखता रह गया.

और फिर उसने अपने भीगे रसीले लिप्स मेरे होठ पर रख दिए. और न जाने उसे क्या हो गया था…? वो पागलो की तरह मुझे किस करने लगी. और अपनी पूरी ताकत से मुझे अपनी और खीचने लगी. और हम दो जिस्म एक जान बन गये. फिर हम नहाकर बहार आये. और भीगे भीगे ही एकदूसरे को देखने लगे. इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम

वो बहोत ही खुश दिखाई दे रही थी. और मेरे प्यार के लिए तड़प रही थी. फिर हम उसीके रूम में चले गये. मेने उसको किस किया. और साथ में उसका टी शर्ट भी उतार दिया. हम खड़े ही थे. हम जस्ट अभी ही बाथरूम से आये थे.

लेकिन फिर भी वो गरम (हॉट) लग रही थी. उसके गरम जिस्म को छूके मुझे जन्नत का अहेसास होने लगा. फिर में उसके ब्रा के उपर से ही उसके बूब्स को दबाने लगा. और वो मौनिंग करने लगी. और मजे लेने लगी. फिर मेने उसकी ब्रा को निकल दिया. और खड़े खड़े ही उसके बूब्स को चूसने लगा. उसे बहोत ही मजा आ रहा था. उसने पागलो की तरह मेरे मुह को उसके बूब्स पर दबाने लगी. और कहने लगी. और जोर से चुसो. और जोर जोर से चुसो…. चुस्स्सो और जोर से चुस्स्सो……आआआ हाहाहा आआआअ.

फिर उसने मेरे चड्डी के ऊपर से ही मेरे लंड को रगड़ने लगी. मुझे तो जन्नत का अहेसास हो रहा था. फिर उसने मेरे चड्डी निकाल दिए. और मेने उसकी लेगिंस और पेंटी भी निकल दी. हम दोनों पूरी तरह से नंगे हो चुके थे. मेने पहली बार किसी को नंगा देखा था. वो मुझे किस करने लगी. और मुझे अपनी और खीचने लगी. मेरे लंड उसके पैरो की जांघ के बिच मे मसला जा रहा था.

फिर मेने उसके बूब्स को चुसना शुरू कर दिया. और उसके निप्पल को प्यार से चूसने लगा. उसे बहोत ही मजा आ रहा था. मेने करीब ५ मिनिट तक उसके बूब्स को प्यार से चूसा. और अपने हाथो से दबाने लगा.

फिर मेने उसे बेड पर लेटा दिया. और उसकी कमर पर किस करने लगा. उसे कमर पर छुते ही वो बहोत गरम हो गई. और उसके मुह से आआआ हाहाहा आआआ की आवाजे निकल ने लगी. फिर मेने नीचे उसकी चूत को देखा. एकदम क्लीन थी उसकी चूत. में उसे चाटने लगा. और वो बहोत ज्यादा गर्म हो गई. और मेरा मुह उसकी चूत में दबाने लगी.

उसने बताया की वो जन्नत में चली गई हे. वो पुरे मजे से अपनी चूत को चुसवा रही थी. और मेरे हेयर पर हाथ रख कर मेरे माथे को जोर जोर से अपनी चूत में दबा रही थी.

फिर वो जड़ गई. और फिर खड़ी हुई और मुझे लेटा दिया. और मेरे लंड को अपने सॉफ्ट हाथो से मसल ने लगी. जो की वो पहले से ही खड़ा था. उसने बताया की मेरा लंड बहोत ज्यादा ही बड़ा हे. जैसे मूवी ने दीखते हे उतना ही बड़ा हे. फिर उसने मेरे लंड को अपने मुह में लिया. और जोर जोर से चूसने लगी.

जैसे ही मेरा लंड उसके मुह में गया में तो जन्नत में पहोच गया. वो बड़े ही आराम से और प्यार से मेरे लंड को चुसे जा रही थी. और साथ में मजे ले रही थी.

फिर वो बहोत ही गर्म हो गई और उसने कहा की अब डाल दो अपना लंड मेरी प्यासी चूत में. में साथ मे कंडोम लेके ही आया था. मेने कंडोम लगाया. और उसकी चूत पर अपना लंड रगडा. उसे मजा भी आ रहा था. और वो कंट्रोल के बहार चली गई थी. पर उसने कहा की बहोत बड़ा लंड हे जान, नही जायेगा पूरा और मुझे बहोत ही दर्द होगा.

फिर मेने बड़े प्यार से उसकी चूत पर आयल लगाया. और अपना खड़ा लंड उसकी चूत पर रगडा. वो तड़पने लगी और मजे लेने लगी. मेने जान बुचकर अपना लंड अंदर नही डाला. और उसे तडपाने लगा. फिर उसने कहा जान अब कितना तडपाओ गे डाल दोना. और साथ में मोंन भी कर रही थी.

फिर मेने हलके से अपना लंड उसकी चूत में डाला. पर उसकी चूत बहोत टाइट थी. मेरा लंड गया ही नही. और वो आआआ हाहाहा आआआ हाहाहा की आवाजे निकाल रही थी. फिर मेने एक जोर से धका लगाया. और मेरा आधा लंड उसकी चूत में चला गया. और उसकी चीख जोर से नीकल गई. आआआ हाहाहा उफफफा आआआ…..शायद उसको बहोत दर्द हुआ था. मुझे लगा की ये क्या हुआ.

फिर में उसको किस करने लगा. और बूब्स को चूसने लगा. फिर थोड़ी देर बाद वो नोर्मल हो गई. फिर मेने धक्के लगाना शुरू कर दिया. वो आआआआ हहाहहहहह्हा कम ओन यार अम्म्ह उफौफौफफफा आआआआअह्ह ह्हह्ह ह्हह्हह हाहाहा ….. की आवाज निकल ने लगी थी. और बाद मे बोल रही थी और जोर से धका लगाओ. में तेजी से उसको चोदे जा रहा था.

वो ५ मिनिट में जड गई. बट मेरा अभी खतम नही हुआ था. में उसे धके लगा रहा था. और वो मजे ले रही थी. फिर हमने पोजीशन चेंज किया. और उसे मेने घोड़ी (डोगी स्टाइल) बना दिया. और में पीछे से लंड डालने लगा.

और उसे बहोत ही मजा आ रहा था. अब तो वो स्माइल भी कर रही थी. और साथ में और अन्दर जोर से आआआअ हहहहहह्हा हाहाहा आआआआ हाहाहा आआआआ उम्म्म  जोर से बहोत ज्यादा ये जान ये बहोत बड़ा….याआअ उफफा मम्मी यीईईए अहहहहः आआआआअ जैसे आवाज निकाल रही थी.

तकरीबन १५ या २० मिनट के बाद वो फिर से जड गई. और साथ में भी जड गया. जब वो जड़ती हे तब उसका बदन एकदम लूज ओ जाता हे. और वो पूरी की पुरी मेरी बाहों में आ जाती हे.

फिर हम उठके फिरसे नहाने चले गये. और वहा पर हमने फिर से सेक्स किया, बाद में हम ने बहार आ कर कपडे पहने और खाना खाया.

उसके बाद में थोडा सो गया. और ज्ब्मे उठा तो वो मेरे सामने बेठी बेठी मुझे देख रही थी. और स्माइल कर रही थी. और वो फिर से एक राउंड के लिए तयार थी. सायद वो मेरे लंड की प्यासी हो गई थी. फिर हम ने एक बेहतरीन सेक्स राउंड किया. और फिर हमने बहार घुमने का देसिड किया.

फिर हम घुमने के बाद एक मूवी देखने गये. और वहा पर बहोत मजा किया. और ओरल सेक्स किया. वो मेरे लंड को छोड़ ही नही रही थी.

बस वो हमेशा कोई न कोई बहाने से मेरे  लंड को टच करती. और बार बार मुझे एक ही बात बोलती की जान तुम्हारा लंड तो बहोत बड़ा हे. मुझे बहोत मजा आता हे. इसे टच करने में.

मेने कहा ये अब तुम्हारा ही हे. जब चाहो बोलना तुम्हारे लिए हाजिर हो जाएगा. फिर हम रात को १ बजे घर आये. और मेने फिर से कंडोम का बॉक्स ले लिया. और पूरी रत सेक्स का मजा लिया.

करीब ४ बार हमने सेक्स किया और बहोत मजा किया.

फिर हम एकदम नंगे ही सो गये और मेरा हाथ उसके बूब्स पर था और वह भी मेरा लड़ पकड़ कर ही सो गयी. रात को अचानक  वह मेरे लंड को चूसने लगी में जाग गया और मेरा लंड फिरसे खड़ा हो गया और ह्म्मने एक बार और सेक्स किया और हम सीधे दोपहर को ही उठे और मेने लंच करने के बाद देखा की मेरी ट्रेन कब की हे.

फिर हम बहार गये और घूम कर के वापस आ गये. क्योंकि मेरी ट्रेन रात को ८ बजे की थी तो हम लोग ६ बजे ही घर पर आ गये बहार डिनर कर के. घर आकार उसके कहा की चलो सेक्स करते हे. और वह सीधा मेरा जींस निकलकर मेरा लंड चूसने लगी. शायद उसे चुसना बहोत ही ज्यादा पसंद था. इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम

फिर हमने क जोरदार सेक्स किया और वह बहोत ही खुश हो गयी. वह मुझे जाने के लिए मना कर रही थी पर मुझे तो जाना ही था.

फिर में ८ बजे की ट्रेन से निकला और वह भी मेरे साथ आई मुझे ड्रोप करने के लिए और उसने मुझे सब के सामने किस कर लिया. और फिर जाते जाते मारे लंड को कस के पकड़कर दबा दिया. में उसे स्माइल करके उसे बाय कह कर वहा से निकल गया. वह तो अब मेरे लंड की दीवानी हो गयी थी.

हेलो दोस्तो, केसे हो आप सब! आज कल के समय मे सेक्स के इलावा कुछ ओर नही है. हर जगह बस सेक्स का भूत सवार है. हर जगह कोई लड़की देखी नही की बस चोदने के ख्याल मन मे उमड़ने लग जाते है. और ये ग़लत भी नही है और काई जगह ग़लत भी है.

ग़लत इसलिए नही है की आज कल हमारा टाइम ही ऐसा है जिससे हम खुद को रोक नही पाते है. और दूसरा ग़लत इसलिए है क्योकि इसके चलते काफ़ी रेप केसस आ रहे थे. जिससे आने वाले समये मे लड़कियों को फिर से डर डर के जीना पड़ेगा.

दोस्तो, ये तो थी सेक्स के बारे बात. अब मैं आपको अपनी एक सच्ची घटना बताने जा रा हूँ. जो की बहोत मस्त है और हर लड़के की दिल की चाहत होती है. वैसे तो चाहहते बहोत सारी होती है पर इन सारी चाहततो मे से सिर्फ़ और सिर्फ़ सेक्स की चाहत ही पूरी होती है.
अब मैं आपका ज़्यादा समये ना लेते हुए सीधा कहानी पर आता हूँ. पर उससे पहले मैं आपको अपने बारे मे बता देता हूँ. मेरा नाम रवि है और मेरी हाइट 6 फुट है. मैं दिखने मे काफ़ी स्मार्ट हूँ और मेरे लंड का साइज़ भी 8 इंच लंबा है.

वैसे दोस्तो मेरी शादी हो रखी है. और मेरी शादी को हुए भी 2 साल हो चुके है. पर मेरी बीवी इतनी सुंदर नही है की मेरा मान उसे देखते ही पागल हो जाए.

बेशक मेरी शादी को अभी 2 साल ही हुए है पर मेरा अभी भी उसे छोड़ने का बिल्कुल मान नही करता है. वो है ही दिखने मे ऐसी की मेरा लंड खड़ा ही नही हो पता है. मैने उससे शादी भी प्रेशर मे आ कर करी थी वरना आज मेरी बीवी मैं आपको अपने काम के बारे मे बताना तो भूल ही गया. आक्च्युयली मैं एक कॉलेज मे प्रोफेसर हूँ. और बच्चों को पड़ाता हूँ. मेरी पढ़ाई चीज सबको अच्छे से समज आता है. और अब तक मेरा कॉलेज मे स्टडी के मॅटर मे यही रिज़ल्ट रा है की आज तक मेरा रेकॉर्ड सबसे उपर है.

कॉलेज मे एक क्लास मे एक बहोत ही सुंदर लड़की है. जिसका नाम सविता है. और वो दिखने मे इतनी ज़्यादा खूबसूरत है की हर कोई लड़का उस पर मरता है. वो ब्यूटी कॉंपिटेशन मे 3 बार जीत चुकी है. और उसका हुसान और फिगर देख कर कोई ये नही कह सकता की मैं इसे चोदना नही चाहता हूँ.

मैं भी बीवी से तो अपनी प्यास नही भुजा सका इसलिए मैने सविता को चोदने का प्लान बनाया. सविता 20 साल की है और खूबसूरती मे तो किसी अप्सरा से कम नही है. एक दम सुंदर और सेक्सी होती.

मैं जब उसे पड़ाता तो जान बुज कर पेन नीचे गिरा देता जिसे वो उठती तो मैं उसके बूब्स की एक नज़र मार लेता. वैसे सविता पड़ायी मे कमजोर थी तो मैने अपना हुकुम का इक्का यही पर चलाने का सोचा.

मैने सबको कह दिया की जो जिस मे वीक है उसका मैं एग्ज़ॅम लूँगा. सविता खुद को फेल नही होता देख सकती थी. इसलिए उसने प्लान बनाया की क्यो ना एग्ज़ॅम की ही चोरी करलिया जाए.

सविता 4 बजे मेरे कॅबिन मे आ कर फोटोस लेने लग गई. तब मैं बाहर था पर जेसे ही वो पीछे मूडी तो वो मुझे देख कर घबरा गई.

मैं – तुम यही सब करने आती हो. रूको प्रिन्सिपल को दिखता हूँ ये वीडियो क्लिप.

सविता – नही सर प्लीज़.
मैं– ठीक है पर तुम्हे मुझे खुद को देना पड़ेगा.

ये सुन वो दरवाजे तक गई है पर वापिस चली भी आई .

मेरा लंड पूरा खड़ा हो चुका था. वो अब पैंट मे भी नही समा रा था. जेसे ही सविता मेरे पास आई मैने झट से उसकी कमर मे हाथ डाला और उससे अपनी बाहो मे जाकड़ लिया. सविता पूरी तरह से काँप रही थी. क्योकि उसकी ये नाज़ुक सी जवानी अब लूटने वाली थी.

तभी मैने उसे घुमा दिया और मै उसकी कमर से चिपक गया. अब मेर दोनो हाथ सविता के मोटे मुलायम बूब्स पर थे. मै ज़ोर ज़ोर से उसके बूब्स को मसलने लग गया. सविता के मूह से मस्ती से भारी हुई आहह आ की आवाज़े आने लग गई.
तभी मैने उसे पलटा दिया और उसके होंठो पर अपने होंठ रख दिए. और ज़ोर ज़ोर से उसके गुलाबी होंठो को चूसने लग गया. मैने उसके लिप्स की सारी लिपस्टिक चूस चूस कर निकल दी.

अब मैने अपनी जीब सविता के मुह मे डाली और अंदर से उसके मुह को चूसने लग गया. कुछ ही देर मे जैसे ही सविता की जीब थोड़ी सी बाहर आई तो मैने झट से उसकी जीब पकड़ ली. और अपने मुह मे डाल कर ज़ोर ज़ोर से उसकी जीब का रस्स पीने लग गया..
अब मेरे हाथ धीरे धीरे उसके सारे कपड़े उतार रहे थे. सबसे पहले मैने उसकी चुनी उतार साइड मे फेंक दी. और फिर उसको एक टेबल पर बिठा दिया और फिर उसका कुर्ता उतार दिया. और फिर उसकी सलवार का नडा खोल कर उसकी सलवार भी उतार दी.

अब मेरे सामने सेक्स की देवी बैठी हुई थी. जोकि सिर्फ़ और सिर्फ़ ब्रा और पैंटी मे थी. उसकी आँखों मे एक अलग सी चमक आ गई. उसने फिर पीछे हाथ डाल कर अपनी ब्रा खोल दी. और उसके दोनो बूब्स उछाल कर मेरे सामने आ गये. गोरे गोरे बूब्स देख कर मै पागल सा हो गया.

मै ज़ोर ज़ोर से उसके दोनो बूब्स बारी बारी से चूसने लग गया. उसके निप्लेस को अपने दातो से काट रा था. फिर मैने उसकी पैंटी भी उतार और उसकी दोनो टाँगे खोल दी.
मै नीचे ज़मीन पर बैठ गया और अपना मुह उसकी चूत पर रख कर उसकी चूत चाटने लग गया. मेरी जीब जेसे ही सविता की गुलाबी चूत के अंदर गई. तभी सविता का पूरा जिस्म कांप उठा
और कुछ ही देर मे सविता की चूत ने, अपनी छूट मे से ढेर सारा पानी निकल कर मेर मुह पर छोड दिया.

हाय एवेरिवन मेरा नाम लकी है. मे हरयाणा का रहने वाला हू. मेरी हाइट 5 फुट 9 इंच है दिखने मे बहुत ही सुन्दर अंड सेक्सी हू.
तो मे अब स्टोरी पे आता हू मेरी एक भाबी है जो मेरे चाचा के लड़के की वाइफ है उनका नाम स्वेता है. वो दिखने मे बहुत ही सेक्सी है अंड 5फुट6 इंच की लंबी हाइट है बहुत ही सुन्दर आंड सेक्सी बॉडी है.

एक बार उनका एग्ज़ॅम आया हुआ था चंडीगड़ का. वो शाम की शिफ्ट मे था. मेरा भाई उनके साथ मे नही जा सकते थे किसी इंपॉर्टेंट कम की वजह से तो भाई ने मुझे मेरी भाबी के साथ जाने को कहा..
ये सुनते ही मेरा मान अंदर ही अंदर बहुत खुश हुआ . मैने फॅट से हा कर दी भाबी के साथ जाने के लिए.

हम नेक्स्ट दे सुबहा 8 ब्जे घर से चल दिए गाड़ी मे .

पहले तो भाबी जी पीछे बैठ गई थी बट थोड़ी दूर जाने के बाद मैने कोल्ड ड्रिंक लेने के लिए गाड़ी रोकी तो भाबी जी आगे आके बैठ गई .मे काफ़ी सरमा रा था बात करने मे तो भाबी बोली की तू चुप चाप क्यू है भाबी बोली की क्यू तेरी जी. फ नाराज़ हो गई क्या जो ऐसे फेस बना रखा है.
तो मैने कहा की भाबी मेरी कोई गफ़ नही है. तो भाबी बोली क्यु नही बनाई तो मैने खा की कोई बन ही नही रही है. मै गाड़ी तेज चला रा था तो भाबी बोली की देवर जी गाड़ी आराम से चलाओ ना इतनी भी क्या जल्दी है.

थोड़ी देर बाद बारिस सुरू हो गई .मोसम बहुत ही सेक्सी हो गया. रास्ते मे ह्मने बहुत सी बाते की फिर हम चंडीगड़ पहुच गये यो भाबी का एग्ज़ॅम स्टार्ट हो गया 4 ब्जे. 2 अवर्स का पेपर था तो वो एग्ज़ॅम देने के बाद बाहर आ गई तो काफ़ी शाम हो चुकी थी.

बारिस काफ़ी तेज आ रही थी तो मैने भाबी को आज रात चंडीगड़ मे ही रुकने के लिए ही बोला तो भाबी बोली की अपने भाई से पूछ लो तुम. तो आज हम यही रुक जाएगए और खूब मोज मस्ती करेगे.
तो मैने भाई को फ़ोन किया और बता दिया की भाई बारिस तेज हो रही है अंड मेरी त्बीयत भी थोड़ी खराब है अगर आप कहो तो मे और भाबी आज रात यही रुक जाएंगे और सुबहा आ जाएंगे यदि आपको कोई प्रबलं ना हो तो.

पहले तो भाई ने माना किया फिर मान गया. मै बहुत ही खुश हुआ की रात भाबी के साथ बिताने का मौका मिलेगा ये सोचकर मेरा लंड तो तभी खड़ा हो गया और भाभी भी खुश हो गई थी.
फिर मैने भाबी से पूछा की अपने सूखना लेक देखी है क्या तो भाभी बोली की मुझे आज सारी चंडीगड़ देखनी है अच्छे से तो मे उनको पहले सूखना लेक ले गया. वाहा काफ़ी कपल्स आए हुए थे सब हाथो मे हाथ लिए गुम थे थे तो मैने भाबी से बोला की भाबी आपको कोई प्रबलं ना हो तो क्या हम वाइफ हज़्बेंड की जैसे गुम सकते है नही तो सबको थोड़ा ऑड लगेगा.

तो भाबी ब मान गई, उन्होने मेरे हाथ मे हाथ डाल लिया और हम बारिस मे ही घूमने लगे. हम दोनो बुरी तरह बिघ चुके थे गीली होने के कर्ण भाबी की ब्रा साफ साफ दिखाई दे रही थी. मै उनको घूर रा था तो भाबी ने देखा की मे उनको घूर रा हू तो वो बोली क्या देख रहे हो देवर जी पहले कभी भीघी हुई लड़की नही देखी क्या. फिर मैने स्माइल दी ओर आगे चल दिए.
थोड़ी देर बाद हम लेक से सेकटर 17 मे चले गये शॉपिंग करने तो भाबी ने ब्रा और कुछ अंडरगार्मेंट्स शॉप करने थे तो वो देखने लगी तो मे एक साइड खड़ा हो गया फिर भाबी बोली यार आओ ना मेरी हेल्प कर दो कलर चूज़ करने मे मैने ब्लॅक न्ड रेड कलर की ट्रॅन्स्परेंट ब्रा न्ड पॅंटीस चूज़ की उन्होने ले ली न्ड बोली की तेरी चाय्स बदी सेक्सी है.

फिर हमने एक होटेल मे रूम ले लिया न्ड मै फ्रेश होने चला गया मे जल्दी बाहर आ गया न्ड फिर भाबी जी भी फ्रेश होने चली गई न्ड नाइटी पहन के आ गई जैसे ही वो बाहर आई मेरे तो होश उड़ गये उनकी नाइटी सिर्फ़ जंगो तक ही थी वाउ यार इतनी साफ मिल्की सिल्की जंगे देख कर मै तो पगल हो गया.
मैने भाबी से बोला की भाबी आपको कोई प्रबलं ना हो तो मे ड्रिंक कर सकता हू क्या . भाबी बोली कमीणे इसमे भी कोई पूछने की बात है चल आज तो दोनो ड्रिंक करेगे.
बट मै बोला की भाबी आप भी तो उन्होने हल्के से सेक्सी अंदाज मे मेरे गाल पे थप्पड़ मारा ओर बोली तू मेरे दोस्त है समझा आज खूब मस्ती करेगे चल पेग बना दोनो के लिए. फिर मैने पेग बना लिए और कोल्ड्रींक डाल के भाबी को दे दिया . मैने भी ले लिया फिर जल्दी ही एक एक पेग ओर लगा लिया.

फिर मैने सिग्रेट लगा ली भाबी ने भी सुत्टा लगा लिया . सिगरेतटे पीते ही एक दूं से नशा चॅड गया. मै बोला यार भाबी आप भी गंदी हो अपने देवर का कोई ख़याल नही रखती हो. तो भाबी बोली साले कमीणे कितने दिन से तेरेको लाइन दे रही थी गंडवे तू सम्झ ही नि रा था. ये सुन कर मे सॉक्ड हो गया और बोला सची मे.
भाबी बोली यस माइ स्वीतू. तो मैने कहा भाबी आप क्या चाहती हो वो बोली की तू मेरा ब्फ ब्नेगा क्या. ये सुनकर मे खुशी के मारे दो पेग ओर लगा गया मई बोला जरूर बनउगा भाबी.
भाबी को फुल नशा चॅड चुका था तो मैने बोला की यार डार्लिंग जो ब्रा और पॅंटीस लेके आई हो वो ट्राइ करके देखो ना. तो बोलू जो हुकुम मेरे राजा वो बाथरूम मे गई अंड रेड कलर की ब्रा न्ड पॅंटीस पहन के आ गई जैसे ही बाहर आई मे तो सॉक्ड हो गया इतनी मिल्की बॉडी वाउ यार वो मेरे पास आ गई.

हाय फ्रेंड्स मेरा नाम योगेश है और मै 20 साल का हूँ और मै देल्ही मे रहता हू. मै दिखने मे काफ़ी इनोसेंट हू. तो ये कहानी मेरी पहली कहानी है

बात अभी 2 महीने पहले की है मेरे एक फ्रेंड ने बताया की उसकी कोई जानने वाले है उनकी लड़की को ट्यूइशन पढ़ना है (मेरे फ्रेंड्स मे मेरी बहुत अच्छी इमेज है) मैने ओके कह दिया. मैने भी सोचा की कुछ इनकम ही हो जाएगी.
अगले दिन मै उस लड़की के घर गया तो उसकी मम्मी ने डोर खोला. उसकी मम्मी की एज लगभग 40 के आस पास होगी लेकिन वो किसी जवान लड़की कम हॉट नही थी.

तो उसकी मम्मी ने पूछा कौन हो आप तो मैने बताया की अर्जुन ने भेजा है ट्यूइशन के लिए. ये सुनकर वो चौक गई की तुम पढ़योगे. मैने कहा आंटी एज पर मत जाइए नालेज देखिए .तो वो हँसने लगी और बोली ओक अंदर आ जाओ.

फिर हम बैठ कर बातें करने लगे तभी अंदर से निशा आई (मेरी स्टूडेंट) वो शायद नहा के आई थी. अब मै आपको निशा के बारे मे बता देता हू उसकी एज 18 है, छोटे छोटे बूब्स और पीछे से उठी हुई गांद. एक बार कोई देख ले तो उसका लॅंड वही खड़ा वो जाए. वो ज़्यादा गोरी तो नही है पर फिर बी एक दम माल लगती है.
तो वो जस्ट नहा के ही निकली थी और एक टी-शर्ट और शॉर्ट्स मे थी क्या बताऊँ कितनी मस्त लग रही थी मन तो कर रा था की यही चोद दू इसे. मैने पहली बार ही उसको देख के सोचा था की इसको तो कैसे भी चोदना ही है.

निशा के पापा बिज़्नेस के सिलसिले मे ज़्यादातर बाहर ही रहते है महीने मे एक दो बार ही आ पाते है.

तो उस दिन मै ट्यूइशन की बात करके वापस घर आ गया और घर आकर निशा के नाम की मूठ मारी.
उसके 3 दिन बाद से मै निशा को पढ़ने जाने लगा ,हम एक टेबल पर पढ़ते थे , एक दिन ग़लती से मेरा पैर निशा के पैर पर लग गया तो वो मुझे देख कर स्माइल करने लगी.

तो दूसरी बार मैने जान बुझ कर उसके पैर पे पेर रखा वो फिर भी स्माइल ही कर रही थी तो मुझे थोड़ी हिम्मत मिली & मैने धीरे धीरे उसके पैर को सहलाना स्टार्ट किया वो कुछ नही बोली तो मेरी हिम्मत और बढ़ गई मैने उसके जाँघ पर हाथ रख दिया और सहलाने लगा वो बोली क्या कर रहे हो आप मम्मी देख लेगी तो.
मै जानता था उस टाइम उसकी मम्मी सो रही होती थी इसीलिए ज्यादा डर नही था.

उसके बाद मै अपनी चयेर से उठ कर उसके पास गया और पीछे से उसकी नेक पर किस करने लगा वो कुछ नही बोली धीरे धीरे मैने उसके बूब्स पर हाथ रखा और उसके बूब्स सहलाने लगा, वो हल्की हल्की सिसकारिया लेने लगी फिर हम वाहा से उठ कर सोफे पर बैठ गये वो मेरी तरफ फेस करके मेरी गोद मे बैठ गई.
और हम दोनो एक दूसरे के किस करने लगे वो मुझे बहुत ज़ोरो से किस करने लगी तो मैने भी उसके होटो को काट लिया और हम दोनो ऐसे ही 5 मिनिट तक किस करते रहे. देन मैने उसकी टी-शर्ट उतरी और उसके ब्रा के उपर से ही उसकी बूब्स दबाने लगा पर तभी उसकी मम्मी की आवाज़ आई & हम जल्दी जल्दी पढ़ने बैठ गये.

उस दिन के बाद हम बस चुदाई का मौका ढूढ़ते रहे. और एक दिन, हमें मौका मिल भी गया जब उसकी मम्मी अपनी किसी फ्रेंड के घर गई थी. तब उसने मुझे कॉल किया:

निशा:- हेलो! सर जल्दी घर पर आ जाइए मम्मी अपनी किसी फ्रेंड के घर गई है और रात को आएगी.
मै:-ओक मै बस थोड़ी देर मे पहुचता हू.

उस टाइम सुबहा के 9 बज रहे थे, मै जल्दी जल्दी फ्रेश हुआ और उसके घर से निकल गया रास्ते मै एक मेडिकल शॉप से मैने एक कॉंडम का पॅकेट खरीद लिया.

थोड़ी देर मे मै उसके घर पहुच गया और बेल बजाई जैसे ही उसने गेट खोला मै तो उसे देखते ही रह गया, आज तो वो बहुत हॉट लग रही थी उसने एक ब्लैक ड्रेस पहनी हुई थी.
उसे तो देखते ही मेरा लंड खड़ा हो गया. उसके घर मे घुसते ही मैने उसे चूमना शुरू कर दिया हम दोनो पागलो की तरह एक दूसरे को किस कर रहे थे हम इतना खो गये थे की डोर लॉक करना भी भूल गये.

हम 10 मीं तक एक दूसरे को किस करते रहे देन मुझे याद आया की डोर खुला हुआ है. मै गया और डोर लॉक करके अंदर आ गया. फिर वो मुझे अपने बेडरूम मे ले गई.
मैने उसे बेड पे धक्का दिया और उसके उपर लेट गया और उसे किस करने लगा अब मैने उसकी ड्रेस निकल दी. उसने ड्रेस के अंदर कुछ नही पहना था. अब वो मेरे सामने पूरी नंगी थी उसके मस्त बूब्स देख के तो मै पागल सा हुआ जा रा था.

झट से मैने उसके बूब्स चूसना शुरू कर दिए उसके निपल जोश मे बिल्कुल सख़्त हो गये थे अब धीरे धीरे मैने उसके पूरे शरीर को किस करना स्टार्ट कर दिया वो हल्की हल्की आवाज़े निकालने लगी किस करते हुए मै उसकी चूत पर पहुच गया. एक दम क्लीन चूत थी उसकी और पूरी गीली हो चुकी थी फिर मैने उसकी चूत पर किस किया तो वो मचल उठी.
अब मैने धीरे से उसकी चूत मे एक उंगली डाली तो उसके मूह से हल्की सी चीख निकल गई. उसकी चूत बहुत टाइट थी.मैने उंगली अंदर बाहर करना स्टार्ट की और उसकी चूत पर किस करता रहा.
थोड़ी देर मे वो झड़ गई और रिलॅक्स होकर लेट गई अब उसे किस करने लगा थोड़ी देर मे वो उठी और उसने मुझे नंगा किया और मेरा खड़ा लंड देख के बोली ” इतना बड़ा लंड मेरी छोटी सी चूत मे कैसे जाएगा ” मैने हस के कहा जाएगा भी और तेरी चूत का भोसड़ा भी बनाएगा.

हेलो दोस्तो जैसा की आप जानते हो मै सत्या हूँ देल्ही से हूँ. अब मै कहानी पर आता हूँ.

बात कुछ साल पहले की है मेरे ऑफीस मे एक ऑफीस बॉय आया बहुत ही हॅंडसम था वो 5.9फुट उस की लंबी होगी रंग रोना और अच्छी बॉडी थी. उस की बस कमी एक थी की उस के चलने और बात करने से वो बिल्कुल लड़की लगता था मुझे वो फर्स्ट नज़र मे ही अच्छा लगने लगा था.

मै हमेशा उस से अच्छे से बात करता उस की काम की तारीफ करता कभी कभी पैसे से भी उस की हेल्प करने लगा वो भी अब मुझे पसंद करने लगा था.

एक बार मेरे ऑफीस मे वाइट्वाश हो रहा था मुझे रुकना पड़ता था 2-3 अवर्स ऑफीस के बाद भी मैंने विकी से भी कहा की वो भी शाम को रुक जाए ओवरटाइम मिल जाएगा वो खुश हो गया और तुरंत हा कर दी. ऑफीस मई 5-6 रूम थे पेंटर लोग वन बाइ वन एक रूम को फ्री कर ने के बाद 2न्ड रूम मे जाते थे.

एक दिन मै अपने रूम मे ब्लू मूवी देख रहा था की विकी रूम मे आ गया मूवी देख कर वो शर्मा गया मेने बोला विकी देख लो. वो बोला नही सर आप के सामने शरम आती ही..

मेने कहा कोई नही आओ चयेर पर बैठ जाओ और देख लो. वो मेरे साथ बैठकर मूवी देखने लगा. कुछ देर मूवी देखने के बाद वो गरम हो गया मेने देखा उस का लंड पैंट से बाहर आने के लिए तड़प रहा था.
मेने भी मौका देख का उस के लंड पर हाथ रख दिया. वो डर गया और फिर विकी बोला सर ये क्या कर रहे हो एसा मत करो प्लीज़. मेने कहा कुछ नही कर रहा सिर्फ़ हाथ रख रहा हूँ…

विकी चुप हो गया और मूवी देखने लगा शायद उसे भी मेरा ऐसा करना अच्छा लग रहा होगा. मै भी उस का लंड सहला रहा था

जिस से विकी बहुत गरम हो गया था मेने आराम आराम से उस की ज़िप खोल दी और उस का लंड बाहर निकल दिया विकी ने अब मुझ से कुछ नही कहा और मेने देखा वो मुस्कुरा रहा था साथ ही अपना भी लंड मेने पैंट से बाहर निकल लिया. और विकी का हाथ पकड़ कर अपने लंड पर रख दिया
अब विकी भी मेरा लंड उपेर नीचे कर रहा था और मैं विकी का लंड ऊपर नीचे कर रहा था. कुछ देर ऐसा करने के बाद हम दोनो बहुत गरम हो गये और हमारी सासे तेज़ तेज़ चलने लगे.

और हम एक दूसरे को लीप किस करने लगे विकी दिल खोल के मेरा साथ दे रहा था और एंजाय कर रहा था करीब 30 मीं हम दोनो ने किस की उस से हम और जयदा गरम हो गये थे और हम दोनो ने एक दूसरे की शर्ट कब उतार दी पता नही चला..

फिर मेने कहा

मै – विकी सकिंग करोगे
विकी – हा कर लूँगा पर आप को भी मेरा लंड अपने मुह मे ले कर चूसना होगा

मै – ठीक है..

तो पहले मेने उस का लंड मूह मे ले लिया..

मै चयेर पर बैठ गया था और विकी खड़ा था मुझे विकी ने अपना लंड मेरे मुह मे डाल दिया. मुझे बहुत अजीब लग रहा था क्यों की विकी का लंड 7 इंच का था और मोटा भी था मुझे प्राब्लम हो रही थी सकिंग करने मे पर मुझे मज़ा भी आ रहा था.
करीब 10-15 मीं सकिंग करने के बाद मेने विकी से सकिंग करने को कहा फिर वो नीचे बैठ गया और मै चयेर पर ही बैठा रहा और वो नीचे बैठ कर मेरा लंड मुह मे ले कर अंदर बाहर करने लगा मुझे बहुत मज़ा आ रहा था मेरी आँखें बंद हो गई और मै स्वर्ग का मज़ा लेने लगा. विकी बहुत अच्छे से लंड चूस रहा था करीब 10-15 मीं लंड चूसने के बाद वो खड़ा हो गया और हम फिर से किस करने लगे.

तभी हमारे रूम के डोर पर दस्तक हुई हम दोनो एक दम से डर गये फिर हम ने अपनी अपनी ड्रेस ठीक की और मेने डोर ओपन किया.
पेंटर था बोल रहा था सर टाइम हो गया सर चलना नही है क्या. मेने कहा हा जी चलना है मैं तो आप का वेट कर रहा था…

फिर हम ने ऑफीस बंद किया और मेने विकी से बाइ बोला.. फिर हम दोनो नेक्स्ट दे मिलने का वादा कर के अपने अपने घर चले गये मुझे बहुत अछा लग रहा था क्यों की मेरा पहला दोस्त साहिल जो अब गाओं चला गया था जब से वो गया था मै बहुत परेशन था क्यों की मेने उस के जाने के बाद किसी से सेक्स नही किया था.
अब विकी मिलने से मेरी ये कमी पूरी हो गई थी. फिर नेक्स्ट दे हम मॉर्निंग मे ऑफीस आए विकी और मैं एक दूसरे को देख कर मुस्कुरा रहे थे और शाम होने का वेट कर रहे थे. फिर शाम भी आई सारा स्टाफ चला गया तो वाइट्वाश का काम भी चल रहा था वो लोग अदर्स रूम मे वाइट्वाश कर रहे थे….

और मै और विकी हम दोनो ऑफीस मे फिर से ब्लू मोविए देखने लगे और कुछ देर मे हम फिर शुरू हो गये

मै – विकी कल आप को कैसा लगा
विकी – सर मुझे बहुत मज़ा आया

मै – विकी जिस दिन से आप थे मै उस दिन से आप से सेक्स करना चाहता था

विकी – सच सर. मै भी आप की आँखों को पढ़ रहा था

sexy stories हेलो दोस्तों मेरा नाम अंकित हे और में वापस आया हु अपनी एक नयी चुदाई की स्टोरी लेकर. और में उसमे आपको बताऊंगा की मैने केसे मेरी आंटी के कहने पर उनकी बहन की प्यास बजाई और और में उन दोनों बहनों की सेक्स की भूखह आज भी शांत कर रहा हु और वह दोनों आज मुझसे बहोत ही खुश हे..

तो चलिए अब देर न करते हुए अब कहानी की शुरुवात करते हे. मैने अपने बचपन के दोस्त भास्कर की माँ पूनम की चुदाई की और उनको अपनी रखेल बनाया और यह सिलसिला आज भी चल रहा हे.तो हुआ यु की एक दिन में और पुनम सेक्स कर रहे थे और उसके बाद ऐसे ही साथ में लेते हुए थे और बाते कर रहे थे और हम दोनों एकदम नंगे थे. और तब उसने ऐसा कुछ कहा जिससे मेरा दिल एकदम ख़ुशी से जमने लगा था.

पूनम : जानू आज बहोत मजा आ गया.

में : वो तो हमेशा आता हे डार्लिंग तुम्हारी चुत में इतना मजा हे की जितना मिले उतना कम ही होता हे. और मुझे तुमसे प्यार कर कर के मेंरा मन कभी भी नही भरता हे

वह : अगर ये मजा दुगना हो जारे तो कैसा रहेगा?

में : में कुछ समजा नहीं तुम क्या कहना चाहती हो? अब मेरे मन में भी लड्डू फुट रहे थे की यह अब मुझे कोन सा नया मजा देने वाली हे की जिसे पाकर में बहोत ही खुश हो जाऊँगा

पूनम : अगर हमारे साथ एक और इंसान जुड़ जाए तो हम दोनों को और भी मजा आ जाएगा.

मैं :  अरे यह तुम क्या बोल रही हो पागल तो नही हो गयी हो ना? अगर कोई तीसरे को यह बात पता चल गई तो बहार के लोगो को भी यह बात पता चलने में ज्यादा वक्त नहीं लगेगा. और अगर बहार के लोगो को पता चल गई तो हमारी क्या हालत हो सकती हे यह तुम्हे कुछ पता भी हे या नहीं?

पूनम : उसकी टेंशन मत लो डार्लिंग वह इंसान कोई और नहीं हे और उसे तुम भी अच्छी तरह से जानते हो वह मेरी छोटी बहन है सोनल.

में तो यह सुन कर मन ही मन में बहोत ही ज्यादा खुश हो गया था क्योंकि मैंने उनसे पहले मिल चुका हूं और वह आंटी से भी ज्यादा सुंदर है.

चलिए आपको सोनू के बारे में थोड़ी बात बता दूं जिस से आप लोगो को कहानी में मजा आ जाये.

सोनल की उम्र यही कोई 38-39 के आस पास होगी. उसका रंग दूध से भी ज्यादा  गोरा मतलब हाथ लगाओ तो मैला हो जाए ऐसा था. और  किसी भी २३-२४ साल की लड़की की तरह सुंदरता उनके सामने एकदम बेकार हो जाये. और उसका फिगर जो कि एक बार देख ले उसका लंड तुरंत खड़ा हो जाए और उसको देख कर तो मुडदे का भी लंड खड़ा हो जाये वह ऐसी सुंदर नारी हे.  इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम  उसका फिगर ४२-३४-४२ का था और उसकी गांड तो मुझे बहोत ही ज्यादा पसंद आती थी. में जब भी उसको देखता था तब मेरी नजर सब से पहले उसकी गांड पर ही जाती थी और में हमेशा से उसकी गांड को चोदना चाहता था. और आज मेरा इंतजार ख़त्म होता दिख रहा था और मेरे मन में भी अब उसको चोदने के सपने आने लगे थे.

में : वह तो ठीक है पर वह मानेगी कैसे? मुझे नहीं लगता कि वह मेरे साथ कभी सेक्स के लिए राजी होगी.

पूनम : अरे मैंने उसको हमारे बारे में सब बता दिया है और वह अब हमारे साथ सेक्स करने  के लिए एकदम पूरी तरह से रेडी है क्योंकि उसका पति उसकी हवस नहीं मिटा पाता है और उसने रोते हुए मुझे सब बताया तो मैंने उसको सब बता दिया की में भी केसे अपने पति से संतुष्ट नहीं होती थी और में पिछले चार साल से तुम्हारे पास आ कर मेरी भूख को मिटा रही हु और मैने उसे यह भी बताया की तुम में इतनी ताकत हे की तुम एक साथ दो ओरतो की भूख को भी आसानी से मिटा सकते हो और मुझे तुम पर पूरा भरोसा हे. मैने उसे यह भी समजाया हे की तुम्हारे साथ सेक्स कर के उसकी हवस तो शांत हो ही जाएगी और यह बात कभी किसी को बहार पता नहीं चल पायेगी क्योंकि में तुम्हारे साथ इतने सालो से सेक्स कर रही हु और तुम मुझे संतुष्ट का देते हो और यह बात कभी बहार नहीं गई हे. और अब वह जल्द से जल्द हमारे साथ जुड़ना चाहती है

में : चलो फिर तो कोई दिक्कत नहीं है. जब आप रेडी हो तो मैं भला आपकी बहन को खुश करने के लिए मना कैसे कर सकता हूं?

इसके बाद हमने फिर से सेक्स करना शुरु कर दिया. और अगले 1 घंटा 30 मिनट चला जिसमें पूनम ने तीन बार पानी छोड़ा था और मैं दो बार झड़ चुका था. और एक बार मैंने अपना माल उनकी चूत में छोड़ दिया और दूसरी बार उनकी गांड में. और फिर थोड़ी देर बाद हम दोनों किस करने लगे और में अपने बदन को साफ कर के मेरे कपडे पहन कर मेरे घर वापस आ गया. इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम  कुछ दिन ऐसे ही चलता रहा और मुझे अब बेसब्री से सोनल के आने का इंतजार था और में  अब हर रोज रात को सपने देखने लगा था की मैं कैसे उस को भोगूँगा और उसकी सारी इच्छा को पूरी कर दूंगा.

तभी मुझे पुनम का  एक दिन व्हाट्सआप  पर मैसेज आया.

पूनम : गुड न्यूज़ है

में :  क्या हुआ?

फिर जो उन्होंने बताया वह सुन के तो मुझे बस मजा आ गया.

पूनम : सोनल के हस्बैंड का ट्रांसफर इको में हो गया है अब वह भी यही रहेगी हमारे साथ.

पूनम आंटी का घर पड़ा था तो कोई दिक्कत भी नहीं थी. बस मैं तो अब उनके आने का इंतजार कर रहा था.

और १५ दिन के बाद उसकी फैमिली यहां शिफ्ट हो गई. और बस हमें मौके की तलाश थी. और चार दिन बाद हमें मौका मिल गया.

उन दोनों के हस्बैंड काम के चलते टूर पर गए थे और हमारे पास 5 दिन का समय था.

आंटी का फोन आया मेरे पास रात को 1:00 बजे

पूनम : कल ठीक 11:00 बजे आ जाना घर डार्लिंग मौज करेंगे तीनों मिल के.

मैं : तैयार रहना दोनों बहने. कल दोनों पर कोई रहम नहीं किया जाएगा.

पूनम : वह तो मैं जानती हूं डार्लिंग, तू भी मरा जा रहा हे उसके लिए..

और यह बात कर के हम दोनों गुड नाइट बोलकर सो गए. पर मुझे तो अब ख़ुशी के मारे नींद भी नहीं आ रही थी और में उसके सपने देखने लगा की में उसे किस किस तरह से चोदुंगा. और फिर मुझे धीरे धीरे नींद आने लगी और में सो गया.

अगले दिन मैं सुबह पहुंचा तो देखा वह दोनों येलो और ग्रीन साड़ी में सेक्सी लग रही थी और सोनल कुछ शरमा रही थी.

पूनम : आओ अंकित बैठो. बताओ क्या करना है?

मैं : करना क्या है? बस आप सेवा का मौका दो बाकी तो आप को सब पता है.

मैं उठा और जाकर पूनम को अपने पास खींच लिया और शुरू हो गया हमारा प्रेम मिलन

हम दोनों किस कर रहे थे सोनल के सामने और वह 1 मिनट तो देखती रह गई फिर दीदी थोड़ी तो शर्म करो बोल के रूम में चली गई, और खिड़की से छुप के देखने लगी.

हम दोनों नहीं रुके और 2 घंटे तक हमारी प्रेमलीला चलती रही जिसमें मैंने उनको पूरा नंगा करके और चोदा और गांड मार कर शांत कर दिया.

थोड़ी देर बाद पूनम उठी और बिना कपड़ों के बाहर गई और बहन को धक्का दे कर बोली

पूनम : चलो अब शर्माना छोड़ो और जाओ मजे लो.

दरवाजा बाहर से बंद करके चली गई फ्रेश होने

मैं : सोनू आंटी मैंने आपको देखा, आप चुप के से हमें देख रही थी, पर अगर आपका मन नहीं है तो में कुछ नहीं करूंगा.

वह ५ मिनट बिना कुछ बोले बैठी रही

सोनल : अंकित मैं चाहती हूं कि मुझे भी खुशी मिले लेकिन मुझे डर लगता है कि कहीं कुछ गलत ना हो जाए.

मैं : कुछ नहीं होगा सोनल आंटी आपको शायद नहीं पता लेकिन आज मुझे और आपकी बहन को सेक्स करते हुए 4 साल से ज्यादा हो गया और हम दोनों खुश है कोई दिक्कत नहीं है सब अच्छे से चल रहा है

सोनल : कुछ देर सोचने के बाद अच्छा चलो ठीक है मैं रेडी हूं पर वादा करो कि कभी कोई कमी नहीं करोगे मुझे प्यार करने में.

मैं : सोनल को करीब खींचते हुए पक्का कोई शिकायत नहीं होगी.

फिर तुरंत मैंने उसके और अपने होंठ आपस में जोड़ दीए और हम एक-दूसरे को १५ मिनट बिना रुके किस करते रहे.

सोनल सच में मजा आ गया दीदी सच बोलती है तुझ में जरुर कुछ है ऐसा जिसके लिए कुछ भी करो कम है,

इतना सुनते ही मुझे जोश आ गया और मैंने उनकी ग्रीन साड़ी उतारना शुरू कर दी और अगले 5 मिनट में हम दोनों के बदन पर एक कपड़ा नहीं था

उनको किस करते हुए मैं उनकी नेक को किस करने लगा और उनके बूब्स पे आ गया और उन 42 के बूब्स को चूसने और काटने लगा. वह भी अब गरम होने लगी और उसने भी मेरा 6 इंच का लंड हाथ में ले लिया और हिलाने लगी.

उसके बाद उसने मेरा लंड अपनी विशाल चुचियो के बिच में दबाया और ऊपर नीचे करने लगी कसम से दोस्तों कभी ट्राई करना बहुत मजा आ जाएगा.

आधा घंटा ऐसे करने के बाद मेरा माल उसके बूब्स पर छूट गया और उन्होंने अपने बूब्स पर उस की मालिश कर ली.

उसके बाद किस करते हुए में नीचे बढ़ता हुआ उसकी चूत पर पहुंचा और १५ मिनट करने के बाद वह भी झड़ गई और मैं उनका अमृत पी गया.

सोनल : कसम से अंकित मेरे उस नल्ले पति ने आज तक कभी ऐसा नहीं किया. सच में दीदी सच बोलती है तुजसे मन नहीं भरता.

कुछ देर बाद हम दोनों 69 पोजीशन में आ गए और दोनों एक दूसरे को चूस और चाट के गर्म कर रहे थे. थोड़ी देर बाद मैंने सोनल को बेड पर सीधा लिटाया और दोनों पैर कंधे पर रख कर एक धक्का लगाया लेकिन अंदर नहीं गया.

सोनल : मेरा  पति सच में नल्ला है उसका लंड ३.५ इंच का है जो शायद ही कभी खड़ा होता है और पिछले 2 साल से हाथ तक नहीं लगाया उस भडवे ने मुझे.

मैं :  टेंशन मत लो बाबा, मैं हूं ना तुम्हारे लिए अब.

फिर दोबारा कोशिश करने पर इस बार मेरा लंड अंदर चला गया और वह जोर से रोने लगी.

सोनल : प्लीज स्टॉप मुझसे नहीं होगा बहुत दर्द हो रहा है. प्लीज लीव मी मुझसे नहीं सहा जा रहा हे.

किस करते हुए मैंने उसे शांत करवाया और १० मिनट के बाद दूसरा  धक्का मारा इस बार मेरा लंड पूरा अंदर जाकर सीधा उसकी बच्चेदानी पर लगा. और वह चीख नहीं पाई क्योंकि उसके होठ मेरे होठो से बंद थे.

१० मिनट बाद वह नोर्मल हुई और फिर मैंने धक्के लगाना शुरु किया और वह भी नीचे से साथ दे रही थी.

सोनल : रुकना मत बाबू, मजा आ रहा है और तेज करो ऐसा बोल रही थी जिसके चलते मैंने धीरे धीरे धक्के की स्पीड बढ़ाई.

२० मिनट के बाद एक दम से वह जड गई और निढाल पड गई और मैं भी रुक गया. ५ मिनट बाद वह खुद बोली

सोनल : सच में मजा आ गया. दीदी की तरह आज से में हमेशा के लिए तुम्हारी हो गई हूं, आई लव यू अंकित.

वह फिर से गर्म होने लगी और मेरा अभी बाकी था सो मैंने उसकी गांड मारने की इच्छा जाहिर की. पहले वह मना करती रही लेकिन मेरे और पूनम के बहुत समझाने पर वह राजी हो गई तो फाइनली उसको डौगी पोज में करके मैंने पूरा दम लगा के मैंने अपना पूरा लंड एक ही बार में उसकी गांड में डाल दिया. इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम

वह इतनी जोर से चीखी कि मैं रुक गया और उस को शांत करवाने लगा और उसकी गांड से खून भी बह रहा था.

१५-२० मिनट के बाद वह अपनी कमर हिलाने लगी.

फिर क्या था मैंने भी धीरे धीरे स्पीड बढाता गया और 40 मिनट बाद उसकी गांड में जड गया जिसकी गर्मी से वह अब तीसरी बार जड गई.

अब हम नंगे थे रूम में और बात कर रहे थे के तभी हमें थ्रीसम का आईडिया आया. फिर हम तीनों शुरू हो गए और मैंने उन दोनों को साथ लेट गया और अगले ३ घंटो में मैंने उन दोनों को दो बार कायदे से चोदा और गांड भी मारी.

सोनल ब्लोजोब इतना अच्छा नहीं दे पा रही थी लेकिन कुछ अलग ही बात थी उसमें.

अगले ५ दिन हमने इतना सेक्स किया की सोनल और हमारी सारी शरम खत्म हो गई.

और वह दोनों इतनी हॉट हे की कभी मन नहीं भरता और वह मुझे अपने पतियों से ज्यादा प्यार करती है.

अब जब मौका मिलता है हम तीनो सेक्स करते हे और खुश रहते हैं.

Wo Chut Chudwane ke Liye Bechain Thi-

Namaste dosto, Mera naam Bablu hai, Main ek famous company mein kaaryarat hoon. Mera kaam ke silsile mein ghar se baahar jyaada samay rahta hai aur ghar par kam.. Main aksar safar mein hi rahta hoon.. Aur jyaadatar safar bus se hi hota hai.

Yeh baat tab ki hai.. Jab main ek shaam volvo bus se Delhi se Kolkata jaa raha tha. Bus mein bheed kam hone ki wajah se bus mein yaatri kam hi thay. Peeche waali seat par mujhe sone ki aadat hai.. Subah ka samay tha, main peeche lambi seat mein jaakar so gaya.

Mujhe soye huye aadha ghanta hi hua tha ki mujhe meri jaanghon par kuch rengta sa mehsoos hua.. Thodi aankh kholkar dekha to ek sundar gora haath meri pant ke uppar phir raha tha.
Thodi der baad uska chehra bhi dekh liya.. Yeh to ek haseen punjaban ladki thi. Ek sundar figure 34-30-34 waali mast kudi.. Gora rang.. Behad khoobsurat.”Chut Chudwane ”

Usne agle hi pal mere gaalon par ek pyaari si pappi bhi le lee. Meri to jaise kismat hi chamak gayi, kabhi sapne mein bhi nahin socha tha ki bus mein safar karte huye hi koi anjaan ladki par sex is kadar haavi hoga ki mujh par meharbaan ho jaayegi.

Khair.. Main bhi jyaada der na lagaate huye utha aur us ladki ko dekhne laga. Us ladki ne mujhe sharmaate huye dekha aur boli- Sorry.. Jo bhi hua..
Maine kaha- Theek hai.. Lekin main tumko jaanta nahin hoon. To usne apna naam Preeti bataaya.. Wo Mohali, Punjab se thi.

Saath hi usne bataaya ki wo Delhi byepaas se baithi hai aur bus khaali hone ki wajah se peeche hi baith gayi thi.
Maine kaha- Koi baat nahin.. Magar aap apne haath se kuch kar rahi thin..
Preeti ne kaha- Wo to main.. Wo itna kahkar ruk gayi.”Chut Chudwane ”

Maine kaha- Kya hua? To usne kuch nahin kaha. Achanak hi meri nazar uske haath mein pade mobile par chal rahe maadak video par padi. Maine kaha- To yeh baat hai..
Preeti ne sharmaate hoon kaha- Jee.. yeh video dekhte huye mujhse ruka nahin jaa raha tha aur tum gahri neend mein peeche so rahe thay.. Kisi ke peeche na hone ke kaaran mera haath udhar chala gaya.

Main bhi muskuraane laga.. To wo sharma gayi. Maine bhi mauke ka faayda uthaate huye uska haath pakad liya aur kaha- Preeti ab aage kya iraada hai?
To wo boli- Yahaan.. Lekin bus mein kaise? Maine usse kaha- Main abhi conductor se setting karke aata hoon.

Maine conductor ko bulaaya aur kaan mein samjhakar use 500 rupaye diye.. conductor hansta hua aage chala gaya aur peeche ki light band kar di.

Ab main peeche ki seat par Preeti ko baanhon mein lekar uske honth choomne laga. Preeti ne kaha- Main tumhen kaafi pasand bhi kar rahi hoon.. Ab aur der na karo aur mujhe pyaar do.”Chut Chudwane ”

Main Preeti ke mast sudaul choochon ko masalne laga, wo bhi mujhe kiss karte huye mere lund ko dabaane lagi.
Kareeb 15 minute tak aise hi chalta raha. Mera lund pant mein kaafi sakht ho gaya aur jaise hi maine uski salwaar mein haath daalkar chut ko chhua.. To uski chut bhi paani chhod rahi thi. Uski chut baal rahit thi.

Mujhe aur Preeti ko kaafi maza aa raha tha.. Kareeb aadha ghanta aise hi masti karte rahe.
Itne mein bus ek hotel par ruk gayi. Wahaan sabhi log utar gaye.. Main turant driver ke paas gaya aur 100 rupaye dekar bus ko thoda aage khada karne ko aur 20-25 minute mein aane ko bola.

Driver ne rupaye lekar bus hotel ke baahar side mein khadi kar di aur jaldi karne ko bolkar hotel mein chala gaya.

Main aur Preeti ab bus mein akele thay, Maine Preeti ka kameej utaar diya, Preeti sharma kar mujhse lipat gayi aur zor ka kiss kar diya.
Main uske mast mammon ko dekhkar josh mein aa gaya aur uske choochon ko bra ke uppar se hi dabaane laga. Preeti ne bhi meri belt kholkar pant ka button kholkar chain bhi khol lee, Ab meri pant ghutne par aa gayi.

Maine bhi Preeti ki salwaar ka naada kheench kar khol diya. Preeti ki salwaar sarak kar neeche aa gayi.
Ab maine Preeti ko bra aur chaddi mein dekh kar uski tareef ki aur ek pyaari si kiss ki.

Preeti ne kaha- Ab jaldi karo.. Log aa jaayenge. Maine kaha- Tumhaari chut mein aag bahut tez lagi hai..
Maine muskuraate huye nicker ko neeche sarka diya.”Chut Chudwane ”

Preeti ne bhi mere lund meri chaddi mein se baahar nikaal liya aur usko haathon se sahlaa kar kaha- Yaar yeh to bahut tight ho gaya hai.. Kaafi sundar bhi hai.
Maine kaha- Jaan choos kar ise aur mast kar do na.. To usne lund ko munh mein bhar liya.

Ab mujhse raha nahin jaa raha tha, Main khade-khade hi usse apna lund chuswaata raha aur uski choochiyon ko masalne laga.
Koi 5 minute choosne ke baad maine use peeche waali seat par litaaya aur uski chut ko munh mein bhar kar choosne laga.”Chut Chudwane ”

Preeti ne jaldi hi paani chhod diya aur mujhe apne uppar lita liya. Maine uski chut par lund rakha aur ek karara jhatka diya.
Mujhe badi hairaani hui ki chut se halki si awaaz ke saath khoon bhi nikla.. Saath hi wah zor se chillayi. Main bola- Pahli baar hai kya? Aur maine uske munh par haath rakh diya.

Wo dard se chhatpata rahi thi aur gardan hilakar usne ‘haan’ mein bhi ishaara kiya. Maine uski chhaatiyan sahlaani shuru kar din taaki uska dard kuch kam ho jaaye.

Kuch hi palon mein uska dard kuch kam ho gaya. Maine bhi lagataar teen-chaar dhakke lagaaye aur usko chooste huye poora lund daalkar ruk gaya.
Ab Preeti buri tarah tadapne lagi thi, Main bhi uske dard ko kam karne ke liye wahin ruk gaya aur uske poore sharir ko ragadne laga.”Chut Chudwane ”

Ab Preeti ke sharir mein hulchul hone lagi aur wo apni gaand uthaane lagi.
Main bhi ab dhakke lagana shuru karne laga.. Hamaare dhakke tezi ke saath lag rahe thay.
Preeti ki maadak awaazein bus mein goonjne lagin- Unnan.. Aah yaar.. Chod do.. faad do aaj.. Poora ghusa kar pelo.. Aahh.. Maza aa raha hai jaan..

Maine bhi dhakkon ki raftaar badha di. Ab Preeti ka sharir akadne laga aur wo sisiya kar boli- Uff.. Main aa rahi hoon.. Aahh.. Itna kahkar wo jhadne lagi.

Main bhi jaldi-jaldi dhakke lagata hua bola- Mera bhi hone waala hai.
Wo boli- Meri chut mein hi jhadna main pahli baar ka mehsoos karna chahti hoon.. Please meri chut ko apne paani se bhar do aur mujhe choomo. Main uski choochiyon ko dabakar aur tez-tez dhakke lagakar uski chut ko apne veerya se bharne laga.  “Chut Chudwane ”

Kuch der baad main apne rumaal se apne lund ko aur uski chut ko ponchhne laga.
Preeti ne aur maine ek lambi kiss ki aur apne-apne kapade pahan kar bus se baahar aa gaye.

Maine driver ko ishaara kiya.. Driver ne aakar 100 rupaye aur maange.. Maine use de diye aur bus mein Preeti ko bithakar kuch khaane-peene ko lene chala gaya.

Lagbhag 5 minute mein bus chal padi aur raat ke 11 baje hum Mohali pahunch gaye.. Jahaan uske Papa uska intezaar kar rahe thay.
Preeti ne mujhe ek kiss kiya.. Apna number dekar boli- Mujhe waapsi par phone jaroor karna.. Aur mann kar raha hai.

Maine bhi usko ek pyaari si pappi dekar bus ke darwaaze tak chhoda. Ab bus chal padi.
Baad mein maine Preeti ke number par use phone kiya. Preeti ne phone uthaya.. Maine Preeti ko apna naam bataaya aur bus ka naam liya. Bas phir kya tha hamaari lambi sexy baat shuru ho gayi.

Yeh ghatna mere jeevan ki vaastavik ghatna hai aur aapko bataane ke liye aisi hi kai aur ghatnaeyn bhi hain. Mujhe mail karen.
[email protected]

Priya Madam Ne Lund Pakad Liya-

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम जय है और में सूरत से हूँ, मेरी उम्र 21 साल है। हाईट 6 फुट 3 इंच है और दिखने में स्मार्ट हूँ और रोजाना जिम जाने वाला लड़का हूँ और साथ में मॉडलिंग की तैयारी भी चल रही है। अब में अपनी स्टोरी पर आता हूँ। ये बात तब कि है जब में 12वीं क्लास में पढ़ता था। वैसे उस टाईम में बिल्कुल ही शांत सा था और ना ही ज्यादा लड़कीयों से बात करता था और ना ही कोई फालतू चक्कर में पड़ता था, लेकिन मैंने अपना सेक्स का पहला अनुभव 12वीं क्लास में ही किया था और वो भी अपनी अकाउंट्स टीचर के साथ। अब थोड़ा उनके बारे में भी बता दूँ, उनका नाम प्रिया है और सब उनको प्रिया मेम ही बुलाते थे।

वो हमेशा से ही सब टीचर्स से बिल्कुल अलग दिखती थी, क्योंकि उनका ड्रेसिंग सेन्स अच्छा है। टाईट साड़ी के साथ बिना बाँह का ब्लाउज, उनकी हाईट 5 फुट 5 इंच है, वो 30 साल की है। लेकिन उनका फिगर ग़ज़ब का है और वो एकदम गोरी थी और ना ज्यादा स्लिम और ना ज्यादा मोटी थी। वो हर एक ज़गह से एकदम शानदार थी। उनका फिगर साईज़ तो पता नहीं, लेकिन उनके बूब्स काफ़ी बड़े और सुडोल है। वो कभी-कभी तो डीप कट ब्लाउज पहनकर आती थी तो किसी भी स्टूडेंट का ध्यान पढ़ाई में लगता ही नहीं था, लेकिन में उनसे लिमिट में ही बात करता था, क्योंकि उस टाईम में थोड़ा शर्मिला था।

ये बात हमारे स्कूल के कुछ अंतिम दिनों की है जब हमारे स्कूल में प्रोग्राम होने वाला था तो सब बच्चे अपनी-अपनी तैयारी में लग गये, लेकिन मैंने किसी भी चीज़ में भाग नहीं लिया था। प्रोग्राम में डांस, ड्रामा, फैशन शो, ये सब था और जिस दिन फैशन शो का ऑडिशन था तो मेरे सारे फ्रेंड्स ने मुझे भाग लेने को कहा, लेकिन में नहीं गया, क्योंकि मुझे कोई रूचि नहीं थी। फिर ऑडिशन निकल गये और उसी दिन हमारे अकाउंट्स की क्लास चल रही थी तो प्रिया टीचर ने पढ़ाते-पढ़ाते अचानक कहा से कि जय तुम्हें फैशन शो में भाग लेना चाहिए, तुम दिखने में भी अच्छे हो और तुम्हारी हाईट भी अच्छी है। में तुम्हारा नाम लिख रही हूँ। में कुछ नहीं बोला और आख़िर में मैंने सोचा चलो कर ही लेते है। मुझे मिलाकर फैशन शो के लिए 15 बच्चे सलेक्ट हुए थे।

फिर रोज़ हमारी स्कूल में ही प्रेक्टिस होती थी, अब प्रोग्राम के कुछ ही दिन बचे थे तो टीचर अपने घर बुलाने लग गये, रोज़ 2 घंटे तक प्रेक्टिस चलती थी जिसमें ड्रेस के बारे में, वॉक कैसे करना है, फेस एक्सप्रेशन कैसे रखने है? ये सब होता था। मैंने नोटीस किया कि मुझ पर टीचर कुछ ज्यादा ही ध्यान दे रही है। मुझसे हंसी मज़ाक करना, मेरी टाँग खींचना, वॉक की प्रेक्टिस के टाईम मुझे बार बार टच करना, लेकिन ठीक है, मैंने ज्यादा ध्यान नहीं दिया। Lund Pakad Liya

फिर हम जब भी उनके घर जाते थे तो वो अकेली ही रहती थी और उनके पति जॉब करते है और रात को लेट ही घर आते है। उनके एक 4 साल की लड़की है जो उनकी नहीं है बल्कि गोद ली गई थी, क्योंकि प्रिया मेम में कुछ प्रोब्लम थी, उनका बच्चा नहीं ठहरता था, लेकिन मैंने उनको कभी भी इस बात के लिए दुखी नहीं देखा। फिर में भी फैशन शो की प्रेक्टिस के टाईम उनसे थोड़ा-थोड़ा नजदीक होने लगा था और उनसे फ्लर्ट करना चालू कर दिया। फिर तो में रोज़ प्रेक्टिस के बाद उनके घर रुकने लग गया, जब सभी बच्चे चले जाते थे तो में और प्रिया मेम बातें करते थे। फिर धीरे-धीरे प्रोग्राम की तारीख पास आने लग गई। प्रोग्राम के 2 दिन पहले प्रिया मेम ने मुझे रोज़ के टाईम से 2 घंटे जल्दी बुलाया, दोपहर के 2 बजे प्रोग्राम की तैयारी के लिए और मेम ने उस दिन सब बच्चो को छुट्टी दी हुई थी, तो में मस्त पर्फ्यूम लगाकर अच्छे से कपड़े पहनकर तैयार हो गया।

फिर में टाईम पर उनके घर पहुंचा और फिर उन्होंने दरवाज़ा खोला और में अन्दर आकर रूम में बैठ गया। फिर उन्होंने कहा कि तुम बैठो में बाथ लेकर आती हूँ, आज बाथ लेने का टाईम ही नहीं मिला। फिर वो अपने बेडरूम में चली गई। फिर आधे घंटे के बाद उन्होंने मुझे आवाज़ लगाई तो में उनके रूम में गया और देखा तो मेम ने एक मस्त काले कलर का टॉप पहना हुआ था और नीचे सफ़ेद कलर की एकदम टाईट केफ्री थी। में तो उनको देखता ही रह गया। वो क्या लग रही थी?  Lund Pakad Liya

उनका टॉप काफ़ी डीप कट का था जिससे बूब्स के ऊपर के पार्ट मतलब उनका क्लीवेज साफ़ दिखाई दे रहा था और केफ्री इतनी टाईट कि जांघो और गांड का पूरा शेप दिख रहा था। फिर मेरे 1-2 मिनट तक घूरने के बाद मेम ने चुप्पी तोड़ी और कहा कि क्या देख रहे हो? कभी कोई लड़की नहीं देखी क्या? तो मैंने कहा देखी तो बहुत है, लेकिन आज तक इतनी सेक्सी नहीं देखी और मुझे पता नहीं था कि आप इतनी सेक्सी दिखती हो। फिर मेम ने कहा कि बस करो, ये तो मैंने ऐसे ही पहन लिया, काफ़ी दिन हो गये थे तो मैंने कहा अच्छी बात है।

फिर मैंने पूछा कि आज क्या प्रेक्टिस करनी है, तो उन्होंने कहा कि आज तुम मुझे एक मॉडल की तरह 2-3 ड्रेस पहनकर दिखाओगे और रेम्प वॉक करके बताओगे, क्योंकि तुम शो टॉपर रहोंगे। फिर उन्होंने अपने पति के कुछ पार्टीवेयर कपड़े दिए और में वो चेंज करने जा रहा था तो उन्होंने मुझे रोक लिया और कहा कि यही पर चेंज कर लो। फिर मैंने कहा कि आपके सामने कैसे? तो वो बोली कि इसमें क्या है? मॉडल्स को चेंजिंग रूम में सबके सामने चेंज करना पड़ता है। में तो ये सुनकर ही उत्तेजित हो गया और मेरा लंड खड़ा हो गया। फिर मैंने अपनी टी-शर्ट तो खोल दी, लेकिन अब जीन्स कैसे खोलता, लेकिन फिर हिम्मत करके दूसरी तरफ मुँह करके मैंने जीन्स खोली तो मेरा लंड खड़ा हो ही गया था। वो तो मेरे कंट्रोल में था ही नहीं, अब में सिर्फ़ अंडरवेयर में था। फिर अचानक मेम मेरे सामने आ गई। उन्होंने मेरा खड़ा लंड तो देख ही लिया था, लेकिन कुछ नहीं बोली।

फिर उन्होंने मुझे पहनने को एक ट्राउज़र दिया तो में पहनने लगा, लेकिन वो इतनी टाईट थी कि बटन ही नहीं लग रहा था, ऊपर से मेरा लंड भी खड़ा था। फिर मैंने मेम से कहा कि ये मुझे नहीं आयेगी, तो वो मेरे सामने घुटनों पर बैठकर बटन लगाने की कोशिश करने लगी, इसी बहाने से वो मेरे लंड को भी हाथ लगा रही थी और में और ज्यादा उत्तेजित हो रहा था। फिर आख़िर उनसे भी बटन नहीं लगा तो उन्होंने कहा ये ट्राउज़र उतार दो, तो मैंने ट्राउजर उतार दिया। Lund Pakad Liya

फिर वो दूसरा ट्राउज़र लेकर आई और पहनने को कहा, लेकिन वो भी टाईट था, फिर मेम ने अचानक मेरे लंड को अंडरवेयर के ऊपर से पकड़ा और सहलाते हुए कहा कि तुम्हारा यही इतना बड़ा है तो टाईट तो होगा ही। फिर मेम ने अचानक मेरी अंडरवेयर उतार दी और मेरा लंड उछलते हुए बाहर आया और फिर एक हाथ से मेरा लंड हिलाने लगी और मुझे लिप पर किस करने लगी। फिर 10 मिनट किस के बाद वो मेरा लंड पकड़कर बेडरूम की तरफ चल पड़ी, जैसे हम किसी का हाथ पकड़कर लेकर जाते है। फिर बेडरूम में आते ही मैंने उनको उठाकर बेड पर धीरे से लेटाया, वो बस स्माइल ही कर रही थी। वो ना जाने कब से इस चीज़ का इंतज़ार कर रही थी।

फिर मैंने उनका टॉप उतारा तो उन्होंने भी मेरा साथ दिया और काले कलर की ब्रा में मेरी मेम क्या लग रही थी? फिर मैंने बिना टाईम ख़राब किए उनकी ब्रा भी उतार दी, बाप रे उनके क्या बूब्स है? मिल्की वाइट और पिंक निपल्स जो कि बिल्कुल कड़क हो चुके थे। मैंने मेरी ज़िंदगी में पहले कभी ऐसा नज़ारा नहीं देखा था। फिर में धीरे-धीरे अपने हाथों से उनके बूब्स दबा रहा था और उन्हें लिप पर स्मूच कर रहा था और जीभ से जीभ मिलाकर उनके लिप मेरे दोनों लिप्स के बीच में दबाकर चूस रहा था और उस स्मूच में एक अलग सा मिंट फ्लेवर आ रहा था। फिर स्मूच करते-करते में उनकी गर्दन पर आ गया और उन्होंने एक लाजवाब पर्फ्यूम लगा रखा था।

मैंने तो गर्दन पर भी किसिंग और जीभ फेरना चालू कर दी। फिर मैंने नोटीस किया कि मेरे ये करने के दौरान उनके हाथों के बाल खड़े हो गये थे, मतलब वो फुल इन्जॉय कर रही थी। फिर में गर्दन पर किस करते-करते और नीचे आया, अब बारी थी उनके बूब्स की तो मेम ने तो मेरा सिर कसकर अपने बूब्स पर दबा दिया और में ज़ोर-ज़ोर से उनके निपल्स चूसने लगा और उनके मुँह से आअहह उम्म्म्मम की आवाज आने लगी।

फिर मैंने करीब आधे घंटे तक बारी-बारी उनके दोनों बूब्स चूसे। फिर में और नीचे बढ़ा और उनके पेट पर किसिंग करते हुए उनकी नाभि को चाटने लगा तो वो उछल पड़ी, उन्हें बहुत मज़ा आ रहा था। फिर मैंने उनकी केफ्री उतार दी और अब वो सिर्फ़ एक पारदर्शी काले कलर की पेंटी में थी। फिर मैंने उनकी पेंटी भी उतार दी। उनकी क्या ग़ज़ब की चूत थी? एकदम गोरी और चूत पर एक भी बाल नहीं था, शायद नहाते टाईम ही क्लीन की होगी और उनकी चूत से मस्त खुशबू आ रही थी, शायद उन्होंने मुझे अच्छा फील करवाने के लिए वहाँ कुछ लगाया होगा। अब वो मेरे सामने पूरी नंगी थी और में भी उनके सामने पूरा नंगा था। Lund Pakad Liya

फिर उन्होंने कहा कि प्लीज़ जय ए.सी चालू कर दो, ए.सी में मज़ा आयेगा। में झट से ए.सी चालू करके फिर से बेड पर आ गया। फिर मैंने उनको तड़पाने के लिए उनके पैरो की उँगलियों से किस करना चालू किया और किस करते-करते में उनकी जांघो तक पहुंचा और फिर चूत के आस पास किसिंग की और जीभ फेरने लगा। फिर उन्होंने मेरे बाल पकड़कर मेरा सिर अपनी चूत की तरफ दबाया और कहा कि बस बहुत तड़पा लिया, अब इसे शांत कर दो, यहाँ बहुत आग लगी हुई है। फिर मैंने जीभ निकालकर ऊपर से उनकी चूत को अच्छे से चाटना शुरू किया। वाह्ह्ह क्या टेस्ट आ रहा था? में उनके चूत के दाने को मुँह में लेकर चूसने लगा और वो पागल हुए जा रही थी और मेरा सिर अपनी चूत की तरफ और ज़ोर से दबा रही थी और में अपनी जीभ से मशीन की तरह मूवमेंट कर रहा था और वो उत्तेजना में चिल्ला रही थी, मुझे भी बहुत मज़ा आ रहा था।

फिर मेम ने कहा कि मुझे दूसरी पोज़िशन ट्राई करनी है तो मैंने कहा ठीक है। फिर उन्होंने मुझे सीधे लेटने को कहा और वो अपनी चूत को मेरे मुँह के पास लाकर मेरे मुँह पर बैठ गई। फिर मैंने जीभ बाहर निकाली और उनकी चूत के अंदर डाल दी, अब वो ऊपर नीचे हो रही थी और में उनको अपनी जीभ से चोद रहा था। फिर अचानक वो मुँह घुमाकर बैठ गई और हम 69 पोज़िशन में आ गये, फिर वो भूखी शेरनी की तरह मेरा लंड चूसने लगी और वो अपनी चूत मेरे मुँह पर रगड़ रही थी। Lund Pakad Liya

उन्होंने इतना तेज़ मेरा लंड चूसा कि मेरा पानी 2-3 मिनट में ही निकलने वाला था। फिर मैंने उनसे कहा कि मेरा पानी निकलने वाला है तो उन्होंने कहा मेरे मुँह में ही निकाल दो। फिर कुछ देर बाद मेरा पानी निकल गया और उन्होंने मेरे लंड का सारा पानी पी लिया। फिर भी उन्होंने मेरा लंड चूसना नहीं छोड़ा और इस दौरान वो मेरे मुँह पर ज़ोर-ज़ोर से अपनी चूत रगड़ रही थी और फिर उनका भी पानी निकल गया और सारा मेरे मुँह पर गिरा दिया। फिर वो थोड़ी शांत तो हुई, लेकिन उनका मन अभी तक नहीं भरा था, तो मेम ने मेरा लंड चूस-चूसकर फिर से खड़ा कर दिया।

फिर मैंने मेम को सीधा लेटाया और उनकी टांगे फेला दी और में बीच में बैठ गया, अब मेरा लंड और उनकी चूत काफ़ी गीली थी। फिर मैंने मेरा लंड पकड़कर उनकी चूत पर थोड़ी देर सहलाया, वो भी क्या एहसास था? फिर मैंने धीरे-धीरे अपना लंड उनकी चूत में डालना स्टार्ट किया, उनकी चूत काफ़ी कम सिकुड़ी हुई थी और फिर उन्होंने सामने से ही बोल दिया कि जय मेरे पति का लंड तुम्हारे लंड की तरह बड़ा नहीं है तो में हंस दिया और एक झटके में अपना पूरा लंड उनकी चूत में डाल दिया और बिना रुके चोदने लगा तो एक मिनिट तक तो उन्हें दर्द हुआ, फिर वो भी मजे में आकर गांड हिलाने लग गई। अब में उन्हें शॉट्स भी मार रहा था और उनके सेक्सी लिप्स पर किस भी कर रहा था और एक चीज़ में आप सबको बता देता हूँ कि ए.सी में सेक्स करने का मज़ा ही अलग है।  Lund Pakad Liya

फिर में जोश में आकर और ज़ोर से शॉट्स मार रहा था और पूरे रूम में पच पच पच की आवाज़ आ रही थी, उस दौरान वो दो बार झड़ गई। अब मेरी बारी थी। मैंने मेम से पूछा कि वीर्य कहाँ निकालूँ तो उन्होंने कहा अंदर ही निकाल दो और फिर में 1-2 मिनट में ही झड़ गया और अपना गर्म-गर्म पानी उनके अंदर छोड़ दिया। अब में शांत होकर उनको हग करके बाजू में सो गया। हम आधे घंटे तक ऐसे ही सोए हुए थे। फिर हम दोनों उठे और हमने साथ में शॉवर लिया औए शॉवर लेते टाईम में उनकी बॉडी पर साबुन लगा रहा था और वो मेरे लंड पर साबुन लगा रही थी। मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया और में उनके बूब्स चूस रहा था और हमने फिर से बाथरूम में सेक्स किया। ये मेरी लाईफ का एक मस्त अनुभव था जो मैंने आपके साथ शेयर किया है ।।

loading...



Related Post & Pages

Indian Xxx - Syren De Mer - MILF double fucked in the ass - XXX Porn *copy this code to Clipboard Thank you for your vote! You have already voted for this video! Uploade...

loading...

Bollywood Actress XXX Nude