Get Indian Girls For Sex
   

11825586_960973963960580_9000642893951890549_n
मेरा नाम आरती है. मेरी उमर 28 साल है . मैं उस समय24 साल की थी. जब मैं पहली बार किसी से अपनी चूत चुदवाई. उसके के बाद तो मैं  लगातार अपनी चूत को मजे देती रही. और अब तो मुझे चूदायी का मशिन मिल गयी  है. और वो है मेरा छोटा भाई । अब मैं आपको मशिन मिलने की कहानी बताती हूँ. मेरे मामा के घर से इसकी शुरूआत होती है  मेरे मामा दो भाई है., अमन (38वर्ष) और आर्यन (31) इस  चुदाई  से पहले मुझे लगता था की ज्यादा उम्र के लोगो से चूत नहीं चुदवाना चाहिए लेकिन अब लगता है की सिर्फ  ज्यादा उम्र के लोगो से ही चुदवाना चाहिए.

मेरी चूत की गरमी बढ़ने लगी थी.

आज से तीन साल पहले. मेरी मामा के ससुराल में. मामी के छोटे भाई का शादी था. इस लिए मामी को अपने घर जना था. तो बड़े मामा ने खाना बनाने के लिये मुझे बुला लिया. पहले ही दिन मैं मामा के घर पहुंची तो. मामा मामी को लेकर छोड़ने अपने ससुराल चले गए. और कहा की मेरा भी खाना बना कर  रखना. मै शाम तक आ जाऊंगा . लेकिन शाम को फ़ोन आया और बड़े मामा,छोटे मामा से  बोले. गायों को रमेश चौधरी से दुहावा  लेना क्यूंकि मैं रात को नहीं आ पाउँगा. अब हम और आर्यन मामा अकेले घर पर रह गए थे. हमलोगो ने खाना खाया और सोने केलिए छत पर चले गए. गर्मी का मौसम था. हमलोगों ने अलग अलग बिस्तर बिछाया. कफि देर तक बात करते रहे. बाद में मुझे नींद आने लगी और मै सो गयी. रात को मुझे पिसाब लगा. मै उठी और देखा छत पर पिसाब करने का जगह नहीं है. इसलिए मै निचे जाने लगी. मुझे लगा की वहां कोई मेरे  पीछे आ रहा है. मै डर गयी ,और दौड़कर ऊपर आयी. और अपने बिस्तर पर  सोने की कोशिश करने लगी. लेकिन मुझे नींद नहीं आ रही थी. मैंने अपना बिस्तर छोटे मामा के बिस्तर से सटा लिया. अब मेरा डर तो दूर होगया क्यूंकि आर्यन मामा पास में ही थे.  लेकिन मुझे नींद नहीं आ रही थी . चुकिं मैंने  पिसब नहीं किया था इसलिए मेरा हाथ हमेशा मेरी चूत पर जा रहा थी. तबतक आर्यन मामा ने करवट बदला और मेरे तरफ मुड़े . उनका जांघ मेरे जांघ से  सैट गया . मुझे नींद तो आ नहीं रही थी. मैं वैसे ही सोने की कोशिश कर रही थी. थोड़ी देर बाद मेरे जांघ में लगा की मामा का लंड टाइट हो रहा है और मेरे जांघ में चुभ रहा है . मैंने भी करवट बदल लिया और अपनी पीठ मामा के ओर कर लिया ताकि हम दोनों में थोड़ी  दुरी बन जाये. और सोने की कोशिश करने लगी थोड़ी देर बाद मामा का अंगूठा मेरी तलवा में सट गया और मुझे ऐसा लगा जैसे मेरे पुरे शारीर में बिजली शर्सराहट के साथ दौड़ गयी है. मेरी चूत पर लगा एक साथ हजारो चीटियाँ रेंग रही है. मैंने अपना पैर  हटा लिया. लेकिन थोरी देर बाद लगा की वैसे ही मज़ा आ रहा था . मैंने अपना चुत्तर   थोडा सा पीछे किया और मामा से सट गयी. और चुचाप सोने का नाटक करने लगी. थोरी देर बाद मामा का लंड फिर से मेरे चुत्तर को छेदने लगा. मैंने कुछ भी रिएक्शन नहीं किया . मामा को लगा मै सो रही हु.  उन्होंने अपना लंड अंडर वियर से बहार निकल कर. मेरे गांड पर सटा दिया. मेरे चूत को गर्मी आने लगी थी. मामा धीरे धीरे  मेरे गांड को अपने लंड से दबाये जा रहे. मैंने बहूत देर तक इंतजार किया की मामा अपने ही मेरी पजामी खिसका देंगे . लेकिन काफी देर तक इंतजार करने के बाद मै समझ गयी. मामा डर रहे है और वो मेरी पजामी नहीं खोलेंगे. तो मैंने अपना करवट बदला . मामा सट से पीछे हट गए. मैंने जागने का नाटक किया और बोली मामा मामा . लेकिन वो नहीं बोले. मै समझ गयी वो नाटक कर रहे है. मै छत के कोने में जाकर. पजामी निचे कर पिसब करने लगी. शुशुशुशुशुशूऊऊऊऊऊऊऊऊ…………………………

चांदनी रात थी सब कुछ साफ साफ दिखाई दे रहा था मै जान रही थी की मामा सब देख रहे होंगे. लेकिन चुप चाप सर निचे कर के पिसब कर लिया. और थोडा सा पिसाब अपनी पजामी पर भी कर लिया. ताकि पजामी खोल सकू. फिर कड़ी होकर अपनी पजामी चढ़ाया. और आकर अपने बिस्तर पर बैठी. और मामा को जगायी . मामा देखिये न मेरी पजामी भींग गयी है. निचे चलिए मै बदल लूँ. मामा ने कहा नींद आरही है. सो जाओ. मैंने अपनी पजामी को टांग कर. बिस्तर पर लेट गयी. मै सोने का नाटक करने लगी. थोरी देर तक मामा ने इंतजार किया . फिर मेरी तरफ खिसक आये. और मेरे मम्मो को अपने हाथ से टच करने लगे. मुझे गर्मी आने लगी थी मेरा  मन तो कर रहा था की मै अपने टॉप और ब्रा को खोल कर अपने मम्मो को मामा के हाथ में पकड़ा दूँ ? लेकिन डर लग रहा था इसी तरह मामा को भी डर लग रहा था . फिर मामा ने अपना हाथ मेरी पेंटी के ऊपर रख दिया. अब तो मुझसे रहा नहीं जा रहा था. मामा मेरी चूत के ऊपर हाथ फेर रहे थे. मै बहुत गरम हो गयी थी. उसके बाद मामा ने अपना लंड जांघिया से निकल कर मेरे हाथ से सटा दिया. और मेरी चूत पर हाथ फेरने लगे. फिर मेरी पेंटी को साइड से हटा कर मेरी चूत के होठो को सहलाने लगे. मेरे पुरे  शारीर में करंट दौड़ रहा था . मै बिलकुल उत्तेजित हो गयी थी. मै करवट बदली   और अपने चुत्तर को मामा के तरफ कर दिया. थोरी देर बाद मामा फिर से सुरु हो गए वे  फिर मेरी चुत्तर में अपना लंड चुभाने लगे. अबकी बार रहा नहीं गया मामा से. थोरी देर बाद मामा ने मेरे चड्ढी निचे सरका दिया. और अपना लंड मेरे चूत पर रख कर धकेलने लगे . लेकिन वह  भीतर नहीं जा रहा था. इसलिए मामा ने मेरे चूत पर थूक लगाया,और अपने लंड में भी थूक लगाया और इसबार धक्का लगाया तो  उनका सुपाडा मेरे चूत में घुस गया. लेकिन मुझे दर्द हुआ और मै उठ कर बैठ  गयी. और  नखड़ा कर बोली. मामा ये क्या कर रहे हो. मामा ये क्या कर रहे हो ? मै बड़े मामा से बोलूंगी की आपने मेरे जैसे बची के साथ ये सब किया है. .

तो मुझे लगा की तुम ये सब करवाना चाहती हो. इसीलिए तुमने अपना पजामी खोल कर. मुझसे सट कर सोयी. इसलिए मैंने ये सब किया. तब मैंने सारी बात बताई की मुझे पिसाब लगा था. लेकिन निचे जाते समांय मुझे लगा की कोई भूत है जो मेरा पीछा कर रहा है. इसलिए मैंने ऊपर ही पिसाब किया . पिसाब करते वक़्त मेरा पजामी गिला हो  गया  तो मैने पजामी खोल दिया और डर के कारन मैंने अपना बिस्तर आपके बिस्तर से सटा लिया था. मैंने भूत के डर से ऐसा किया था नाकि कुछ करवाने के लिए,

मामा ने मेरी कमजोरी पकड़  ली और बोले हा यहाँ तो बहुत भूत रहते है ठीक है तुम ऊपर सो जाओ. अपने आप पता चल जायेगा  मै गलत किया या वो करेंगे. उनका लंड मुझसे चार गुना बड़ा है और वो पता चला ही देंगे की तुम बच्ची  हो या …… मेरे गाँव में तो कई लड़कियों की मौत हो गयी है भूत से चुदवाने के  चक्कर में . ठीक है मै निचे जाकर सोता हूँ . और उठ कर जाने लगे तो मैंने कहा प्लीज मामा ऐसा मत करो. मुझे डर लग रहा है. तो मामा बोले अगर मै यहाँ रहूँगा तो तुम्हे मुझसे चुदवाना पड़ेगा और ये बात तुम भैया से भी नहीं बताओगी. बोलो मंजूर है ? मै चुप चाप खड़ी रही. तो  मामा फिर  से जाने लगे. मैंने कहा ठीक है लेकिन मुझे दर्द होता है. तो मामा ने कहा ठीक है अब मै तुम्हे दर्द नहीं होने दूंगा. उन्होंने कहा अपनी सरे कपडे उतर दो और लेट जाओ . मैंने वैसा ही किया. फिर वो मुझसे खेलने लगे .पहले मेरे बूब्स को चूसा,नुझे चूत में गर्मी आने लगी ववॊऒओ. श्ह्ह्ह्ह्ह…श्ह्ह्ह्ह ..

तेरा भोसड़ा आज से फ्री

फिर मेरे चूत को चूसने लगे . ये कम तो मेरे अंग अंग को कमोतेजित कर दिया. मेरी चूत में पानी आने लगा. मुझे लग रहा था. जब आर्यन मामा मेरे चूत में अपना जीभ  रगड़ते  मुझे लगता मै कैसे आर्यन मामा के लंड को अपने चूत में घुसा दूँ ? मैंने कहा आर्यन कहा गया तेरा लंड मेरी चूत ढूंढ रही हैं उसे ? बहुत बेचैन था. चोदने के लिए अब क्या हो गया ? चोद ना मुझे. फाड़ दे मेरे चूत को. जल्दी लगा अपना लंड मेरी चूत में . अब कितना भी दर्द होगा मै सह लुंगी. अब मामा ने अपने लंड में पूरा थूक लगाया और मेरी चूत में भी पूरा थूक लगाया. पूरी तरह से चूत को भिंगो कर. मामा ने अपना लंड धीरे से  मेरे चूत पर रख कर  जोर लगाया. उनका लंड मेरे चूत के समंदर में डुबकी लगाने लगा. करीब १५ मिनट अन्दर बहार करने के बाद मामा ने अपना सारा मॉल मेरे अन्दर ही निकल दिया . अपने अन्दर मॉल पाकर मै धनि हो गयी. मुझे  बहुत मज़ा आया…… मैंने कहा आर्यन मामा तुम जब चाहो मुझे चोद सकते हो . तुम्हारे लिए मेरी चूत आज से फ्री ….

सुबह बड़े मामा जल्दी ही आ गये और आवाज़ लगाने लगे . मै जल्दी जल्दी  कपड़ा  पहनी और निचे आकर दरवाज़ा खोली. बड़े मामा ने कहा आरती कितनी देर कर दी. कितनी देर से चिल्ला रहा हूँ ? आर्यन कहा है ? मैंने  कहा. छत पर होंगे. मैं पिसब करने बाथरूम में गई थी. बड़े मामा छत पर जाकर आर्यन मामा को जगाया. बाद में मुझे ध्यान आया की हमलोगों का बिस्तर तो एक  साथ ही लगा हुआ था. मामा को कही सक न हो जाये खैर उन्होंने कुछ नहीं कहा. लेकिन हम लोगो पर पूरा  ध्यान रखने लगे. जब भी हम लोग एक साथ होते या बात करते तो वे एक आदमी को बुला लेते और कोई काम बता देते . लेकिन इसके बावजूद आर्यन मामा जब भी मुझे अकेले पाते मेरे चुचियों को मिस देते. ऐसे ही एक हफ्ता बीत गया. अब तो मामी के यहाँ शादी का भी समय आगया. मै समझी अब तो बड़े मामा जाएँगे ही और हमलोगों को अकेले मज़ा करने का मौका मिल जायेगा. लेकिन हुआ कुछ उल्टा. बड़े मामा ने  कहा आर्यन तुम अपने भाभी  के यहाँ . शाम को जल्दी चले जाना . वह से फ़ोन आया था. मैंने तुम्हारे भाभी को कह दिया   है  आर्यन जा रहा है. ,क्यूंकि वहां ३-४ दिन का प्रोग्राम है . और यहाँ कोई दूध दुहानेवाला  भी नहीं है,अगर मै गया तो वे लोग जल्दी मुझे नहीं छोड़ेंगे. आर्यन ने कहा ठीक है भैया. क्यूंकि आर्यन मामा भैया के शालियों के साथ भी खेलते थे. उस समय करीब ११ बज रहा था. मै  नहाने के लिए जा रही थी. आर्यन मामा ने कहा. आरती अब तो मै जा रहा हूँ . एक बार आज दे दो न ? मैंने कहा नहीं बड़े मामा देख लेंगे तो. उन्होंने कहा ठीक १० मिनट के बाद तुम बाथरूम में घुसना. मै वहीँ रहूँगा. पहले देख लूँ. भैया कहाँ है?

१० मिनट के बाद जब मै बाथरूम में घुसी तो आर्यन मामा वहीँ पर थे. उन्होंने तुरंत मेरे चुचिओं को मसलना सुरु कर दिया. और कहे अपने कपडे उतारो. आज मै तुम्हे नहालौंगा  . मैंने अपने कपडे उतर दिए. और बिलकुल नंगी  हो गयी. आर्यन मामा ने फिर से मेरे चुचियों को चुसना चालू कर दिया. फिर मेरी चूत में खलबली मचने लगी. मैंने आर्यन मामा के लैंड को सहलाना सुरु कर दिया. उनका लंड एक दम टाईट  हो गया था. मैंने कहा आर्यन जल्दी से इसे मेरे चूत में डाल दो तो मामा ने कहा नहीं. आज मै तुम्हारा गांड मरूँगा. और वो मेरे गांड में साबुन का झाग लगाने के बाद अपनी अंगुली मेरे गांड के अन्दर घुसाने लगे . थोड़ी  देर एक उंगली घुसाने के बाद फिर साबुन का झाग लगाये. फिर दो उंगली घुसाने लगे. और अन्दर बहार करने लगे. थोड़ी  देर बाद फिर साबुन का झाग लगाने लगे फिर तिन उंगली घुसाने की कोशिश करने लगे. अब मुझे दर्द होने लगा. मैंने फट से उनकी उंगली  बहार कर दी. तब उन्होंने अपने लंड पर पूरा झाग  लगाया और मेरे गांड  में भी पूरा झाग लगाकर अपने लंड को मेरे गांड  पे रख कर जैसे ही धक्का लगाया. और अभी उनके लंड का सुपाडा घुस ही होगा की बड़े मामा ने आवाज़  लगा दी आर्यन. आर्यन. मामा बाथरूम के बहार से ही बोल रहे थे. मैंने कहा मामा मै नहा रही हूँ. मामा ने पूछा आर्यन कहाँ है. तो मै बोली वो गायों को चारा देने गए है,तो मामा बोले नहीं मै अभी वही था. वो नहीं है. तो मै बोली. शायद गाँव में गए  हैं. तो वे बोले ठीक है मै देखता हूँ और मामा चले गए. आर्यन मामा निकले और पीछे के दरवाज़े से गाँव में चले गए. मैंने जैसे ही अपना सर ऊपर उठाया मै समझ गयी बड़े मामा ने सब कुछ देख लिया है. क्यूंकि  बाथरूम के ऊपर छत  नहीं था. घर के छत से सब कुछ साफ साफ बाथरूम का दिखाई दे रहा था. बड़े मामा छत पर थे और उनके हाथ में  मोबाइल था. वो मोबाइल में कुछ देख रहे थे,मै जल्दी से दिवार की तरफ  छिप गयी. और बाल्टी में पानी लेकर नहा कर. कपड़ा पहनने के बाद बहार निकली,

मामा ने फिर पूछा आर्यन कहा है. तो मैंने कहा शायद गाँव में गए है.  मामा बाथरूम में घुसे. देखने के बाद बहार निकल गए. आर्यन को फ़ोन लगाया तो आर्यन मामा ने कहा की अपने दोस्त के यहाँ है उन्हें १.२ घंटा लगेगा. मामा वरांडा में बैठ गए और खाना लाने  को कहा . मै खाना लेकर गयी. मामा खाना खाने लगे. मै डर से रूम में चली  गयी. मामा ने बुलाया और कहा बैठो. सच सच बताओ तुम लोगो ने क्या काया किया है ?  तो  मैंने कहा कुछ नहीं किया है. मामा ने कहा सच बोल रही हो . तो मैंने कहा हाँ बिलकुल सच बोल रही हूँ. तो  मामा ने अपना मोबाइल निकल कर एक विडिओ खोल कर मुझे पकड़ा दिया. ये देखो. मैंने देखा तो रोने लगी. और बोली मामा मैंने ये सब जन बुझकर नहीं किया है. आर्यन मामा ने मुझे भूत  से डराकर  जिस  रत आप नहीं थे. मुझे चोद दिया और बोले किसी को मत बताना . बस यही बात हुयी है उसके बाद आज ही मै बाथरूम में चुदवाने जा रही थी. तबतक आपने आवाज़ लगादी और आर्यन मामा भाग गए. मै रोने लगी और बोली मामा प्लीज आप किसी को बताइयेगा मत आप जो कहेंगे मै करुँगी . मामा बोले मी तुम्हारे मम्मी पापा को दिखाऊंगा तो मै रोने लगी. तो मामा बोले चुप हो जाओ. आर्यन को जाने दो फिर  मै तुमसे बात करता हूँ . तुम आर्यन  को मत बताना  की मैंने तुम्हे ये सब बताया है,

. मै बहुत   डर गयी थी. जा कर रूम में चुप चाप  सो (लेट ) गयी. लगभग १/२ घंटे बाद आर्यन मामा आये तो इशारो में मुझसे पूछा. क्या हुआ मैंने इशारो में ही जबाब दिया कुछ नहीं. आप बहार जाइये. तब तक बड़े मामा ने आवाज़ लगाई आर्यन . तो आर्यन मामा दौड़कर बहार गए. हाँ भैया . बड़े मामा बोले जल्दी से तैयार होकर जाओ. तुम्हारे भाभी का फ़ोन आया था.  पूछ रही थी कबतक आपलोग आ रहे हैं ? मैंने  कह दिया है आर्यन १-२ घंटे में पहुच जायेगा. इसलिए जल्दी तैयार होकर चले जाओ. आर्यन मामा नह्धोकर तैयार होकर बाइक  निकला और चले गए. आर्यन मामा के जाने के बाद बड़े मामा ने बुलाया और बोले जाकर में दरवाज़ा बंद करदो. फिर पूछे रात को भूत आया था क्या ? मैंने कहा नहीं. रात को जब मुझे पिसाब लगा था. तो मै पिसाब करने निचे आरही थी. तो मुझे लगा कोई  मेरे पीछे आरहा है. मैंने पीछे मुड़कर  देखा तो कोई नहीं था लेकिन कुछ आवाज़ आरही थी. मै डर गयी और ऊपर भाग गयी. मैंने ऊपर ही पिसब किया. मेरा पजमि भिंग गया था. इसलिए मैंने उसे खोल दिया. और पेंटी   में ही सोयी थी. की आर्यन मामा ने मेरी पेंटी खिसका कर. आर्यन मामा ने मेरी चूत में अपना सुपाडा घुसाया ही था. की मै जग गयी और उन्हें रोक दिया की ये क्या कर रहे है? मै बड़े मामा को बोल दूंगी तो बोले तुमने तो चुदवाने के लिए ही अपना पजमि खोल था और मेरे बगल में सोयी थी . तो मैंने उन्हें भूत के डर  वाली बात बताई  तो वे बोले ठीक है तुम अकेले सो जावो रात को भूत आकर तुम्हारे चूत को ओखली बना देंगे. तब तुम्हे पता लगेगा की मेरा ये लंड ठीक है या उनका. मेरे से चार गुना बड़ा लौंडा है उनका.  ठीक है. उन्होंने कहा हमारे गाँव की कई लड़कियां   भूत से चुदने के कारण मर गयी हैं. और वे उठा कर जाने लगे. मैंने उन्हें रुकने के लिए कहा तो वे बोले अगर उनके साथ सोना है तो चुदवाना पड़ेगा और आपसे ( बड़े मामा) बताना भी नहीं होगा. मै डर के कारण उनसे चुदवाई. तब बड़े मामा बोले. हाँ आरती हमारे गाँव में कई लडकिय भूत से चुदने के कारण मर गयी हैं. मेडिकल रिपोर्ट में आता है की ४-५” मोटा १०-१२” लम्बा लंड उनके बुर में घुसा है. जो की गाँव में किसी का नहीं है. इसलिए कोई भी लड़की अकेली  छत पर नहीं सोती है. खैर छोडो तुम पहले अपना चूत मुझे दिखाओ कही आर्यन ने फाड़ा तो नहीं है. नहीं तो मै अपने बहन को क्या जबाब दूंगा. मैंने अपना पजमि और पेंटी खोल दिया और बैठ गयी. मामा बोले ठीक से बैठो  और दोनों पैरो को खोलो ताकि साफ साफ दिख सके की. फटा तो नहीं है. मेरी झांट देख कर वे बोले ये साफ नहीं करती क्या. रात को मेरा रेज़र लाना मै साफ कर दूंगा. फिर उन्होंने मेरे चूत के लिप्स को फैलाया  और देखे. बोले हा ठीक है फटा नहीं है. और बोले आर्यन का लंड ज्यादा मोटा नहीं है न ? मै बोली हाँ . तो वे बोले मेरा भी ज्यादा मोटा नहीं है. और बोले खुदा का शुक्र है तुम्हारा फटा नहीं है. नहीं तो मै अपने बहन को  क्या जबाब देता. मैंने कहा क्या मम्मी आपसे ये सब पूछती है? तो वे बोले हाँ. अच्छा जब तुम आ रही थी तो तुम्हारे मम्मी ने तुम्हे नयी पेंटी देते हुए कहा था न की देखो बेटी आज कल ज़माना ख़राब है. अपना ध्यान रखना और चुदाना मत. तो तुमने कहा था आपको मुझपे बिस्वास नहीं है क्या ?. मै चक्कर में पद गयी. यह  बात इनको कैसे जानकारी है क्या मम्मी इन्हें ये सब बताती है ? वे बोले हाँ इसके पीछे एक कहानी है  तुम्हारे मम्मी और मेरी  कहानी,

मैंने मामा से पूछा क्या मै कपडे पहन लूँ ? मामा ने कहा हाँ पहन लो. मैंने कपड़ा पहन लिया और पूछी मामा,क्या कहानी है आपकी और मम्मी की प्लीज बताईये ना. तुम्हारी मम्मी को सबसे पहले मैंने ही चोदा है. जब वो १० वीं में पढ़ती थी . उनका एग्जाम था . मैं ही उनको एग्जाम दिलाने ले गया था. वो भी तुम्हारी तरह भूत से बहुत डरती थी. पहले ही दिन उनका मैथ का एग्जाम था. वो बहुत देर तक पढ़ती रही. मुझे नींद आने लगा. तो मै बोल दीदी मै सोता हूँ. तो वो बोली थोड़ी देर और कुछ सवाल बना लेती हूँ उसके बाद सो जायेंगे . लेकिन  मुझे नींद आरही थी मै सोने लगा. उन्हें  डर लग रहा था. उस समय मै उनको बाथरूम में चुपचुप कर देखता था ये बात उनको पता था. उन्होंने एक ट्रिक लगाया. बाथरूम में गयी अपनी सलवार को फाड़ लिया और पेंटी खोल दिया और इस तरीके से बैठी की उनका चूत दिखाई दे रहा था. अब मुझे जगाई. अमन उठो बिस्तर झाड़ने दो फिर सो जाना मै उठ कर बैठ गया फिर बाथरूम करने चला गया. जब वापस आया तो देखा दीदी का चूत एकदम साफ साफ दिख रहा रहा है . मै बैठ गया तो दीदी बोली. सो जाओ मैंने बिस्तर झाड़ दिया है. अब मुझे नींद कहाँ  आ रही थी. मै तो दीदी के चूत को ही देखकर बेचैन हो रहा था. दीदी का ट्रिक कम कर गया था. अब वो निश्चिंत हो कर सवाल बनाने लगी क्यूंकि मै अब जग गया था. लेकिन मेरा होस उड़ने लगा . मेरा लैंड टाइट होकर फुन्क्कार   मार  रहा था. और बोल रहा था मुझे अंडरवियर के भीतर नहीं रहना है. मै दीदी के बुर के बिल में समां के ही  छुपुंगा. मै भी बाथरूम में गया अपना कच्छा खोल दिया और पजामे के आगे थोर सा सिलाई खोल दिया. जिससे मेरा लंड बहार निकल सके. और आकर बिस्तर पर लेट गया . दीद सोची अमन सोने जा रहा है इसलिए उन्होंने अपना पैर थोडा  और खोल दिया. जिससे उनका चूत के  होठ फुले हुए दिखने लगे और खुलने के  लिए तैयार थे .  मेरे लंड से अब रहा नहीं जा रहा था वो पजामे से बहार आगया . और मैंने जान बुझकर भी निकल दिया तथा सोने का नाटक करने लगा. दीदी सोची कही मै सो तो नहीं रहा. इसलिए मेरे तरफ देखि तो मेरा लंड देख  बोली अमन तेरा फुन्नी बहार निकल गया है इसे अन्दर कर. मै बोला दीदी इ फुन्नी नहीं नाग का फन है और नाग देवता तुम्हारे बिल में समाना चाहते है. जो दिखाई दे रही  है. दीदी ने चट से एक थपड जड़ दिया. अपने दीदी से इस तरह की बात कर रहा है. मेरी चूत में तू अपना लंड कैसे डाल सकता है? मै तेरी बड़ी बहन हूँ. मैंने कहा. मुझे पता है तुम मेरी बड़ी बहन हो. इस लंड को क्या पता? अगर इसे पता होता तो ये इसको देख कर टाइट नहीं होता . पानी से गिला नहीं होता. छु कर देखो बिना थूक लगाये गिला हो रहा है,दुनिया में जब पहले आदमी औरत बने होगे तो उसके बच्चे  तो भाई बहन ही होंगे. क्या उन्होंने चोदा चोदी नहीं किया ? अगर नहीं करते तो हम लोग आज यहाँ नहीं होते.    दीदी  ने कहा कुछ भी हो हम लोग भाई बहन है. ये सब नहीं कर सकते. तो मैंने कहा ठीक है मै अभी यहाँ से चला जाऊंगा. और मै कपड़ा पहनने लगा. और पहनने के बाद दरवाज़ा खोल बहार निकलने लगा तो दीदी बोली पापा से क्या कहोगे. मै तुम्हारी कहानी बता दूंगी. तो मै बोला मै भी तुम्हारी कहानी बता दूंगा की तुम कैसे कपडे पहन कर पढ़ती हो. अगर मै तुम्हारा चूत नहीं देखता तो मै कभी भी तुमको लेने की जिद नहीं करता. अगर इस तरह. पापा भी तुम्हारी चूत देख लिए होते और तुम इतना खोल कर दिखाई होती तो वे भी अपना अगर पूरा लंड नहीं घुसता तो कम से कम सुपाडा तो डाल ही चुके होते. तुम्हारे बिल में. अच्छा अब मै जा रहा हूँ और  मै जा रहा हु. तुम देख लेना कोई भुत आ गया तो वैसे ही तुम्हारी चूत का बिल. बिल नहीं रह जायेगा. इसमे अजगर भी घुसाने लगेंगे. दीदी भुत की बात सुनकर डर गयी. और बोली ठीक है. अमन मुझे सोचने दो. थोडा सोचने के बाद तुम्हारी मम्मी ने कहा ठीक है लेकिन तुम्हे अपना  मॉल बहार ही गिरना होगा और एक बार के बाद तुम दुबारा नहीं चोदोगे और जब तक मै पढूंगी तुम जगे रहोगे और मेरा साथ दोगे . मैंने कहा ठीक है. अब तो मै पूरा खुश होगया. क्यूंकि आज तक मैंने किसी को चोदा नहीं था सिर्फ अपने दोस्तों से सुना था. चोदा चोदी के बारे में. मै बिलकुल नंगा हो गया.  और दीदी के पढ़ाई खत्म होने का इंतजार करने लगा . दीदी ने बहुत देर बाद अपनी पढ़ाई खत्म की और उसके बाद मुझे नंगा देखकर बोली.  इसे तो ढक  कर रखो. मैंने कहा दीदी अब तो ये आपके  अन्दर ही छुप जायेगा इसे ढकने की क्या जरुरत है ? उन्होंने कहा तुम्हे शर्म  नहीं आती ये सब बात करते हुए . मैंने कहा नहीं अब शर्म आएगी  जब  आपके बिल में अपना नाग देवता प्रवेश करेंगे. फिर मैंने तुम्हारी मम्मी को भी  बिलकुल  नंगा कर दिया. और तुम्हारे मम्मी को ऐसा चोदा की उसके बाद तुम्हारी मम्मी खुद ही चुदवाने के लिए बेचैन रहने लगी. हमलोग जितने दिन वहा पर एग्जाम केलिए रहे. लगभग हर रोज़ चार बार चुद्वाइ तुम्हारी मम्मी. मुझसे.  और उसके बाद जब तक दीदी की शादी तुम्हारे पापा से नहीं हुयी. मै ही उन्हें चोदता रहा. और बहार किसी को पता भी नहीं चला. उसकी इमेज बहार बहुत अच्छा था क्यूंकि वो किसी को नज़र  उठाकर देखती भी नहीं थी. गाँव के सरे लोग आज भी दीदी की  शालीनता और सभ्यता की  मिशल देते है. इसके बाद मामा बोले अभी  मै  गायों  को देखने जा रहा हूँ. रात को तुम्हे बहुत कुछ सिखाऊंगा,

मैंने शाम को जल्दी जल्दी खाना बना कर . छत पर बिस्तर लगा दिया. और  निचे आकर मामा को बोली  मामा खाना खा लिजिये. तो वे बोले अभी तो साढ़े सात बजा है.  इतनी जल्दी. मैंने कहा हाँ आज जल्दी ही खा लीजिए न प्लीज. मै दिन में सोयी नहीं हूँ आज जल्दी सो जाउंगी. तो वे बोले ठीक है.  मै ज़रा गायों को देख कर आता हूँ. गायों को देख  कर आने  के बाद मामा ने सारे दरवाज़े अछि तरह से बंद कर लिया और बोले खाना छत  पर  ही ले चलो. वहीँ पर खाने के बाद सोएंगे. मै बोली ठीक है दोनों लोगों  का खाना मै छत पर लेकर चली गयी . मामा ने मेरी पीठ थपथपाई. और बोले तुम तो बहुत समझदार हो. मै कुछ नहीं समझी?  तो मामा ने बोला तुमने बिस्तर पहले ही लगा दिया है. वो भी एक साथ. मै समझ गयी मामा क्या सिखाने वाले हैं. खाना खाने के बाद मै बोली मामा मुझे अकेले निचे जाने में डर लगता है. प्लीज आप भी चलिए ना ? तो मामा बोले मै सीढ़ी में खड़ा हु. तुम बर्तन  रख कर आ जावो. मै निचे गयी और बर्तन रखा और अपना सारा कपड़ा भी खोल  कर नंगी ही आ गयी. साथ में मामा का रेज़र भी लेते आयी. मामा ने जब मुझे पूरा नंगा देखा तो बोले. तुम बिलकुल अपनी मम्मी की तरह हो. मैंने उनको रेज़र पकड़ा दिया. और बोली मामा प्लीज मेरे झांटो को साफ कर दीजिये  ना?  मामा ने मुझे सुला कर. फिर बैठा कर. आगे पीछे सब तरफ से मेरे सारे बाल साफ किये. यहाँ तक की कांख के भी.  जब वो साफ कर रहे थे. उस समय  मै उनके शर्ट. फिर बनियान. फिर  पजामा. फिर कच्छा. सब खोल दिया. और उनके लंड को पकड़ कर सहलाने लगी. मैंने कहा मामा आपका लंड तो आर्यन मामा से भी छोटा   है. तो वे बोले हाँ तभी तो तुम्हारा बुर भी नहीं फटेगा और मज़ा भी आजायेगा.  थोड़ी देर में उनका लंड गरम होने लगा. और बड़ा होने लगा. वो ज्यादा मोटा तो नहीं था. लेकिन आर्यन मामा से बड़ा जरुर होगया. मैंने कहा मामा आपका लंड तो आर्यन मामा से बड़ा है सिर्फ ठंडा रहने पर छोटा लगता है,तो मामा बोले लेकिन उससे मोटा तो नहीं है. तुम्हारी गहराई भी बहुत है. इससे बड़ा भी तुम खा सकती हो. मोटा होने पर सिर्फ तुमको दर्द होगा. अभी ये एक दो  इंच और बढेगा जब तुम इसे चुसोगी. सब बाल साफ करने के बाद मामा मुझे लेकर निचे आये और अपने हाथो  से साबुन लगा  कर नहलाया. फिर दोनों लोग नंगे ही ऊपर आये. मामा ने सबसे पहले अपने होठो से मेरे होठो को चुसना सुरु किया. और अपने हाथो से मेरे मम्मो को सहलाते रहे. जब मामा मेरे होठो को चूस रहे थे तो मुझे लग रहा था की मै जन्नत की सैर कर रही हूँ. धीरे धीरे वे मेरे मम्मो को दबाना भी सुरु कर दिए थे. मुझे बड़ा मजा आ रहा था. अब उनका हाथ मेरे चूत पर चला गया. और उनका होठ मेरे चुचियों के निप्पलस पर आ गया. जब वो मेरे निप्पल को धीरे से काटते  और और मेरे चूत को पकड़ कर दबा देते तो मेरे मुह से आअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह की आवाज़ निकलने लगाती. अब वे मेरे चुचियों को भी चूसने लगे थे. और अपनी उंगली मेरे बुर में घुसाने लगे . मेरे चूत गीली  होने लगी थी. इसलिए बड़े आराम से उनकी एक उंगली मेरे घी के डिब्बे में चली जा रही थी. मामा को पता चल गया मै गरम हो गयी हूँ . उन्होंने अपना सर मेरे पैरों की तरफ किया . और मेरे चूत को खोल कर उसे चटाने लगे. जब वे मेरे चूत के होठो को पकड़ते. मुझे लगता मेरी पिसाब निकल जाएगी. मेरे मुह से ईस्स्स्स्स्स्स्स्स्श्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह . ऊऊऊऊऊऊऊऊऊह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह की आवाज़ निकलने लगी. अब पूरी तरह तैयार थी. लेकिन मामा अब ६९ पोजीशन में होगए और मुझे अपने जीभ से चोदने लगे. मुझसे भी नहीं रहा गया. मै भी उनके लंड को अपने मुह में लेकर चूसने लगी.  उनका लंड सही में २’ और बड़ा हो गया. जब वे अपना जीभ मेरे चूत में डालते मुझे लगता. अब मै मर जाउंगी. मुझे और अन्दर तक चाहिए था. लेकिन मामा का जीभ तो छोटा था. मुझसे जब नहीं रहा गया मैंने कहा . अबे अमन के बच्चे अपना लंड डालना है तो डाल अन्दर नहीं तो. सर हीं घुस दे. मामा समझ गए की मै बिलकुल गरम हो गयी हूँ. जब  वे मेरे बुर के होठो को चूसते मुझे बहुत अच्छा लगता और मै उन्हें गली देने लगाती. अबे अमन तेरा लौंडा तो मेरे बुर को छु भी नहीं प् रहा है. तुझसे  कुछ  नहीं होगा. दम है तो इसे मेरे अन्दर आने दे. वो जन कर और मेरे बुर के होठो को कटते. मुझे और गरमी चढ़ती. और मै बोलती अमन तेरा  लंड ठंढा हो गया क्या ? अब तो मै तुझे पूरा  अपने अन्दर ले कर पैदा कर सकती हूँ. बोल घुसेगा मेरे अन्दर ? अब वो समझ गए अब मुझे चोद सकते हैं. इसलिए उन्होंने मेरे पैरों को अपने कंधो पर उठाया. मेरी चूत खुल कर उनके सामने आ गयी. फिर उन्होंने अपने लंड का सुपाडा मेरे चूत के होठो पर रखा और धीरे से धका लगाया तो अन्दर की वोर सरक गया. मुझे लगा जन्नत मिल गई है. मै उनके लंड को खाने लगी. और वो धक्का लगाने लगे. उनका लंड अन्दर बहार होने लगा. मेरी बुर उनके लंड पर बिलकुल  पकड़  बनाये  हुयी थी. लग रहा था. मेरे चूत में एकदम सही साइज़ का पिस्टन  अन्दर बहार हो रहा है. बिलकुल टाइट था लेकिन चूत की पानी उसपर मोबिल आयल का काम कर रही थी . और फिसलने में पूरी सहायता कर रही थी .   उनहोने   करीब   180-200 धक्का लगाया   तब जाकर  उनका पानी निकलने को हुआ तो वे बोले आरती   अब गिराने वाला है अन्दर गिराऊ  या बहार तो मै बोली मामा अन्दर ही गिरना नहीं तो मेरी चूत से जो पानी निकल है . उसका भरपाई कैसे होगी . तो मामा बोले ठीक है अन्दर ही गिराता हूँ  कल  दवाई  दूंगा खा  लेना . अब जाकर मुझे पता लगा की एक एक्सपीरियंस आदमी का लंड खाने में क्या मजा आता है ?

Free Full HD Porn - Nude Images - Adult Sex Stories

Related Post & Pages

Beautiful Indian House Wife Spicy Romance With Hot Young Man Porn Beautiful Indian House Wife Spicy Romance With Hot Young Man Full HD Porn and Nude Images indian wife fucking porn,wife porn,nude indian wife ful...
जबरदस्ती चोदा भाभी की छोटी बहन को - कमरे में उसकी ‘आह.. उह्ह..’ की आवा... दोस्तो, मैं एक जवान हट्टा-कट्टा युवक हूँ और अपने परिवार के साथ रहता हूँ। मैं बहुत दिनों से अपनी भाभी की छोटी बहन निशी को चोदने की ताक में था। निशी ए...
Sexy teen with big natural boobs loves fucks on amateur - Hot sporty b... Sexy teen with big natural boobs loves fucks on amateur - Hot sporty big natural breast babe fucking hard
चूत में बेस बोल का बेट गुसाते हुए baseball bat inside the pussy and fi... Inserting baseball bat inside the pussy and fingering scenes big tits angel Mind blowing hard sex big boobs Full HD Porn and Nude Images Insertin...

Indian Bhabhi & Wives Are Here

Bollywood Actress XXX Nude