loading...
Get Indian Girls For Sex
   

142154_04big

हाय गाईज हाव आर यू, हियर वन्स अगेन एट यू आर एंटरटेनमेंट आज में एक वाकया सुनाने जा रहा हूँ, जो आज से ६ माह पुरानी बात हे. में एक ट्युशन क्लास क्लर्क का काम करता था सुबह ६ बजे क्लास खोलना पड़ता था. पूजा करके मेरे बॉस क्लास में पढ़ाने चले जाते थे. में उनके घर पानी लेने जाता, ये मेरे रोज का काम था. बॉस की बीवी निर्मला भाभी को में भाभी कहकर बुलाता था. वो बड़ी सुन्दर थी, ५.२’ हाईट थी गोरा रंग लम्बे बाल ३६ की साइज के बाल थे, उनकी पतली कमर, चौड़ी गांड थी. जब भी में उनके घर जाता में उनको देखता रहता था. वो भी मुज से अब घुल मिल गई थी. ऑफिस में आकर में भाभी के बारे में सोंच कर मुठ भी कभी कभी मार लेता.

एक दिन जन में सुबह पानी लेने घर गया तो देखा दरवाजा खुला था. में अन्दर चला गया, भाभी कहीं दिख नहीं रही थी. मेने सोंचा किचन में होगी, में किचन में जा रहा था बिच में बाथरूम का दरवाजा खुला था. मेरी नजर अन्दर गई. मेने देखा भाभी नहाकर आई थी वो सिर्फ टॉवल लपेटे हुए थी. उन्होंने भी मुझे देखा, मेरी और स्माइल की और दरवाजा बंद कर लिया. थोड़ी देर बाद वो साडी पहन कर बाहर आई, मेरा लंड ओल रेडी टाइट हो चूका था, उन्होंने ये बात नोटिस की, उन्होंने मुझे पानी भर दिया में क्लास में वापस आ गया.

दोपहर को बॉस ने कहा की घर से फाइल लानी हे. में घर गया भाभी ने दरवाजा खोला धुप बहोत होने की वजह से मुझे पसीना आ रहा था. भाभी ने कहा अन्दर आ जाओ पानी पी लो थोड़ी देर बेठ कर जाओ. में अन्दर चला गया भाभी पानी ले कर आई में पानी पि रहा था तब भाभी मुझे देख रही थी. थोड़ी देर बाद वो फाइल और २ ग्लास में सरबत लेकर आई. १ ग्लास मुझे दिया में सरबत पिते पिते उनकी और देख रहा था. उनके ब्लाउज में से उनकी चूचियां बहार आ रही थी. उनके पेट पे बाल पड़ रहे थे में ये सब देख रहा था. उन्होंने ये नोटिस किया मेने सरबत ख़तम किया ओर फाइल लेकर जाने लगा. उन्होंने पीछे से आवाज़ दी ‘सुनो अरुण’ मेने पीछे पलटकर कहा जी भाभी? उन्होंने मुझे बुलाया और पूछा “अरुण में दो तीन दिनों से कुछ नोटिस कर रही हूँ.

मेने कहा क्या भाभी ? उन्होंने कहा क्या देखते हो मुझ मे? क्या अच्छा लगा मुझमे? मेने कुछ जवाब दिया नहीं और मुस्कुराकर वहां से चल दिया. दुसरे दिन सुबह जब में पानी लेने गया भाभी नाईटी पहने हुई थी. मेने पानी का जग उन्हें दिया और में भी उनके पीछे किचन में चला गया. वो झुक कर पानी भर रही थी उनके बूब्स मुझे साफ़ नज़र आ रहे थे. उन्होंने देखा की में उनके बूब्स देख रहा हूँ.

उन्होंने पूछा “क्या देख रहे हो कभी औरत की छाती देखी नहीं क्या ?

में शरम से पानी पानी हो गया, मेने सॉरी कहा.

उन्होंने कहा “अरुण सॉरी मत कहो तुम्हे अच्छा लगता हे तो देखो मुझे कोई प्रॉब्लम नहीं,”

मेने कहा की भाभी आप हो ही इ