loading...
Get Indian Girls For Sex
   

 मेरे बड़े मधुर और निजी सम्बन्ध है समीरा आंटी से ?
मैंने एक दिन बड़ी बेबाकी और  बड़ी बेतकुल्लफी से पूंछा :- तेरी बेटी चोद लूँ, आंटी ?
वह बोली :- हां हां बड़े शौक से चोद लो ? पर एक बात है की मैं जब किसी की चुदाई देखती हूँ तो बहुत चुदासी हो जाती हूँ . ऐसे में तुम्हे मुझे भी चोदना पड़ेगा ? अगर तेरे लौड़े में इतना दम है तो तू बड़े मजे से चोद ले मेरी बेटी ? मुझे कोई ऐतराज़ नहीं है ?
मैं बोला :- हां हा आंटी मैं तैयार हूँ .
आंटी बोली :- सोंच ले एक बार फिर भोषड़ी के आरिफ ?  दो दो चूत एक साथ चोदने की दम है तेरे लौड़े में ? अगर है तो आजा खोल के अपना लण्ड ? मैं खोलती हूँ अपनी चूत ? और अभी तेरे सामने ही खोल देती हूँ अपनी बेटी की चूत ? हंसी मजाक की बात अलग है आरिफ , बड़ों बड़ों की माँ चुद जाती है दो दो चूत चोदने में ? लोगों की गांड फट जाती है माँ बेटी दोनों को एक साथ चोदने में ? सोंच ले पहले अगर तू नहीं चोद पाया तो फिर मैं कहाँ जाऊंगी चुदाने और कहाँ जाएगी मेरी बेटी चुदाने ? हम दोनों बिना चुदे कैसे रह पायेंगी ? इससे पहले की मैं कोई जबाब देता उसकी बेटी जोया आ गयी .
आंटी बोली :- अरी जोया तू कहाँ इतनी देर से अपनी माँ चुदा रही थी ? मैं जाने कब से तेरा इंतज़ार कर रही हूँ . जोया बोली :- मैं यही तो थी पड़ोस में,  अम्मी .
आंटी बोली :- पड़ोस में क्या गांड मरा रही थी की किसी का लौड़ा हिला रही थी तू  ?
जोया बोली :- आज तो अंकल थे ही नहीं तो लौड़ा किसका हिलाती ? तू मुझ पर पता नहीं इतना शक क्यों करती है  बहन चोद ? मैं जानती हूँ की तू किस किस का लौड़ा हिलाया करती है ? किस किस का लौड़ा चूसा करती है और किस किस से चुदवाया करती है ?