loading...
Get Indian Girls For Sex
   

Bhai bahan sex story

मेरी बहन का नाम सोनिया है उसकी उम्र 23 साल है, मेरी दीदी मुझ से 4 साल बड़ी है।
दीदी का रंग सांवला है लेकिन दिखने में बहोत सुन्दर है, दीदी एम ए की पढाई कर रही है और मैं बी ए की हम दोनों एक ही कॉलेज में पढ़ते है, हमारा घर इंदौर के पास एक छोटे से गांव में है। हम दोनों भाई बहन पढाई के लिए इंदौर शहर में किराये का मकान ले कर रहते है, मेरा नाम संजय है प्यार से सब संजू बुलाते है, मेरी उम्र 19 साल है। कहानी की सुरुवात तब हुई जब मेरी बड़ी बहन सोनिया बीमार हो गयी, तेज बुखार और उलटी की वजह से दीदी कमजोर हो गयी थी, मैं पास के डॉक्टर को घर बुला कर दीदी को दिखाया डॉक्टर ने दवाई दिया और आराम करने के लिए कहा दीदी का बुखार और उलटी रुक गया लेकिन कमजोरी की वजह से दीदी को चक्कर आने लगे। रात को मुझे दीदी ने आवाज दे कर उठाया और बोली उनको पेशाब जाना है लेकिन वो चक्कर आने की वजह उठ नहीं पा रही थी, मैं दीदी को बोला आप लेटी रहो मैं कुछ करता हु, मैं किचन गया और एक बड़ा कटोरा उठा कर ले आया और दीदी को बोला आप इसमें पेशाब कर दो मैं फेंक दूंगा। hindipornstories.com
दीदी मना करने लगी और बोली मुझे हाथ दे कर उठा और बाथरूम ले चल, मैं दीदी को गोद में उठा कर बाथरूम ले गया। दीदी ठीक से खड़ी नहीं हो रही थी, मैं उनको दीवाल पकड़ कर खड़ा होने को बोला दीदी बोली तू जा मैं पेशाब कर के तुझे बुला लुंगी लेकिन उनकी हालत ठीक नहीं थी मैं बोला,, मैं यही हूँ आप शर्माओ मत मैं उनकी सलवार का नाडा खोल कर निचे कर दिया और उनकी छोटी सी पेंटी को निचे कर दिया।

दीदी को धीरे से निचे बैठा दिया दीदी पेशाब करने लगी, मैं दीदी के के नंगे सरीरी को देखना नहीं चाहता था लेकिन पेशाब करने से सुरररररररर की आवाज आयी और मेरा ध्यान उनकी चुत की तरफ गया दीदी की चुत बिलकुल साफ़ थी चुत से पेशाब की धार निचे गिर रही थी। दीदी पानी देने को बोली मैं उनको पानी दिया वो अपनी चुत पानी से साफ़ कर ली, मैं उनको उठा कर पेंटी और सलवार पहना दिया..
उनको उठा कर बेडपर लाया और दीदी सो गयी, आज मज़बूरी में मुझे दीदी की चुत दिख गयी लेकिन मेरे अंदर सेक्स और जोश जैसा कुछ भी महसूस नहीं हुआ। ऐसे 10 दिन निकल गए और दीदी ठीक हो गयी और कॉलेज जाना सुरु हो गया। शाम को हम दोनों ने चाय पिया और बातें करने लगे दीदी बोली जब मैं बीमार थी तूने मेरा बहोत ख्याल रखा लेकिन मुझे नंगी भी देख लिया है तू ,, मैं बोला हा दीदी वो तो मज़बूरी थी अगर मैं बीमार होता तो आप भी यही करती। ऐसे ही कुछ दिन निकल गए एक दिन मेरी छुट्टी जल्दी हो गयी और मैं घर आया दरवाजे की 2 चाबी है एक मेरे पास और दूसरी दीदी के पास,, मैं दरवाजा खोल कर अंदर आया और मुझे हमारे कमरे से जहा मैं और दीदी सोते है कुछ आवाज सुनाई दी मैं डर गया मुझे लगा कोई चोर घर मे घुस गया है और मैं धीरे दबे पाओ दरवाजे के पास जा कर देखा,, अंदर एक लड़का पूरा नंगा बिस्तर पर लेता था और तभी मुझे मेरी दीदी दिखाई दी।

दीदी पूरी नंगी थी वो लड़का बेड पर नंगा लेटा था और दीदी सामने खड़ी नंगी नाच रही थी, मुझे मेरी आँखों पर भरोसा नहीं हुआ और मैं धीरे से वहा से निकल गया और दरवाजा लॉक कर के घर से बहार चला गया,, पास के गार्डन में बैठ गया। मेरे दिमाग में सिर्फ यही चल रहा था मेरी दीदी नंगी नाच रही है और वो लड़का नंगा लेटा है ये दोनों जरूर चुदाई करते होंगे। मुझे गुस्सा बहोत आया लेकिन थोड़ी देर बाद शांत हो गया और दीदी के नंगे बदन और की चुत को याद कर के आज पहली बार मेरा लंड उनके लिए खड़ा हुआ था। मैं एक घंटे बाद घर वापस गया घर का दरवाजा लॉक नहीं था मैं समझ गया चुदाई पूरी हो गयी है और वो लड़का चला गया होगा। मैं अंदर गया दीदी कमरे में लेटी हुई थी, मैं कपडे चेंज करके किचन गया और बिस्कुट का पैकेट निकाल कर खाने लगा बिस्कुट का पैकेट फेंके के लिए डस्टबिन खोला और बिस्कुट का पैकेट उसमे फेंक दिया जैसे ही मैं डस्टबिन बंद कर रहा था मेरी नजर उसमे पड़े पैकेट पर पड़ी और वो पैकेट कंडोम का था मैं वो पैकेट उठा कर खोला उसके अंदर 3 कंडोम थे जिसमे वीर्य भरा हुआ था,, मैं समझ गया दीदी तीन बार उस लड़के से चोदवायी है। वापस वो पैकेट वही रख कर मैं कमरे में गया दीदी मोबाइल चला रही थी

मैं अब यही सोच रहा था दीदी उस लड़के के जगह मुझ से चुदवाती तो कितना अच्छा होता, मैं दीदी और उस लड़के की चुदाई देखने का प्लान बनाया और ये सोचने लगा दीदी को कैसे चोदू। मेरी बड़ी बहन सोनिया को किसी लड़के के साथ नंगी देख कर मैं उसकी चुदाई देखने का प्लान बना रहा था।
दूसरे दिन मैं कॉलेज से जल्दी घर आ गया और पीछे का दरवाजा खोल कर बाहर गया और सामने का दरवाजा लॉक कर दिया,, कमरे में बेड के सामने की टेबल के निचे छुप कर बैठ गया। टेबल बेड के बिल्कुल सामने है और टेबल के ऊपर कवर डाला हुआ है, कवर पूरा निचे तक था जिसकी वजह से मैं उनको दिखाई नहीं देता,, मैं कवर में छोटा सा छेद कर दिया और दीदी की चुदाई देखने का इन्तजार करने लगा शाम हो गयी,, लेकिन आज दीदी और वो लड़का चुदाई करने नहीं आए।

दूसरे दिन मैं वैसे ही फिर से किया और टेबल के निचे बैठ कर इन्तजार करने लगा,, 1 घन्टे बाद घर का दरवाजा खुलने की आवाज आयी मैं शांत हो कर बैठ गया,, दीदी कमरे में आयी और वही लड़का दीदी के पीछे कमरे में आ गया। दीदी बोली संजू आज मेरी गांड में पहले डालना,, मैं संजू नाम सुन कर समझ गया उस लड़के का नाम भी संजय है और दीदी उसको संजू बुला रही है।  वो लड़का जिसका नाम और मेरा नाम एक ही है अपने कपडे निकाल दिया और चड्डी में खड़ा हो गया, दीदी उसका लंड चड्डी से निकाल कर हिलाने लगी संजू का लंड मोटा था लकिन मेरे जितना लम्बा नहीं था, उसका लंड मुश्किल से 5 इंच होगा। दीदी उसका लंड हिला रही थी और लंड के निचे लटकी गोटिया चाट रही थी वो लड़का दीदी के बाल पकड़ कर अपना लंड दीदी के मुँह में पेल दिया और दीदी के मुँह को आगे पीछे धक्के लगा कर चोदने लगा,, दीद के मुँह से लार टपक रही थी। थोड़ी देर बाद संजू रुका और दीदी को उठा कर उनके कपडे उतार दीदी को बेड पर लेटा दिया और दीदी की चूत चाटने लगा दीदी झटके लेने लगी,, अह्ह्ह्ह अह्ह्ह ओह्ह्ह उम्म्म करने लगी।

संजय दीदी की लिप्स चूसने और बूब्स मसलने लगा,, इधर मेरा लंड पूरा खड़ा हो गया था और चिपचिपा पानी निकलने लगा मैं अपने लंड को जीन्स से बाहर निकाल लिया और लंड का सुपाड़ा खोल कर चुदाई देखने लगा। वो लड़का दीदी को डॉगी स्टाइल में होने के लिया कहा और पीछे से उनकी गांड की छेद में थूक लगा कर लंड छेद से अंदर गांड में डालने लगा उसका लंड आराम से धीरे धीरे अंदर चला गया और वो धक्के मारने लगा। दीदी भी धक्के दे रही थी गांड चुदाई शुरू थी और पोरोच पोरोच थप थप थप की आवाज पुरे कमरे में सुनाई दे रही थी। दीदी के बूब्स मध्यम आकर के है,, निचे लटके बूब्स चुदाई के धक्कों के साथ आगे पीछे नाच रहे थे। 5 मिनट बाद वो लड़का दीदी की गांड से लंड निकाल कर लेट गया और अपने जीन्स की पॉकेट से कंडोम निकल कर दीदी के हाथ में दिया,, दीदी उसके लंड को थोड़ा चूसी और कंडोम चढ़ा दी,, संजू दीदी को अपने लंड के ऊपर बैठा लिया और दीदी गांड उछाल उछाल कर चूत में लंड गपा गप लेने लगी और अह्ह्ह्हह ओह्ह्ह्ह ओह्ह्ह ओह्ह्ह एहहहहह फच फच की आवाज फिर से कमरे में गूंजने लगी, 4 -5 के बाद वो दोनों शांत पड़ गए।

दीदी उसके लंड को चूत से बाहर निकाल कर उसका कंडोम उतार दी और कंडोम में गांठ लगा कर वही नीचे फेक दी,, दोनों नंगे लिपट कर सो गए। मैं टेबल के नीचे अपना लंड हाथ में लिए बैठा था और सोच रहा था आगे क्या करू? तभी उस लड़का का मोबाइल बजा और वो किसी से बात करने के बाद दीदी से बोला जरुरी काम है अभी जा रहा हूँ कल फिर मिलेंगे,, दीदी उसको चुम्मा दी और वो कमीना चला गया। अब मेरा समय आ गया था दीदी की चुदाई करने का मैं पूरा सोच लिया था दीदी चुदवाती है तो ठीक नहीं तो सॉरी बोल दूंगा वैसे भी दीदी किसी को बता नहीं सकती क्यों की उसकी चुदाई का राज मुझे पता था।
दीदी अपने कपडे उठा कर नंगी बाथरूम की तरफ गई और वीर्य भरा हुआ कंडोम वही भूल गयी, मैं टेबल के नीचे से बाहर निकला और कंडोम उठा कर अपने पास रख लिया। दीदी बाथरूम में थी लॉक करके नहा रही थी तभी बिजली चली गयी मैं जल्दी से पूरा नंगा हो गया और बाथरूम का डोर खटखटाया दीदी पूछी कौन है मैं चुप रहा ,, अँधेरा होने से कुछ भी दिखाई नहीं दे रहा था दीदी जैसे दरवाजा खोली मैं बाथरूम के अंदर चला गया और दीदी के भीगे हुए नंगे बदन को पकड़ कर चूमने चाटने लगा। दीदी बोली अरे संजू इतने जल्दी वापस आ गए तुम? दीदी मेरा साथ देने लगी और अँधेरे में मुझे लिपट कर मेरे ओंठ चूसने लगी। मैं तो संजू ही था लेकिन दीदी मुझे अपना बॉयफ्रैंड संजू समझ रही थी। मेरा लंड से चिपचिपा पानी जैसा निकल रहा था लंड का सुपाड़ा पूरा चिकना हो गया था मैं दीदी को अंदाजे से दीवार पर टिका कर उनकी एक टांग उठा चूत के पास लंड छेद में डालने की कोशिस करने लगा दीदी हंसी और बोली मेरी इतनी चुदाई करता है और अँधेरे में छेद भी नहीं ढूंढ सकता? दीदी अपने हाथ से लंड चूत की छेद से मिलायी और मैं धीरे से पूरा जोर लगा कर लंड उनकी चूत में डालने लगा मेरा लंड 7 इंच लम्बा है जो सररररररर से दीदी की चूत के अंदर उतर गया दीदी अह्हह्ह्ह्ह ओह्ह माँ करते हुए बोली अरे संजू इतना अंदर तेरा लंड पहली बार गया है। मैं खड़े खड़े दीदी की चूत को चोदने लगा इतने में बिजली आ गयी और दीदी मुझे देखकर हड़बड़ा गयी और धक्का देकर पीछे हटते हुए बोली संजू तू कब आया और यहाँ ऐसे क्यों? दीदी की नजर मेरे लंड पर गयी और वो मेरे लंड को देखते हुए चुप हो गयी।

मैं दीदी को सब बताया,, और बोला तुम उस लड़के से चुदवा लेती हो क्या मेरा तुम पर कोई हक़ नहीं है? दीदी बोली मुझे तेरे साथ सेक्स करने में कोई प्रॉब्लम नहीं है लेकिन तू मेरा भाई है,, मैं बोला तो क्या हुआ भाई होने के साथ मैं एक लड़का भी हूँ,, तुम अपने बॉयफ्रेंड को छोड़ दो मैं तुमको उससे ज्यादा प्यार दूँगा और खुस रखूँगा। दीदी बोली वो तो दिख रहा है तेरा लंड काफी लम्बा और मोटा है, इस लंड से चुदवा कर मेरी प्यास जरूर बुझेगी आज से तु मेरा बॉयफ्रेंड है, अब सिर्फ तू मेरी चुदाई करेगा। अभी तक आपने कहानी के पिछले भाग पढ़ लिए होंगे अब मैं आप को आगे की कहानी सुना रहा हूँ।
मैं और मेरी बड़ी बहन सोनिया दोनों नंगे बाथरूम में खड़े थे, मैं दीदी को पकड़ कर अपने पास खींच लिया। शावर चालू कर के शावर के नीचे दीदी की लिप्स चूसने लगा दीदी मेरा साथ दे रही थी, दीदी के लिप्स का स्वाद मुझे अच्छा लगा और मैं उनके मुँह के अंदर अपना जीभ डाल कर चूसने लगा दीदी भी मजे लेने लगी और मेरे लंड को पकड़ कर हिलाने लगी मैं दीदी के दोनों बूब्स को मसलने लगा थोड़ी देर बाद मैं दीदी के निप्पल को मुँह में ले कर दोनों दूध पिने लगा। शावर के निचे हम दोनो का भीगा बदन और हवस से सरीर की गरमी महूस हो रही थी, मैं निचे बैठ कर दीदी की चूत चाटने लगा और चूत के अंदर जीभ डाल कर चूत से टपकते पानी को पिने लगा। दीदी के चूत की खुसबू मदहोश कर देने वाली थी। hindipornstories.com

दीदी बोली अभी मुझे तेरा लंड चूसने दे, मैं खड़ा हुआ दीदी मेरे लंड को पूरा अंदर गले तक डाल कर चूसने लगी,, दीदी मेरी गोटिया चाट चाट कर लंड चूस रही थी। मैं दीदी को झुकने को बोला दीदी कमोट पकड़ कर झुक गयी,, मैं पीछे से दीदी की चूत में लंड डाल कर खड़े खड़े चोदने लगा। शावर से गिरता पानी हम दोनो के ऊपर पड़ रहा था और निचे चुदाई चल रही थी। चुदाई के साथ पानी लंड से होता हुआ चुत के अंदर बहार निकल रहा था पॉच पॉच पॉच पोर्च की आवाज से बाथरूम गूंज गया,, मैं अपने चुदाई की स्पीड बढ़ा दिया और जोर से चोदने लगा, दीदी अह्ह्ह उउउउउउउ मा अह्हह्ह्ह्ह चोदो और तेज चोदो अह्ह्ह और तेज संजू अह्हह्ह्ह्ह बोलते हुई थोड़ी देर में झड़ गयी। मैं लंड चूत से निकाल कर दीदी की गांड में डालने लगा लेकिन लंड अंदर नहीं जा रहा था। दीदी मेरे लंड पर थूक लगा कर बोली अब डाल, मैं गांड की छेद पर पूरा जोर लगा कर लंड अंदर पेल दिया और दीदी की कसी हुई गांड में लंड डाल कर 4-5 मिनट चोद कर झड़ गया। लंड दीदी की गांड से बाहर निकाल दिया दीदी बैठ कर थोड़ा जोर लगायी और उसकी गांड की छेद से मेरा वीर्य निकलने लगा।

हम दोनों नहा कर कमरे में आगए और बिना कपडे पहने तैयार हो गए,, दीदी बोली आज पूरी रात मुझे चोदना मैं खुस हुआ और बोला दीदी कुछ मजेदार करते है दीदी बोली ठीक है बता क्या करना है?  hindipornstories.com
मैं पिज़्ज़ा आर्डर किया साथ में कोल्डड्रिंक और चॉकलेट केक। थोड़ी देर बाद हमारा आर्डर आया और मैं कपडे पहन कर अंदर ले लिया। कमरे में जा कर फिर नंगा हो गया मेरी दीदी सोनिया और मैं दोनों बेड पर नंगे बैठ गए और पिज़्ज़ा कोल्ड ड्रिंक और केक सामने रख कर खाने की तयारी पूरी कर लिए। 

हम दोनों एक दूसरे को पिज़्ज़ा खिला कर कोल्ड ड्रिंक पिये पेट भर गया, मैं उठा और दीदी को बिस्तर पर लेटा दिया और उनकी बॉडी पर चॉकलेट केक निकाल कर लगा दिया लिप्स बूब्स और चुत पर केक लगा हुआ था, मैं दीदी के लिप्स चूस कर केक खाया और दीदी के निप्पल पर लगे केक को खाते हुए दीदी के निप्पल काट दिया। दीदी अह्ह्ह्हह्हह कमीना साला बोल कर मेरा लंड मरोड़ दी मैं अह्ह्ह्हह्हह दीदी आराम से कर टूट न जाये। दीदी मुझे बेड पर लेटने को बोली और मेरे मुँह के ऊपर बैठ कर चुत पर लगा केक अपने चूत से मेरे मुँह पर मलने लगी मैं चुत को चूसने लगा और पूरा केक खा लिया। सोनिया दीदी ढेर सारा केक लेकर मेरे पुरे लंड पर लगायी और धीरे धीरे आइसक्रीम की तरह मेरे लौड़ा चाटने लगी। थोड़ी देर में पूरा केक हम दोनों एक दूसरे के नंगे सरीर पर लगा कर खा गए। और रात को 4 बार चुदाई की। सुबह दीदी मुझे कॉलेज जाने के लिए उठाई और हम दोनों साथ में बाथरूम चले गए,, साथ में बैठ कर पेशाब किये,, दीदी कमोट पर बैठ गयी और पॉटी करने लगी,, दीदी के बाद मैं पॉटी किया उसके बाद हम दोनों साथ में ब्रश करके एक दूसरे को नहला दिए। दीदी बोली आज से हम दोनों बाहर जायेगे तभी कपडे पहनेंगे घर पर नंग रहेंगे और सब काम साथ में नंगे रह कर करेंगे ,, उसके बाद से आज तक 1 साल हो गए है हम दोनों डेली चुदाई करते है और नंगे रहते है कभी कभी दीदी बहुत जोश में आ जाती है और मेरे मुँह पर बैठ कर मूत देती है।

हाय फ्रेंड्स, आप लोगो का नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम में स्वागत है मैं रोज ही इसकी सेक्सी स्टोरीज पढ़ता हूँ और आनन्द लेता हूँ आप लोगो को भी यहाँ की सेक्सी और रसीली स्टोरीज पढने को बोलूंगा आज फर्स्ट टाइम आप लोगो को अपनी कामुक स्टोरी सुना रहा हूँ कई दिन से मैं लिखने की सोच रहा थाअगर मेरे से कोई गलती हो तो माफ़ कर देना

मेरा नाम गोविंद है। मैं अभी 21 साल का हुआ हूँ। मै देखने में बहुत ही खूबसूरत लगता हूँ। मेरे मोहल्ले की सारी लडकियां मरती हैं मुझ पर। लेकिन मैं भी किसी को लिफ्ट नहीं देता। मेरे एटीट्यूड को देख कर अच्छे अच्छे घर की लडकियां भी फ़िदा हो जाती हैं। लेकिन सच तो ये था कि किसी भी लड़की से बोलने से मेरे को डर लगता था। इसीलिए मैं कभी किसी लड़की को नार्मल फ्रेंड के अलावा गर्लफ्रेंड नहीं बना पाया। मेरे को एक लड़की इंटर में पसंद भी आई। उसके साथ थोड़ा नैन मटक्का भी हुआ। उसका नाम जानवी था। उसके पापा आर. टी.ओ ऑफिसर थे। उनकी पोस्टिंग कही और हो गयी। जानवी भी उन्ही के साथ चली गयी। मै उसके बड़े बड़े बूब्स पर ही फ़िदा हुआ था। उसकी चूंचियो को मैं आज तक नही भूल पाया।

मेरे नसीब में लग रहा था चूत की एक भी झलक देखनी नही लिखी है। लेकिन क्या पता था चूत और दूध के साथ गांड भी मेरे को मेरे घर में ही मिल सकती है। वो भी दीदी जैसी खूबसूरत लड़की की। वो भी अप्सरा लग रही थी। मेरा लंड दीदी को देखते ही मीनार बन जाता था। फ्रेंड्स ये बात कुछ ही दिन पहले की है जब मैंने अपनी दीदी से चुदाई करना सीखा। उनका नाम चारू है। वो बहुत ही हॉट और सेक्सी लगती है। उनके कसमसाती बदन को देखने में बहुत ही आनंद मिलता है। मै भी उनको खूब ताड़ता था। लेकिन मैंने अभी तक उनको चोदने की नजर से नहीं देखा था।  मै और चारु दीदी सभी लोग साथ में हाल में आ गए।कुछ मेहमान भी आये थे। दीदी ने बहुत ही जबरदस्त कपड़ा पहना था। कंधे पर उनके नेट वाला कपड़ा था जिससे उनकी ब्रा की पट्टियां अच्छे से साफ़ साफ़ पिंक कलर की दिख रही थी। लेकिन मुझे क्या पता था की आज इन्हें छूने का अवसर भी मिलेगा। मैने अभी तक किसी को नहीं चोदा था। मेरे अंदर चोदने की तड़प मुझमे कूट कूट कर भरी हुई थी। दीदी ने अपने इस रूप का दर्शन कराके मेरा लंड खड़ा कर दिया।

मेरा सिकुड़ा लंड बड़ा होने लगा। मुझसे अब रुका नहीं जा रहा था। मेरा लंड पैंट को फाड़कर बाहर आने को मचलने लगा। मेरी दीदी ये सब शायद देख रही थी। मैं वहाँ से किसी तरह से भाग कर बाथरूम में आया। 10 मिनट तक हाथ से काम चलाने के बाद मेरा माल निकल आया। सब माल निकाल कर थोड़ा रिलैक्स फील क़िया। उसके बाद मैंने पैंट पहना और फिर से सबके पास चला आया। अब मेरा लंड सिकुड़ चुका था। दीदी ने केक काटा। सभी लोग तालियां बजा कर हैप्पी बर्थडे टू यू……. कहने लगे। उसके बाद सब लोग खाना खाकर मजे से बात कर रहे थे। रात काफी हो चुकी थी। पडोसी और सारे मेहमान अपने अपने घर चले गए। घर पर मम्मी पापा ही थे। वो लोग भी थक हुए थे और अपने रूम में जाकर कुछ ही देर बाद सो गये। मुझे और दीदी को नींद ही नहीं आ रही थीं। हम दोनों लोग आज भी एक ही रूम में सोते थे।

दीदी: गोबिंद तुम्हे नींद आ रही है?

मै: नहीं दीदी मुझे नहीं आ रही आपको??

दीदी: मुझे भी नहीं आ रही है यार!!

मैं: दीदी चलो हम सब बात करते हैं।

दीदी का बिस्तर मेरे बिस्तर से दूर था।

दीदी: तेज बोलोगे तो आवाज होगी। तुम मेरे बेड पर ही आ जाओ।

मै: ओके दीदी!!

दीदी: और बताओ आज पार्टी में मजा आया।

मै: बहुत मजा आया। वो आपकी फ्रेंड निहारिका बहुत अच्छी लग रही थी।

दीदी: क्यों मै अच्छी नही लगती क्या??

मैं: अपनी तो बात ही न किया करो आपसे से भी कोई अच्छा हो सकता है क्या??? “आप तो करोडो में एक हो” ऐसा मैंने उनकी गुलाबी रंग की ब्रा की तरफ देखते हुए कहा।

दीदी: तुम्हारी नजर कहाँ है।

मै: कही नहीं। मैं तो दीवाल देख रहा था। मुझे डर लगने लगा।  

दीदी: गोबिंद मेरी पीठ में खुजली हो रही है।

मै: दीदी मै खुजला देता हूँ।

दीदी अपना पिछवाड़ा मेरी तरफ करके लेट गई। मै  खुजलाने लगा। उनकी ब्रा की पट्टियां मेरे हाथों में लग रही थी। मेरा लंड तो रॉकेट की तरह खड़ा होनेलगा। मै बहुत ही बेचैन होने लगा। हुक सहित मै पूरे ब्रा की पट्टियों पर हाथ फिराने लगा। वो मुझे देख कर हँसने लगी। मै “क्या बात है दीदी”

दीदी: देख लो मेरी पीठ पर लाल लाल तो नही हुआ है कुछ। मुझे अब भी खुजली हो रही है।

मै: नहीं दीदी आप जाकर शीशे में देख लो।

दीदी: देख लो यार आज मुझे मना न करो मेरा बर्थडे है।

इतना कहकर उन्होंने अपनी नेट वाली टी शर्ट को उठाकर गले पर कर लिया। मुझे सब कुछ साफ़ साफ़ दिख रहा था। उनका मुह टी शर्ट से ढका हुआ था। मैंने उनके गोरी गोरी चूंचियों को देखने के लिए अपना आगे भी देखने लगा। आगे की चूंचियो को देखकर मैं पीछे की खुजली की बात करने लगा। उनकी गोरी चूंचियो को देखकर मैंने कहा: दीदी सब नार्मल है। कही एक भी दाग नहीं नजर आ रहा।

दिल तो कर रहा था। अभी इन बड़े बड़े मम्मो को काटकर खा जाऊं। मेरी नजर ही वहाँ से नहीं हट रही थी। दीदी ने अपने टी शर्ट को मुह से हटाया। तो मेरे को  चुच्चो को ताड़ते हुए देख ली।

 मैंने कहा: दीदी मै अभी इधर एक कीड़े को जाते देखा था। पता नही कहाँ गायब हो गया!

दीदी ने कहा: मुझे इस टी शर्ट में खुजली हो रही है। मैं इसे निकाल देती हूँ।

इतना कहकर उन्होंने निकाल कर चादर ओढ़ ली। मुझे भी ठण्ड लगने लगी। मैंने कहा- “दीदी मै जा रहा हूँ अपने बिस्तर पर मुझे ठण्ड लग रही है”

उन्होंने चादर उठाते हुए मुझे ढका और चिपकाने लगी।

मेरे सीने में उनकी 34″ की चूंचिया लग रही थी। मैं कण्ट्रोल नहीं कर पा रहा था। उनकी चूंचियो को दबाने को जी करने लगा।

दीदी: तुम अपनी किसी गर्लफ्रेंड को नहीं बुलाये थे मेरे बर्थडे पार्टी में??

मै: कोई होगा तभी तो बुलाऊंगा। जब कोई है ही नहीं तो किसको बुला लूं??

दीदी: हमसे झूठ बोल रहे हो तुम??

मै: नहीं दीदी मै झूठ नहीं बोल रहा। आपकी कसम!!

दीदी: तुम इतने बड़े हो गए। और तेरे को ये सब प्यार मुहब्बत वाली ए बी सी डी नहीं पता

मै: नही मेरे को नहीं पता!!

दीदी ने मेरी तफरी लेनी शुरु कर दी। मुझसे पता नहीं क्या क्या कहकर मजाक करने लगी। मै भी चुपचाप सब सुनता रहा। वो कुछ देर बाद हँसना बंद की तो मैंने कहा: इतना भी नहीं है कि मैं कुछ नही जानता। मैंने अभी तक कुछ किया नहीं है। लेकिन मुझे सबकुछ पता है।

दीदी: तू भी ब्लू फिल्म देखता है।

मै: हाँ देखता हूँ तुम्हारे ही फ़ोन से!!

दीदी चौंक गई। सच दोस्तों मुझे इसका कोई पता नहीं था कि वो भी देखती हैं। मैंने भी ऐसे तैसे अपनी सारी बात कह डाली।

दीदी कहने लगी: आज बर्थडे के मौके पर एक शो सनी लियॉन मैडम का देख ही लेते है। मैंने भी हाँ में हाँ मिला दी। दीदी ने अपना लैपटॉप उठाया और एक इयरफोन लगाकर देखने लगी। मैं भी एक इयरफोन लगाकर आवाज सुन रहा था।

दीदी देख देख कर गरम होने लगी। कंधे पर रखे अपने हाथों से मुझे दबाने लगी। मै भी मौक़ा नहीं गवाना चाहता था। आज मैं अपने अंदर के भड़ास को निकालना  चाहता था। मैंने भी उनके हिम्मत करके उनकी जांघ पर अपना हाथ रख दिया। मेरा भी अब मन चोदने को करने लगा। इतने में सनी की चुदाई ख़त्म हो गईं।

दीदी ने कहा : एक और देखते है ऐसे कर करके हमने दो तीन ब्लू फिल्म देखी।

मैने पैंट में हाथ डालकर लंड के टोपे को छुआ। मुझे कुछ चिपचिपा लगा। मेरा लंड अपना थोड़ा सा माल निकाल चुका था। मै दीदी की तरफ देखकर मुस्कुराने लगा। वो अपना चुदासी मुह बनाये मुझसे कहने लगी: चलो हम लोग भी ऐसे ही करते हैं।

दीदी की बाते सुनकर मैं दंग रह गया। मेरे दिल की बात बोल डाली उन्होंने। मैंने भी सीधा बनने का नाटक किया। मै: मै आपको कैसे चोद सकता हूँ। तुम मेरी बड़ी बहन हो।

दीदी: मुझे पता है तुम मेरे सगे भाई हो। लेकिन चुदाई करने से कुछ हो थोड़ी न जायेगा।

मैं: मम्मी जान गई तो हम दोनों लोग घर से भगा दिए जाएंगे

दीदी ने जाकर दरवाजा बंद कर दिया। वापस बेड पर आकर मेरे से आकर चिपकते हुए।

दीदी: अब कोई नहीं जान पायेगा। आज मुझे तुम अपना लंड बर्थडे गिफ्ट समझ कर दे दो!!

मै ले लो दीदी आज तुम मेरे लंड को कोन वाले आइसक्रीम की तरह चाट कर चूसो। कुतिया की तरह वो हवस की पुजारन आकर मेरे लंड पर अपना हाथ रख दी। वो कहने लगी: भैया जी आज तुम मेरे सैयां जी बन जाओ। आज मुझे किसी चीज के लिए ना मत करना।

मैंने कहा: ठीक है मेरी प्यारी बहना आज तेरा ये भाई भी देख तेरी हर तरह की ख्वाहिश कैसे पूरी करता है।

इतना कहकर मैंने अपना पैंट निकाल दिया। अब मेरा डिक्सी सकॉट का अंडरबियर को फैलाये मेरा लंड रॉकेट की तरह उड़ने को तैयार था। वो मेरे मेरे कच्छे में ही मेरा लंड पकड़कर साइज़ नापने लगी।

 दीदी- वाओ… कितना बड़ा और मोटा है!!

मै: दीदी अभी तो ये और बड़ा होगा।

दीदी को मेरा लंड देखने की बहुत ही बेचैनी होने लगी। उन्होंने एक झटके में मेरा कच्छा मेरे लंड से जुदा कर दिया। मेरा लंड देख कर उनकी आँखे फ़टी की फटी रह गई। वो अपने मुह पर हाथ लगाकर जोर से सांस ली। फिर हाथ लगाकर मेरा लंड सहलाने लगी। लंड के टोपे का ख़ाल सरक कर नीचे आ गया। गुलाबी होंठो से मेरे गुलाबी टोपे को चूसने लगी। मै लेट कर अपना कमर उठा उठा कर चुसवाने लगा। वो पूरा टोपा मुह में लेकर चूस रही थी। मैंने उनके बालो को पकड कर पूरा लंड उनके मुह में घुसा दिया। मेरा लंड उनके गले में जाकर फस गया। कुछ ही देर में दीदी की साँसे फूलने लगी। वो मुझे विनती भरी आँखों से देख रही थी। नाखूनों को मेरी गांड में गड़ा रही थी। मैंने उचक कर उनके मुह से अपना लंड निकाल लिया। दीदी ने चैन से सांस ली।

वो मेरे गांड पर मार कर बुरा भला कहने लगी। मैनें उनके होंठो पर अपने पर रख कर उनका मुह बंद करवा दिया। ब्लू फिल्म के इंग्लिश पोर्न स्टारों की तरह मै जोरदार  किस करने लगा। दीदी को भी भाई आज अपने भाई पर नाज करवा दिया। लगातार मैंने उनके होंठो की 10 मिनट तक चुसाई कर लाल लाल कर दिया। दोनों चुच्चो को देखकर मुझसे रहा नहीं गया। मैंने दोनों को एक एक हाथ में पकड़ कर दबाने लगा। वो गर्म  होने लगी।  वो“……अई…अई….अई……अई....इस स्स्स्स्स्…….उहह्ह्ह्ह…..ओह्ह्ह्हह्ह….” की सिसकारी भरने लगी।

मैंने ब्रा को निकाल कर दोनों लटकते बड़े बड़े दूध को चूसने लगा। गोरी गोरी चूंचियो पर काले रंग का निप्पल बहुत ही रोमांचक लग रहा था। दीदी भी बहुतखुश हों रही थी। मुझे अपने मजेदार चूंचियो में दबाकर बहुत ही मजे से उसका रसपान करवा रही थी। मै निप्पलों काट काट कर उनकी चीखे निकलवा रहा था। वो जोर जोर से उ उ उ उ उ……अअअअअ आआआआ… सी सी सी सी….. ऊँऊँ…ऊँ….” की मनमोहक आवाज निकाल मुझे पागल कर रही थी।

मैंने कहा: दीदी अब अपने कुएं का दर्शन करा दो।

दीदी: आओ मेरे कुएं के महाराज मै तुम्हे दर्शन के साथ साथ उसका पानी भी पिलाती हूँ।

इतना कहकर वो अपनी जीन्स को निकाल कर पैंटी में हो गई। मुझे उनकी निकली सफ़ेद सफ़ेद गोरी गांड साफ़ साफ़ पैंटी में दिख रही थी। दीदी ने अपनी पैंटी को निकाल कर नंगी हो गई। मैंने उनको लिटा दिया। दोनों टांगो को खोलकर मैंने उनकी चूत के दर्शन किया। मैंने जिंदगी में पहली बार आज चूत का साक्षात् दर्शन कर रहा था। मैंने दीदी की रसमलाई की तरह चूत पर जीभ लगाकर पीना शुरू किया। दीदी बहुत ही गर्म हो गई। कुछ ही देर में वो कहने लगी: गोबिंद बाबू अब न तड़पाओ मेरी चूत मे अपना लंड भर दो।

मैंने सेक्स स्टोरी में पढ़ा था कि तड़पा कर चोदने में बहुत मजा आता है। मैं भी वैसा ही कर रहा था। मैंने उनकी बात मान ली। अपना लंड उनकी चूत पर रगड़ने लगा। चूत पर रगड़ते ही वो और तड़पने लगी। मेरा लंड पकड़ कर वो अपनी चूत में घुसाने लगी। मैंने भी धक्का मार ही दिया। मेरा टोपा अंदर घुस गया। वो जोर जोर से “……मम्मी…मम्मी…..सी सी सी सी.. हा हा हा …..ऊऊऊ ….ऊँ. .ऊँ…ऊँ…उनहूँ उनहूँ..” की चीखे निकालने लगी। मैंने उनका मुह दबाकर आवाज दबा दिया। उसके बाद मैंने जोर का धक्का मार कर पूरा लंड घुसा दिया। वो दर्द से तड़पने लगी।

 मैंने चुदाई करना शुरू कर दिया। कुछ ही देर में उनकी आवाजे धीमी होने लगी। मैंने अपना हाथ उनके मुह से हटा लिया। वो भी अपनी चूत को उठा दी। दीदी सनी लियॉन की तरह ओह्ह…फ़क..फ़क मी…. ओह्ह माई गॉड फ़क… की आवाजे निकाल कर चुदवा रही थी। मैंने भी चुदाई तेज कर दी। दीदी कहने लगी: तेरा लंड तो बहुत मजा दे रहा है। और जोर से चोदो मुझे बहुत मजा आ रहा था।

मैंने कहा: मै थक गया हूँ। अब तुम ही चुदाई करो!!

इतना कहकर मै लेट गया। वो मेरे लंड पर चूत रख कर बैठ गई। पूरा लंड चूत में घुसाकर वो जोर जोर से उछल उछल कर चुदवाने लगी। मै भी अपना लंड उठा उठा कर पेल रहा था। घच पच घच्च पच्च की आवाज के साथ वो चुदाई करने में मस्त थी। आवाजों को सुनने के लिए वो जल्दी जल्दी उछल कर चुदवा रही थी। मेरा लंड बहुत ही अकड़ रहा था। मैंने अब एकाग्रचित होकर चुदाई करने के लिए उनको झुका दिया। मैंने अपना लंड उनकी चूत में घुसाकर कमर पकड़ लिया। उसी के सहारे से पूरा लंड जड़ तक पेलने लगा। वो आऊ…..आऊ….हमममम अहह्ह्ह्हह…सी सी सी सी..हा हा हा..” की चीखों के साथ चुद रही थी।

दीदी के कुएं में से पानी आ गया। लंड को निकालते ही झरने की तरह सफेद दूधिया माल निकलने लगा। मैंने सारा का सारा माल चाट कर पी लिया। माल की खुशबू मुझे बहुत अच्छी लगी। मैंने दीदी की गांड मारने के लिए अपना लंड छेद पर लगा दिया। लंड को डालते ही उनकी गांड फट गई। वो फिर से जोर जोर चिल्लाने लगी।  उनकी गांड बहुत ही टाइट थी। मेरा लंड चोदने में बहुत ही रगड़ खा रहा था। मै उनकी गांड को फाड़ता हुआ तेज तेज से चुदाई कर रहा था। वो “….उंह उंह उंह हूँ.. हूँ… हूँ..हमममम अहह्ह्ह्हह..अई…अई…अई…..” की आवाज के साथ गांड हिला हिला कर चुदाई करवाने लगी। मेरा लंड अब और भी ज्यादा टाइट होने लगा। दीदी की चूत पर मेरे लंड की दोनों गोलियां बहुत ही तेजी से लड़ रही थी। वो मेरी गांड का फालूदा कुल्फी बना डाला। मैंने दीदी से कहा: दीदी मै झड़ने वाला हूँ। कहाँ गिराऊं अपना माल।

दीदी: मेरी गांड में ही भर दो सारा माल। मैं भी अपने लंड का जूस दीदी की गांड में ही गिराने लगा। वो मेरे गर्म माल का अपनी गांड में एहसास कर रही थी। दीदी की गांड मैने लंड के गरमा गरम माल से भर दिया। लंड को निकलते ही टप टप करके वीर्य गांड से टपकने लगा। वो कुतिया की तरह नीचे गिरे सारे माल को जीभ से  चाट कर साफ़ कर दिया। साफ़ कपडे से अपनी गांड पोंछकर उन्होंने मेरे लंड को भी साफ़ कर दिया। एक रात चुदाई करके दीदी कोअपने लंड का आदि बना दिया। अब वो रोज मेरा लंड खाने को बेकरार रहती है। हम लोग खूब मजा करते है।  आपको स्टोरी कैसी लगी मेरे को जरुर बताना और सभी फ्रेंड्स नई नई स्टोरीज के लिए नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम पढ़ते रहना आप स्टोरी को शेयर भी करना


[Total: 53    Average: 3.2/5]

loading...

Related Post & Pages

HOT Hindi Movie Short Film 18+ VIP 9 HOT Hindi Movie Short Film 18+ VIP 9 HOT Hindi Movie Short Film 18+ VIP 9 HOT Hindi Movie Short Film...
Full HD Porn - Brazzers – MilfsLikeItBig presents Ava Koxxx in What Ms... The post Brazzers – MilfsLikeItBig presents Ava Koxxx in What Ms. Koxxx Wants appeared first on Porn...
चूत (योनि) को गोरा कैसे करे कालापन दूर करने के उपाय - योनि को कैसे धोए... चूत (योनि) को गोरा कैसे करे कालापन दूर करने के उपाय - आप भी आजमा कर देखे चूत (योनि) को गोरा कैस...
Lewd BF grabs sexy Canadian hottie Emma Hix tight and fucks her hard This lewd couple is fond of role-plays. So dude acts like a perverted brutal robber who grabs charmi...

loading...

Bollywood Actress XXX Nude