loading...
Get Indian Girls For Sex
   

Antarvasna Sex Story

sex story दोस्तों यह बात आज से एक साल पहले की हे. जब में कोलेज में था. कोलेज घर से दूर होने की वजह से मुझे कोलेज के पास एक कमरा किराये पर लेना पड़ा. मेरी बिल्डिंग में ५ घर और थे. मुझे कुछ आयडिया नही था के कोन से घर कोन रहता हे. एक दिन शाम को में अपनी बिल्डिंग से बहार निकला तो मुझे एक आंटी दिखी. अपने से दो घर छोड़ के खड़ी हुई कपडे सुखा रही थी. पहली नजर में तो वो मुझे ज्यादा खास नही लगी. लेकिन मुझे क्या पता था की अन्दर से वो इतनी गरम निकलेगी

खेर उस दिन तो मेने कुछ सोचा नही की में कभी इनकी चूत में अपना लंड भी डालूंगा. कुछ दिन बाद की बात हे. बहोत तेज बारिश हो रही थी. तो में कुछ देर के लिए जाकर अपने रूम के पास बहार बरांडे में खड़ा हो गया. मुझे अचानक पीछे से आवाज आई. सुनो बेटा मैने पीछे देखा ओर वो आंटी मुझे अपने पास बुला रही थी. में उनके पास गया. ओर उनसे पूछा क्या हुआ आंटी तो वो बोली की उसने कहा की उनके घर की चावी खो गई हे कही मार्केट में, ओर उनके पास सामान भी काफी था.  इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम दिन का टाइम था. सब घर में सो रहे थे. इसलिए में दिखा तो उन्होंने मुझे ही बुला लिया. उन्होंने मुझसे अपना सामान थोड़ी देर के लिए घर पर रखने को बोला. और कहा की वो इतने में चावी वाले को बुलाकर लाती हे. और वो चावी बना देगा. फिर उनका घर खुल जायेगा.

मेने आंटी से कहा की वो मेरे रूम में बेठ सकती हे. और बारिस रुकते ही चावी वाले को लेकर में आ जाऊंगा. क्योकि बारिश में वैसे भी कोई नही मिलता. आंटी थोडा हिचकिचाई पर थोडा इंसिस्ट करने पर वो मान गई. थोड़ी देर बाद बारिश रुकी, तो में पास ही में एक चावी वाला था. उसको बुला कर लेकर आया. और आंटी के घर का ताला खुल गया. और आंटी ने मुझे थेंक यु बोला. और चाय पिने के लिए आने को कहा. पर में थोडा शर्मिला हु. तो इसलिए मेने मना कर दिया. आंटी ने थोडा और इंसिस्ट किया. पर मेने फिर भी मना किया. तो वो बोली की ठीक हे. लेकिन इस सन्डे में खाना उनके ही घर पर खाऊंगा ये भी कहा. फिर हमारी अच्छी बातचीत होना सुरु हो गई. और अनु और में काफी घुल मिल गये. वो मुझे कभी कोई काम होता तो बेजिजक बता देती थी. उनके पति इंजीनियर थे. और काम के सिलसिले से बहार ही रहते थे. और मुस्किल से २-३ बार घर आते थे. आंटी के २ बेटे थे. और वो हॉस्टेल में थे. तो वो अकेली ही रहती थी घर पर. उम्र उनकी थी ३९ साल. रंग थोडा सावला और थोडा गोल शरीर. ऐसे ही एक शाम को अनु ने मुझे चाय पिने के लिए बुलाया. अब हमारी अच्छी बात होती थी. तो में चला गया. हम दोनो दोस्त जेसे थे.

में उनके घर गया. और सोफे पर जा कर बेठ गया. और टीवी देखने लगा. और वो किचन में चाय बनाने चली गई. थोड़ी देर बाद कुछ गिरने की आवाज आई. और आंटी के चीखने की. में तुरंत किचन में गया. तो देखा की आंटी से चाय का तपेला गिर गया था. और गरम गरम चाय उनके पैर पर गिर गई थी. जिससे उनको जलन होने लगी. में तुरंत निचे जुका और अपने रुमाल से चाय साफ करी. उनको दर्द हो रहा था. थोडा सहारा लेकर अपने रूम में गई. और मेने उनको बिस्तर पर बिठा दिया. उनको काफी जलन हो रही थी. तो मेने कहा में पास ही केमिस्ट से बरनोल लेकर आता हु. आप थोड़ी देर रुको और में फट से बरनोल लेकर आ गया. मेने आंटी से बोला की आंटी में बरनोल लगा देता हु. तो वो मना करने लगी. लेकिन में नही माना. और अपने हाथ पर क्रीम निकालकर रखली. मेने उनके पैर को हलकासा छुआ. तो वो गुदगुदी के मारे उनको पीछे कर रही थी.

मेने हलके हाथो से क्रीम उनके पैर पर लगाई. लेकिन उनकी सलवार में लग रही थी तो मेने आंटी को कहा की आपकी सलवार गन्दी हो रही हे. तो उन्हों ने थोडासा ऊपर उठाया. और मेने बाकि जगह क्रीम लगा दी. जब मेने क्रीम लगा दी और आंटी तरफ देखा तो उनकी आँखे बंद थी. में समज गया की आंटी मुड में आ रही हे. मेने अनु से पूछा क्या हुआ. तो उन्होंने कहा कुछ नही.

फिर मेने आंटी से कहा की आज वो मेरे यहां खाना खाए. में हम दोनो का बना दूंगा. और वो मान गई. शाम हो चुकी थी. मेने भी घर जाकर आपना रूम साफ किया. और टेबल लगाया. शाम को ८:३० अनु ने मेरे घर की घंटी बजाई.

वो नाईटी में थी. रेड कलर की नाईटी ओर मलमली कपडा देखकर में हेरान रह गया. मुझे समज नही आया और में उनको ऊपर से लेकर निचे तक देख रहा था. में उनसे पूछ ना ही भूल गया अंदर आने को, और उन्होंने मुझसे फिर कहा कहा घूरते रहोगे या अन्दर भी बुलावोगे. इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम में होश में आया उनको उंदर बुलाया. ओर चेर लगाई उनके लिए. में फिर खाना लेकर आया. और मेने अनु को कहा की वो बहोत खुबसूरत लग रही हे. जिस पर उन्होंने कहा की में जूठ बोल रहा हु. उनकी अब उम्र हो चुकी हे. मेरे जेसा नोजवान कहा बुधिया को पसंद करेगा. जिस पर मेने कहा की आप  बुढिया नही हो. आप अभी भी २८-२९ साल की लगती हो. वो ये सुनकर मुस्कुराई. और हमने फिर खाना सुरु किया. मेने थोडा मस्ति करने को सोचा. और हिमत करके अपने पैर २-३ बार उनके पैर पर मारे.

वो थोडा खांसी लेकिन कुछ बोली नही. और खाना खाती रही. थोड़ी देर बाद मुझे मेरे पैर पर कुछ महसूस हुआ. मेने निचे देखा तो वो अपने पैर मेरे पैर पर रगड रही थी. फिर मेने उनकी तरफ देखा. तो वो निचे देखकर मंद मंद मुस्कुरा रही थी. खाना खाने के बाद मेने उनको पूछा की वो स्वीट डिश में क्या लेना पसंद करेगी. तो उन्होंने कहा लोलीपोप ओर हसने लगी. में समज गया की वो मस्ती के मुड में हे. और मेने भी डबल मिनीग आन्सर दिया. जिन पर वो हसने लगी.

फिर हम बोनो मेरे लेपटोप पर मूवी देखने लगे. मेने भी बोलीवुड की सेक्सी मुवी लगा दी. और उनके पास जाकर बेठ गया. १५ -२० मिनट बाद एक हॉट सिन आया. मेने उनके हाथ पर मेरा हाथ रख दिया. अनु ने भी मेरा हाथ कस के पकड लिया. में समज गया अनु अब गरम हो रही हे. थोड़ी देर बाद और रुकने के बाद मेने अनु को देखा और उसने भी मेरी तरफ देखा. उसको भी पता था की उसको क्या चाहिए था ओर मुजे भी और में उसको देखते देखते उसके पास बढ़ा और उसको जोर से किस कर दिया.

उसने भी पूरा साथ दिया. और अपनों जीभ मेरे मुह में दे दी. अब में उसकी जीभ को चूस रहा था और वो मेरी. हम दोनों खो चुके थे एक दूसरे में.

मेने उसके चूचो पर हाथ रखा. और उनको दबाने लगा. और वो सिसकिया लेने लगी. आह्ह अहह अह्ह्ह  आआआ हहहहः आह्ह अह्ह्ह अह्ह्ह  उमुमुमुम आआआअ हहहहहहः आआआअ.

५ मिनिट बाद जब उनको होश आया तब वो बोलने लगी की ये सब ठीक नहीं हे. हमे ये सब नही करना चाहिए. पर में कहा सुनने वाला था. मेरा लंड अब तन चूका था. तो मेने उनको समजाया और उनको गले से लगा लिया. और उनकी पीठ पर हाथ फेरते हुए उनके गले को किस करने लगा.

वो भी अब टूट चुकी थी मेरी बाहो मे. उनको भी अब मजा लेना था लंड का तो वो भी कोई ना नुकुर नहीं कर रही थी. मेने उनकी नाईट के ऊपर से ही उनके चूचो को चुसना स्टार्ट कर दिया. और हल्की हल्की बाते कर रहा था. वो आखे बांध करके बस आवाज निकाल रही थी.

मेने धीरे धीरे निचे जाना सुरु किया. और उनकी टांगो को किस करते हुए उनकी नाईटी ऊपर कर दी. अनु ने पहले अपनी टांगे बंध की पर जैसे ही में उनकी झांगो पर हाथ फेरने और किस किया वो मदहोश हो गयी. और उसने पूरी टांग फेला ली. उसकी लाल रंग की गीली चड्डी साफ दिख रही थी. उसपर एक बड़ा सा गीलेपन का निशान बन गया था.

मेने हाथ बढ़ाया और उसकी चूत के ऊपर रख दिया. वो तडप उठी. बुरी तरह हाथ पैर हिलाने लगी. मेने कुछ देर उसको ऐसे ही तडपाया. और फिर उसने मेरा हाथ अपनी पेंटी के अन्दर दाल दिया. उसकी चूत पूरी तरह चिकनी तो नहीं थी लेकिन फिर भी काफी स्मूथ और टाइट थी. काफी टाइम से चुदे ना होने की वजह से वो टाइट थी. और गीली भी काफी थी. इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम अब मेने उसकी चूत में ऊँगली करना शुरु किया. और उसकी झांगो पर किस करता रहा. वो   सिसकिया ले रही थी. आआआ हहहह आआआह हहहहहह आआआ हहहह्हः आआ आअ हहहहहः  हहहहः आआ आआआअ उफफ्फ्फ्फ़  स्स्स्ससस्स सस्स्ससा उफफ्फ्फ्फ़ मजा आ गया. और अन्दर डालो ना और तेज करो.

में भी पागल हुए जा रहा था. उनकी आवाज सुनकर और जोर जोर से उनकी चूत में ऊँगली करने लगा. चप चप की आवाज आ रही थी. पूरी चूत में से पानी टपक रहा था. और फिर कुछ देर बाद उसने अपनी टांगे बंद की और जोर सी चीखी और झड गयी. और बिस्तर पर शांत पड  गयी.

अब मेने उसकी पेन्टि उतारी. मुझे पता था काफी टाइम से ना चुदाने की वजह से वो बहोत प्यासी होगी. और अभी काफी देर तक चुदने की क्षमता रखती थी.

मेने पेंटी निकाल कर उनको सुंघा और चाटा. क्या स्वाद आ रहा था उसके रस का. अब में थोडा ऊपर बढ़ा और उसकी चूत के पास पहोच गया. मेने एक लम्बी सास ली. और उसकी चूत की सुगंध का मजा लिया. और सीधा उसकी चूत में डूबकी लगा दी.

जेसे ही मेने अपनी जीभ उसके दाने पर रखी वो मचल उठी. और तुरंत उठ खड़ी हुइ. और मेरे गाल पकड़ लिए. और जोर से अपनी चूत के अन्दर दबाने लगी. में भी जोर जोर से चाटने लगा. वो चिलाने लगी. आआआअ हहहहहाह उफ्फ्फफ्फ्फ़ आआअ उफफ्फ्फ्फ़ और फिर से झड गयी.

क्या गजब रस था उसका मेने उसके रस को चाटा और पूरा पि गया.

मेने उनकी आँखों में देखा और वो मुझसे बोली की आज से पहले इतना मजा आज तक उसके पति ने भी कभी नहीं दिया उसको. उसने मुझसे कहा की वो मुझसे लगातार चुदाना चाहती हे. और अपनी सारी इच्छाये पूरी करना चाहती हे. उसके पति के दूर रहने की वजह से उसको एक पत्नी का सुख कभी नही मिल पाया.

मेने उसको कहा की में उसकी सारी शारीरिक जरूरत पूरी करूंगा. और उसको धका देकर लेटा दिया. मेने उसकी नाईटी उतार दी पूरी. क्या चुचे थे दोस्तों. ३६ साइज के मोटे मोटे. में उनको देखते ही पागल हो गया. और उनपर टूट पड़ा. इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम उसके चूचो को चूसते चूसते में अपने हाथ उसके इधर उधर फेर रहा था. वो मेरे लंड पकड़ के पायजामे के ऊपर से हिला रही थी. मेरा लंड पूरा तना हुआ था. और उसकी चूत में घुसने को एकदम तयार था. मेने उसको कहा की अब टाइम आ गया हे. और उसने मेरा पायजामा उतर दिया और चडी भी एक साथ उतर दी.

मेने उसको चूसने को बोला लेकिन वो मना कर ने लगी. क्युकी उसने आज तक ऐसा कभी किया नहीं था. इसलिए उसने कहा की वो अगली बार ट्राय करेगी. लेकिन इस बार नहीं. मेने भी ज्यादा फ़ोर्स नहीं किया. क्युकी सेक्स में जबरदस्ती नही करनी चाहिए. तभी इसका सबसे ज्यादा मजा आता हे.

मेने अपने पर्स से कंडोम निकाला. और उसने वो कंडोम मेरे लंड पर चढ़ा दिया.

अब मेने उसकी टांगे को फेला कर अपना लंड उसकी चूत पर रखा. और वो तुरंत मचल उठी. और आँखे बंद करके मेरे लंड को फील करने लगी. मेने अपने लंड का थोडासा हिस्सा उसकी चूत के अन्दर दाल दिया. और वो तुरंत तडप गयी.

मेने जल्दबाजी  न करते हुए धीरे से एक और जटका मारा. और थोडासा लंड और अन्दर डाल दिया. और उसकी चीख निकल पड़ी. उसको चुदे हुए ६ महीनो से ज्यादा हो चूका था. इसलिए उसकी चूत बहोत टाइट थी.

मेने उसको किस किया. और इस बार पूरा लंड उसकी चूत में घुसा दिया. मेरा ६.५ इंच का लंड जैसे ही उसकी चूत में पूरा गया, वो तडप उठी और जोर से उसने मुझे पकड लिया और अपने अन्दर दबा लिया.

२ मिनिट बाद वो अब थोड़ी शांत हुइ. तब मेने धक्का मारना स्टार्ट किया. मुझे बहोत मजा आ रहा था. पहली बार कोई बड़ी उम्र की औरत के साथ सेक्स करने में अलग ही आंनद हे दोस्तों.

मेने धीरे धीरे कर के रफ़्तार बधाई और वो मचलने लगी. और अपनी गांड उठाके मेंरे साथ को-ओर्डीनेट करने लगी.

उसके सिस्कारे मुझे मदहोश कर रहे थे. और वो बोल रही थी और जोर से करो. और अन्दर डालो बहोत मजा आ रहा हे. और जोर से करो. वासु मुझे अपनी  रखेल बनालो. हर दिन चोदा करो. चोद चोद के मेरी चूत भोसडा बना दो. ये सब सुनकर में हेरान हो गया. लेकिन मुझे ज्यादा मजा आने लगा.

अब में अपनी पूरी ताकत से उसको  चोद रहा था. वो बहोत जोर जोर से चिला रही थी. आआअ हाहाहा आआआ हाहाहा उफफ्फ्फ्फ़ वाआअह्ह्ह्ह और जोर से में तो जैसे खो सा ही गया था. इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम थोड़ी देर बाद उसने मुझे फिरसे कसके पकड़ा और में समज गया की वो जड़ने वाली हे. तो मेने अपना हाथ उसकी चूत के ऊपर रखा. और उसको मसल ने लगा. वो और ज्यादा पागल हो गई. चोदते चोदते मेने उसकी चूत को जब मसला वो तुरंत जड़ गयी. और मेरा सिर पकड़ कर अपने पास लाकर किस करने लगी. में भी थोडा शांत हुआ और थोड़ी ताकत बटोरी.

अब मेने उससे कहा की उल्टी हो जाओ. पीछे से करेंगे तो इसपर वो बोली की उनके पति ने कभी उनके साथ किसी और पोजीशन में सेक्स नही किया. सिर्फ ट्रेडिशनल पोजीशन में करते थे. वो तो मेने उनको कहा की में उनको सारी पोजीशन सिखा दूंगा. और उनको पीछे घुमा दिया.

अब उनकी चूत पहले ही खुल चुकी थी. तो मेने अपना लंड उनकी चूत पर लगाया. और एकही जटके में उंदर डाल दिया. क्या आनंद आ रहा था जेसे ही लंड अन्दर गया.

अब मेने पीछे से जटके मारने सुरु किये. और वो आवाज निकलने लगी. उसकी गीली चूत से चाप चप चप चप चप आवाज आ रही थी. मुझे साफ पता चल रहा था. अन्दर उसके पानी भर रहा था. जो निकलने को बेताब हो रहा था. तो मेने जटके तेज मारने शुरू कर दिए. और बीच बीच में उनकी गांड पर चाटे भी मार रहा था. इससे वो और जोर जोर से चिला रही थी.

गांड पर हर चांटे के साथ वो  और जोर से चिलाती. कभी इस गांड पर तो कभी उस गांड पर ५ मिनिट उसकी गांड पर चांटे मारने के बाद उसकी गांड पूरी तरहा लाल हो गयी.

मुझे ये देखकर बहुत मजा आ रहा था. अब मेने पूरी स्पीड में उसकी चूत मारनी शुरू कर दी.इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम.और उसके बाद पकड़ के उसको पीछे खीचा. क्या मस्त बेक लग रही थी उसकी. फिर वो बोली के वो जड़ने वाली हे. वो चाहती हे की में उसके साथ ही जडू. 

फिर मेने लास्ट कुछ जटके मारे और १५ -२० जटको बाद में उसके साथ साथ जड गया. क्या बताउ दोस्तों क्या फीलिंग्स थी वो.

हम दोनों बिस्तर पर गिर गये. और में उनके बालो के साथ खेलने लगा. वो उठी और अनु ने मुझे एक लम्बी किस दी. और कहा की वो मुझसे ऐसा ही सुख लेना चाहती हे हर दिन. फिर हमारी चुदाई की दास्तान शुरू हुई. और फिर जभी उनका या मेरा मन करता चोदने का हम बेजिजक चुदाई करते थे.

Sex Stories हेल्लो दोस्तों मेरा नाम जय हैं और मैं गुजरात के राजकोट से हूँ. पहले मैं अपने बारें में आप लोगों को बता दूँ. मेरी उम्र २५ साल हैं और मेरा लंड साधे ६ इंच लम्बा हैं और मेरी लबाई १७८ सेंटीमीटर हैं. मैं भाभी और आंटी को चोदने में दिलचस्पी रखता हूँ. चलिए अब हम स्टोरी पर आते हैं और मैं आप को बता दूँ की मैं अपने बॉस की वाइफ निराली को एक बार चोद चूका हूँ. निराली खुद भी एक हॉट लुकिंग भाभी हैं जो दिखने में सेक्सी और हॉट हैं. उसकी बूब्स और गांड बड़ी बड़ी हैं तो आज मैं आप को बताऊंगा की कैसे मैंने निराली की गांड मारी.

आज से करीब ६ महीने पहले एक दिन १२ बजे अपने घर पर बैठा हुआ मोबाइल पर गेम खेल रहा था, तब निराली का कॉल आया. हम दोनों क्लोज थे और काफी बार वो कॉल करती थी मुझे. इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम मैंने निराली भाभी से पूछा की आज कैसे आप को हमारी याद आ गई? तो उसने बताया की वो आज बोर हो रही थी और उनके हसबंड भी बहार गए हुए थे और वो रात को ही वापस आनेवाले थे. तो मैंने कहा की मैं आप के लिए क्या कर सकता हूँ तो उसने बताया की आज कोई मूवी देखने जाते हैं तो मैंने कहा ठीक हैं.

दोपहर १ बजे को उसने हमारे लिए दो टिकिट बुक करवा दिए, करीब २ बजे मैं उनको लेने के लिए उनके घर प्र पहुंचा. जैसे ही उसने दरवाजा खोला मैं उनको देखते ही चौंक गया. उसने ब्लेक ड्रेस पहना हुआ था जिसमे वो बड़ी ही सेक्सी लग रही थी और उनके बूब्स बहार आने के लिए जैसे तडप रहे थे.फिर मैंने अपने आप को संभाला और अपना बाइक वहाँ पर छोड़ कर उनकी कार लेकर हम निकल गए. मूवी स्टार्ट होने से पहले हम वहां चले गए, थोड़ी देर बाद मूवी स्टार्ट हो गई तो हम देखने लगे. फिर अचानक मैंने महसूस किया की मेरे लंड के ऊपर हाथ फिर रहा हैं तो मैंने निराली की औ देखा और उनके बूब्स को अपने हाथ में ले के दबाने लगा. मेरा लंड पूरा टाईट हो चूका था. फिर उसने मेरे लंड को पेंट ससे बहार निकाला और हाथ से प्यार देने लगी उस को.

करीब १० मिनिट बाद मेरे लौड़े का पानी छटक गया और निराली भाभी के हाथ गंदे हो गए. उसने अपने रुमाल से मेरा लंड और अपने हाथ को साफ़ कर लिया. फिर हम मूवी ख़तम की और वापस लौटने लगे.

जैसे हमने उनके घर में एंट्री की मैंने दरवाजा लॉक किया और भाभी को किस करने लगा. उनके बूब्स को मैं ड्रेस के ऊपर से ही दबाने लगा. करीब १० मिनिट तक हमने एक दुसरे को किस किया और उसके बाद हम उनके बेडरूम में चले गए और मैंने उनका ड्रेस निकाल दिया. अब वो सिर्फ ब्रा और पेंटी में थी मैंने उनके बूब्स को जोर जोर दबाने लगा और चूसने लगा. फिर मैंने उनके ब्रा और पेंटी निकाल दी और उनकी बॉडी को चूसने लगा.

उसने भी मेरे कपडे निकाले और मेरे लंड को चूसने लगी. फिर हम ६९ पोजीशन में हो गए, उनकी चूत चाटने से मैं जन्नत की शेर करने लगता था. वो भी मेरे लंड को मस्ती से चाट रही थी. फिर मैंने उनकी चूत पर लंड रखा और जोर से शॉट मारा. वो चीखने लगी और बोलने लगी स्लो स्लो करो बहुत दर्द हो रहा हैं.

उनकी चीख पुरे रूम में गूंज रही थी, फिर जब वो नार्मल हुई तो मैंने फिर शॉट्स मारना चालू किया. अब वो भी मजा लेने लगी  थी और बोल रही थी चोदो मुझे तुम्हारी रंडी बनाओ मुझे ऐसे ही रोज चोदो, रोज चोदने आओ मुझे मैं तुम्हे बहुत मिस करती हूँ. ये सब सुनके मेरे मैं और भी जोश आने लगा तो मैंने जोर जोर से निराली भाभी की चूत में शॉट्स मारने लगा.

फिर मैंने उनको डौगी स्टाइल में चोदने के लिए उल्टा लिटाया और चूत में दे दिया. इस स्टाइल में लंड पूरा अन्दर घुसा तो उसे भी बहुत मस्त लगा. वो भी अपनी गांड को हिला हिला के चुद रही थी. मैं अपने हाथ से उनके बूब्स दबाने लगा और पीछे से उनकी चूत मैं लंड डालके उनकी चूत चोद रहा था और उनकी गांड पर जोर जोर से थप्पड़ मार रहा था. उनकी गांड लाल हो चुकी थी और वो आह्ह्ह्ह सीईह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह की अजीब आवाजें निकाल रही थी.

फिर मैंने उनको कहा की मुझे तुम्हारी गांड मारनी हैं तो वो चौंक गई और मना करने लगी. और उसने कहा की पीछे लंड लेने से दुखता हैं मुझे. तो मैंने उनको मनाया और बोला की मैं स्लो स्लो करुणता तो दर्द नहीं होगा. २ मिनिट की महनत के बाद आखिर वो गांड सेक्स के लिए मानी. 

फिर उसने लोशन निकाला और पहले मेरे लंड को चूसने लगी और लोशन मेरे लंड पर लगाया और मैंने थोडा लोशन ले के निराली भाभी की गांड पर लगा दिया. फिर मैंने उनकी गांड के होल पर अपना लंड रखा और लंड डालने लगा तो अन्दर जा रहा था तो मैंने जोर से शॉट मारा तो वो रो पड़ी मैं रुक गया.

जब वो नोर्मल हुई तो मैंने शॉट्स मारना स्टार्ट कर दिया. तो उनको भी कुछ देर में मजा आने लगा और वो आह आह ओह ओह की आवाजें निकाल रही थी और बोली की तुमने मेरी बरसो पुरानी ख्वाहिश को पूरा कर दिया हैं आज. ये सुन के मैं और भी जोश में आ गया और जोर जोर से गांड को चोदने लगा. करीब ७-८ मिनिट्स उनकी गांड मारने के बाद मैं थक गया. इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम उस वक्त वो २ बार अपना पानी छोड़ चुकी थी. मैं निचे लेट गया और वो मेरे ऊपर आकर मेरे लंड को अपने हाथ में लेकर सहलाने लगी. फिर लंड को चूत में ले लिया उसने और उछल उछल कर चुदवाने लगी. जब वो उछल रही थी तो उनके बूब्स आजाद पंछी के जैसे उड़ रहे थे.

उनके बूब्स को देखकर मेरे लंड में और भी जोर आ गया और मैं भी निचे से कस के शॉट्स लगाने लगा था. फिर जब मेरा पानी निकलने वाला था तो मैंने उनको बोला की मेरा पानी निकलेगा तो उसने कहा की अन्दर मत निकालना प्लीज़.

फिर वो मेरे ऊपर से निचे उतर आई और मेरे लंड को अपने मुहं में लेकर जोर जोर से चूसने लगी. करीब २ मिनिट में मेरे लंड से वीर्य की पिचकारी निकल पर और सब का सब वीर्य उसके मुह में और चहरे पर आ गया. फिर उसने अपने मुह पर पानी मारा और वीर्य साफ़ किया. मेरा लंड गन्दा हुआ था उसे उसने चूस के साफ़ किया और एक एक बूंद को लंड की नाली से निकाल ली. निराली भाभी की मस्त चूत और गांड की चुदाई कर के मुझे सुकून मिला! और मैं वही बिस्तर में न्यूड सो गया. भाभी भी मुझसे चिपक के सो गई. फिर मेरी नींद तब खुली जब २ घंटे के बाद भाभी ने नींद से जग के सीधे ही मेरे लंड को मुहं में ले लिया. भाभी के हसबंड के घर आने से पहले मैंने २ बार और सेक्स किया और अपने घर की और चल पड़ा!

indiansexkahani.com यह मेरी पहली स्टोरी हे, जब मुझे पहली जॉब लगी थी. मेने मेरी पढ़ाई २०१६ में पूरी कर ली थी. मेने एक इंजीनियर कोलेज से पढ़ाई की थी. मेरा जब कोलेज ख़तम हुआ तो मुझे ग्रेट नॉएडा से नॉएडा शिफ्ट होना था. मेने नॉएडा से सेक्टर ३७ में एक थ्री बेड होल किचन का फ्लैट ले लिया था, मेरे ४ फ्रेंड थे और वह भी मेरे ही साथ रहते हे, जब मेरी जॉब नही लगी थी तो मै बोहोत निराश हो चूका था. मेरे ही बिल्डिंग में एक भाभी रहती थी. और उसकी उमर मेरे ख्याल से २८ साल के आस पास होगी लेकिन वह लगती एकदम २१ साल की थी. उसने आपने शरीर को बहोत ही अच्छी तरह से रखा था और उसका फिगर भी बहोत धांसू था. मेरे ख्याल से वह रोजाना कसरत करती होगी तब जाकर इतना सुंदर और सेक्सी शरीर उसने रखा था. में हमेशा ही उनपे लाइन मारता था. और उनसे बात करने का मोका ही खोजता रहता था. एक बिन मुझे मौका मिल ही गया.

में हमेशा रात में चेट पे ऑनलाइन ही रहता हु क्योंकि में बहोत टेंशन में होता था और आप लोगो को तो पता ही हे की टेंशन में कभी अच्छी नींद नहीं आ सकती हे. एक रात में जब में चाट शेयर कर रहा था तो मुझे रितु नाम से एक २०० मीटर की रेंज में एक लड़की मिली. मेने उससे बात करनी स्टार्ट की तो तो पता चला की वो मेरे ही बिल्डिंग में रहती है. एंड और बात करने पर मुझे पता चल गया की ये कौन है. ये वही भाभी थी जिनपे में में इतने दिन से लाइन मार रहा था. उन्होंने मुझे पहले भी बिल्डिंग में उनपे लाइन मारते हुए देखा था. तो वो मुझे पहचान गई थी. उसने मुझे पूछा की तुम इतना घूरते क्यों रहते हो मुझे? मेने बोला की आप के जैसी कोई हे ही नई इस बिल्डिंग में,एंड में जब भी आपको देखता हु तो कंट्रोल ही नही कर पाता अपनी आँखों पे.

उन्होंने एक स्माइली  भेजी. फिर उन्हो ने पूछा के तुम्हारी कोई गर्ल फ्रेंड वगेरा हे की नहीं हे? मेने बोला की अभी तक तो नही है.

फिर मेने पूछा के में आपको इतना लाइन मारता हु तो आपको कैसा लगता हे, तो उन्होंने बोला की मेने उस तरह से आज तक सोचा ही नही हे. एंड इतना ध्यान ही नही दिया आज तक.

फिर मेने पूछा की तुम अभी भी  चेट क्यों इस्तेमाल करती हो आपकी तो शादी भी हो चुकी हे, तो उन्होंने बोला के उसके हसबंड के पास टाइम ही नही होता उसके लिये, तो इसलिए बोर होती रहती हु दिनभर, इसलिए  चाट करती हु, फिर ऐसे ही करते करते हमारी उस दिन बात सुबह के ५ बजे तक चली, फिर उसने बोला की उसको नींद आ रही है.

तो मेने बहाना बना कर उसका नंबर माँगा, तो उसने बोला की तुम अपना नंबर दे दो में व्हाट्सअप कर दूंगी, मेने अपना नंबर उसको सेंड कर दिया. फिर उसका कोई रिप्लाई नही आया शायद वो सो गयी थी, मेने भी फिर मेसेज नही किया एंड सो गया.

सुबह जब १२ बजे सो के उठा तो देखा के कोई मेसेज नही आया था. मेने फिर उसको  चाट पे ही पिंग किया. उसका उस टाइम तो कोई मेसेज नई आया तो में समजा की उसे कुछ जरुरी काम होगा इसीलिए वह मुझे जवाब नही दे रही हे. और में भी अपना काम करने लगा. इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम लगभग ३ बजे के आस पास एक अनजाने नंबर से व्हाट्सअप आया, मेने डीपी चेक किया तो पता चला की भाभी ने  मेसेज किया था. मेने फिर उसको हेलो भेजा, एंड पूछा के सुबह से कोई मेसेज ही नही किया, तो उसने बोला की बिजी थी, मुझे आज मेरे पुरे घर की साफ सफाई करनी थी तो मुझे मेरा मोबाईल हाथ में लेने का भी टाइम नहीं मिला था. एंड अभी फ्री हुई हु, फिर ऐसे ही बात होने लगी, एंड उसने मुझे पूछा की मेरी गर्लफ्रेंड क्यू नही है?

मेने बताया की आज तक मौका ही नही मिला, एंड ये भी बताया की में बहोत बार फिसिकल हुआ हु रैंडम लडकियों के साथ. लेकिन कोई लड़की मेरे साथ दोस्ती नही करना चाहती थी.

तो उसने शोक्ड वाली स्माइली भेजी एंड पुछना स्टार्ट कर दिया की कैसे मिली वो सब लडकिया, मेने बताया की में स्टोरी लिखता हु और उस पर में लिखता हु के यह मेरी मेल आय डी हे और कोई आंटी, भाभी, लडकी मेरे साथ सीक्रेट सेक्स करना चाहती हे तो मुझे मेल करे उनकी सारी इच्छा पूरी की जाएगी और उनकी सारी बाते एकदम प्रायवेट रहेंगी जिस के कारण उनको लाइफ में आगे जाके कभी कोई प्रॉब्लम खड़ी ना होने पाए. तो मेरी कहानिया लडकिया भी पढ़ती हे तो मुझे उनके साथ करने का मोका मिल जाता हे. वही से मिली, एंड मेने उसको अपनी स्टोरी की लिंक भी भेज दी.

उन्हों ने पहले तो बोला की वो ये सब नही पढ़ती, एंड टोपिक चेंज कर के बात करने लगी, आज मेरा घुमने जाने का प्लान बना फ्रेंड के साथ, एंड में भाभी को बाय बोल के चला गया. में जब रात को वापस आया तो मेने मेसेज किया उनको.

पहले तो नोर्मल बात हो रही थी, फिर उन्होंने बताया की अच्छी स्टोरी हे, मेने बोला की ये मेरी रियल स्टोरी है.

मेने उनसे पूछा की उनको स्टोरी में सबसे अच्छा क्या लगा? तो में उनका रिप्लाई सुनकर शोक्ड हो गया, उन्होंने बताया की टेरेस पे सेक्स एंड मसाज वाली चीज, फिर मेने उन्हें बताया की मै आयल मसाज अच्छा करता हु. एंड पूछा की आपको ट्राय करना हे क्या मेरे हाथो से मसाज.

तो उनका थोड़ी देर तक तो कोई रिप्लाई नही आया, मेने फिर सोरी भेजा, एंड थोडा पोक किया तो थोड़ी देर बाद उनका ओके आया, मेने पूछा की ये ओके किस लिए, तो उन्हों ने बोला के वो मसाज के लिए रेडी हे, एंड एक स्माइली भेजी, मेने पूछा की आप कब फ्री हो? उन्होंने बताया की उनके हसबंड आज नही है क्योंकि वह उनके काम के कारण दो दिन के लिए एक टूर पर गये हुए हे और में घर पे अकेली हु.

तो मेने बाथ लिया एंड उनसे बिना पूछे ही रेडी हो के उनके फ्लैट के गेट के सामने गया. एंड बेल बजाई. उन्होंने गेट खोला तो वो एकदम शोक्ड हो गयी. पहले उन्हों ने अगल बगल चेक किया के कोई देख तो नही रहा एंड मुझे हाथ पकड के अन्दर खीच लिया. एंड मुझसे बोलने लगी की पूछ के तो आना था. मेरे फिर बोला की नेक्स्ट टाइम पूछ के ही आऊंगा. फिर उन्हों ने एक नॉटी वाली स्माइल दी. इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम फिर वो मुझे मेरा हाथ पकड़ कर खींचते हुए अपने बेडरूम के अन्दर ले कर गई. एंड थोड़ी देर तक तो बाते की, मेने फिर थोड़ी देर बाद उनसे खुद ही बोल दिया की कोकोनट ओइल ले आईये. उन्हों ने बोला की बड़ी जल्दी हे तुमको, मेने बोला हा. फिर वो उठी एंड एक बोटल में कोकोनेट ओइल लेकर आई. मेने उसको कपडे खोलने को बोला तो वो शर्माने लगी.

फिर में खड़ा हुआ एंड एकदम उसके पास गया. उसकी आँखों ने देखा एंड उसको एक टाईट सा हग किया. उसने फिर मुजको किस करना स्टार्ट कर दिया. मेने भी उसका साथ दिया. एंड हमने थोड़ी देर तक किस की, फिर मेने किस करते करते उसके शर्ट के बटन खोलना स्टार्ट कर दिया. मेने जब उसके पुरे के पुरे बटन खोल दिए तो वो शर्मा के मुझे और टाइट से हग करने लगी. मेने फिर बोला की इतना मत शरमाओ. मेने फिर बोला की अगर में नंगा हो जाऊ तब तो नही शरमाओगी ना? उसने बोला ओके.

मेने तुरंत ही अपनी टी शर्ट एंड शॉर्ट्स उतर दी. फिर में उसके पास गया. एंड उसकी भी शर्ट उतार दी, उसने आँख बंद की हुई थी. मेने फिर उसका लोअर भी उतार दिया एंड उसको बेड पे लेटने को बोला. वो उल्टा लेट गयी. मेरे फिर उसकी ब्रा भी खोल दी. एंड पेंटी भी साइड कर के उतार दी. अब वो मेरे सामने पूरी नंगी थी. मेने फिर उससे बोला की तुम तो बिना कपड़ो के और भी सेक्सी लगती हो. एंड मेने फिर हाथ में ओइल लगाया. एंड उसके बेक पे मसाज करने लगा. वो अब थोडा थोडा ओपन हो गयी थी. उसको भी अच्छा लग रहा था. मेने फिर उसके शोल्डर एंड बेक पे मसाज किया. उसके बाद मेने उसके लेग पे ओइल लगाया. एंड लेग पे मसाज किया. वो पूरा एन्जॉय कर रही थी. एंड वो तड़प भी रही थी.

उसने अपने लेगस स्प्रेड कर लिए थे. में उसकी एसहोल एंड  चूत का क्रेक देख सकता था. मेने आयल वाला बाउल लिया एंड ओइल उसकी एसहोल पे गिराया. फिर उसकी गांड एंड चूत के आसपास वाले एरिया में मसाज करने लगा. वो थोडा थोडा मोअन कर रही थी. एंड अपने लेग्स और स्प्रेड कर दिये थे.

में समज गया की वो चाहती हे की में उसकी चूत पे मसाज करू. बट मेने उसको और तडपाने की सोची.

मेने उसको सीधा लेटने को बोला. वो बिना कुछ बोले ही पलट गई. मेने फिर उसके बूब्स पर धीरे से सारा ओइल गिराया. एंड उसके बूब्स को मसाज करने लगा. वो और जोर जोर से मोअन करने लगी. एंड खुद से ही अपनी पुसी को रब करने लगी.

मेने उसका हाथ पकड़ के रोक दिया. एंड बोला के कंट्रोल करो. मेने फिर उनके नवेल पे ओइल गिराया एंड उसके पेट वाले एरिया पे मसाज करने लगा.  उसके बाद में मसाज करते करते नीचे आने लगा. मेने उसके चूत के लिप्स के साइड पे मसाज किया एंड फिर धीरे से सारा ओइल उसकी चूत के ऊपर गिरा के उसकी चूत रब करने लगा. उसकी चूत आलरेडी बहोत वेट हो चुकी थी. अब तो मुझसे भी कंट्रोल नई हो रहा था. मेने फिर भी कंट्रोल किया. एंड उसकी चूत एंड गांड के होल पे मसाज करने लगा.

वो अपनी चूत उठा उठा के मुझसे मसाज करवा रही थी. मेने फिर थोडा और ओइल लिया. एंड उसकी चूत एंड गांड दोनों में एक साथ फिंगर दाल दी. उसने जोर से चीख निकाली. मेने और ओइल लगाया. एंड उसकी चूत एंड गांड दोनों में एक साथ स्लोली स्लोली फिन्गेरिंग कर रहा था.

वो अब बहोत तेज तेज से मोअन कर रही थी. मुझे उसकी वेट पुसी देख के कंट्रोल नई हो रहा था. मुझे चूत लिक करना बहोत पसंद है. मेने फिर फिन्गरिंग करते करते उसकी चूत लिक करनी स्टार्ट कर दी.

उसके बाद में उसकी क्लिट रब कर रहा था. एंड में उसकी चूत चाट रहा था. वो मेरे लिकिंग के साथ ही अपनी चूत ऊपर नीचे कर रही थी. एंड थोड़ी ही देर उसने मोअन की स्पीड बढ़ा दी. औउ आयी आह्ह्ह येस्स आह्ह येस्स्स्स ओह्ह औऔउ ऐईई येस्स ओह्ह्ह बेबीईई और करो आह्ह्ह अम्म्म. एंड चूत को मेरे मुह में और फ़ोर्स करने लगी. उसका जेसे ही पानी निकलने वाला था, तो वो अचानक से उठी एंड मेरा सिर पकड के अपनी चूत में सटा दिया. एंड अपना सारा कम मेरे मुह में ही निकाल दिया.

उसके बाद मैंने जब उसका कम मेरे जीभ से चाट लिया तो उसने मुझे ऊपर उठाया और मुझे किस करने लगी, और उसने अपना खुद का रस थोड़ा सा मेरे मुह में से पिया. हम दोनों के थूक एक दूसरे के साथ मिल रहे थे. फिर उसने मुझे किस करते हुए अपना एक हाथ मेरे लंड पर रखा और मेरे लंड को सहलाने लगी. उसके हाथ लगाते ही मेरी पूरी बॉडी में करंट सा लग गया और फिर मैं उसे बहुत जोर जोर से किस करने लगा. फिर उसने मुझे नीचे लेटने को कहा पर मैं बिना कुछ बोले लेट गया.

फिर उसने अपनी चूत मेरे मुंह के ऊपर रखी और मुझे बोली कि अब इसको चूस और वह मेरा लंड अपने मुंह में लेकर चूसने लगी. मुझे तो अपना लंड चूसाने में बहुत मजा आ रहा था और मैं अब उसकी चूत और अच्छे से लिक कर रहा था उसकी चूत अभी भी भीगी थी और उसका प्रिकम आ रहा था. उसने मेरे लंड को बहुत  देर तक सक किया लेकिन मेरा वीर्य बाहर नहीं आ रहा था, तो उसने बोला कि अब चुदाई करते हैं. मैं भी तुरंत रेडी हो गया, मैंने अपने शोर्ट से कंडोम निकाला और पूछा कि तुम पहनाओगी की में खुद पहन लू?

फिर उसने कहा मेरे हाथ से कंडोम छीन लिया और मेरे लंड पर पहनाने लगी. उसने मेरे लंड पर कंडोम पहना दिया और मेरे सामने देख कर बोली के मेरे होते हुए तुम्हारे लंड को तुम भी हात नहीं लगा सकते क्योंकि आब आज के बाद इस पर मेरा पूरा पूरा अधिकार हे. फिर मैंने उसको लेटने के लिए बोला और सीधी लेट गई. फिर मैंने उसके पैर पकड़े और उसको खोल दिया और फिर मैं धीरे धीरे बीच में गया और उसकी चूत पर अपना लंड रगड़ने लगा.

फिर मैंने एक शॉट दिया और लंड उसकी चूत में डाल दिया पूरा का पूरा. उसे थोड़ा सा दर्द हुआ तो उसने आवाज निकाली मैंने पूछा क्या हुआ तो उसने बोला की बहुत दिन से किया नहीं है तो इसलिए मुझे दर्द हो रहा है. तुम्हारे अंकल तो मुझे कभी कभी एक महीने तक हाथ भी नही लगाते हे, और में एकदम तडपती रहती हु अपनी गर्म चूत की आग को शांत करने के लिए. मैने कहा की अब आप को तदपने की कोई भी जरूरत नहीं हे. आपकी जब इच्छा हो जाये तब आप मुझे बुला लेना, में वादा करता हु की यह बात सिर्फ हमारे दोनों के बिच ही रहेगी. फिर मैंने धीरे धीरे  से चुदाई शुरू कर दिया वह मेरे एक एक धक्के के साथ मौन कर रही थी. अहह अह्ह्ह अह्ह्ह ओह्ह ओह्ह ओह एस स्श्ह येस्स अह्ह्ह यस्स अहह्ह्ह  और मेरी पीठ पर अपने नाखून से निशान बना रही थी. फिर मैंने धीरे धीरे  अपनी स्पीड तेज कर दी. और उसको फुल स्पीड मैं जोर जोर से धक्के देकर चोदने लगा. और उसने और जोर से आवाजे निकालना स्टार्ट कर दिया आह्ह्ह औऊउ अह्ह्ह औऊ ओह्ह्ह आयी अह्ह्ह आऊह्ह ओह्ह्ह. उसकी आवाज इतनी सेक्सी लग रही थी उस टाइम तक मैं १० मिनट में ही मेरा कम आ गया.

फिर मैं उसकी साइड में ही लेट गया. अब वह मेरे हाथ पर अपना सिर रख कर लेट गई. और मुझसे बातें करने लगी और फिर उसने मेरे साथ बातें करते करते मुझे थैंक यू बोल दिया. मैंने पूछा किसलिए थैंक्यू बोल रही हो? तो उसने बोला की मुझे खुशी देने के लिए. उसने कहा की मुझे आज जितनी ख़ुशी हुई हे उतनी कभी मेरी जिंदगी में नहीं हुई हे. में आज तक अधूरी ओरत थी और आज तूने मेरी सारी इच्छा पूरी कर के मुझे एक सम्पूर्ण स्त्री बना दिया हे. फिर मैंने उसे वापस किस किया और बोला कि मैं बहुत नसीब वाला हूं कि मुझे तुम मिली, और थोड़ी ही देर में मेरा लौड़ा फिर से खड़ा हो गया. इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम

उसने मेरे लंड को थूक लगाया और फिर खड़ा किया और फिर से चूसने लगी. जब मेरा लंड अच्छे से खड़ा हो गया तो उसने मुझे कंडोम मांगा. मैंने उसे कंडोम निकाल कर दिया.

उसने मुझे फिर से कंडोम पहनाया और मेरे लंड को कंडोम के ऊपर से फिर से सक करने लगी. मैंने फिर उसको बेड में धक्का दिया और उसके एक पैर को हवा में उठा कर उसकी चूत में लंड डाल दिया. इस बार मेरा लंड बहुत आसानी से उसकी चूत के अंदर घुस गया, और मैंने फिर से उसको चोदना शुरू कर दिया. फिर उसने मेरे कान के पास आकर बोला कि मुझे डॉगी स्टाइल में सेक्स करना है, मैंने बोला ठीक है. और फिर वह डॉगी वाली पोजीशन में आ गई.

मैंने पहले तो उसकी चूत पर थूक लगाया फिर उसकी चूत को बहुत चाटा. उसके बाद मैंने उसकी चुदाई स्टार्ट कर दिया. इस पोजीशन में चुदाई का और भी मजा आ रहा था पर मुझे भी बहुत मजा आ रहा था और वह अपनी गांड आगे पीछे करते मेरा साथ दे रही थी.

मैंने कुछ देर तक उसको इसी पोजीशन में चोदा और उसके बाद मैंने उसे उसकी गांड मारने की परमिशन मांगी. तो पहले उसने एकदम से मना कर लिया, फिर वह बोली अगर तुझे मेरी गांड मारनी है तो पहले तुझे मेरी गांड को चूसना, चाटना पड़ेगा तो मैं तो बहुत खुश हुआ और हां कर दी. फिर मैंने उसकी गांड पर थूक लगाई और उसकी गांड को चाटने लगा. वह धीरे धीरे मोंन कर रही थी और फिर चिल्ला रही थी और जोर से चाटो.. और जोर से करो… मुझे बहुत मजा आ रहा… है फिर मैं उसकी गांड में अपनी जीभ  डालने की कोशिश कर रहा था लेकिन वह घुस नहीं पाई.

फिर मैंने उससे पूछा कि क्या अब मैं कर सकता हूं? उसने बोला ठीक है, अब तुम मेरे    गांड को मार सकते हो. फिर मैंने अपने लंड पर थूक लगाया और अपना लंड उसकी गांड के पास रखा और धीरे धीरे  अंदर घुसने की कोशिश करने लगा. फिर जब मैं उसकी गांड में लंड डालने की कोशिश करता तो वह उछल कर आगे चली जाती.

मैंने फिर थोड़ा सा तेल लगाया अपने लंड पर और उसकी गांड पर और फिर से कोशिश करने लगा इस बार मेरा लंड थोड़ा सा अंदर चला गया, तो वह चिल्लाने लगी इसे बाहर निकालो मुझे बहुत दर्द हो रहा है आह्ह ईई अह्ह्ह हह्ह्ह ईई अह्ह्ह औऊ. लेकिन मैंने उसकी कुछ न सुनी और धीरे धीरे  धक्के लगाना शुरू कर दिया और फिर मैंने अपना पूरा लंड उसकी गांड में डाल दिया. मुझे उसकी कांड की पूरी स्किन फिल हो रही थी बहुत टाइट थी उसकी गांड. मैंने फिर अपने लंड पर और तेल लगाया और धीरे धीरे  उसको शॉट मारने लगा. थोड़ी देर में उसको भी मजा आने लगा और वह भी अपनी गांड आगे पीछे कर कर के मुझसे चुदाई करने लगी, और फिर वह चिल्लाने लगी और जोर से करो प्लीज़… और जोर से करो… आज मेरी गांड फाड़ के रख दो… प्लीज और जोर से करो… मुझे बहुत मजा आ रहा है… मैं तो डर रही थी कि गांड मारने में बहुत दर्द होता है लेकिन अब पता चला कि इसमें तो बहुत मजा आता है. फिर मैंने अपनी स्पीड और बढ़ा दी और उसको तेज तेज से धक्के मारने लगा.

मैंने उसकी गांड में २० मिनट तक बहुत जोर जोर से धक्के लगाए और उसके बाद मैं थक गया. तो उसने बोला कि अब तुम लेट जाओ और मैं तुम्हारे ऊपर आती हूं तो मैं बिना कुछ बोले नीचे लेट गया और वह मेरे ऊपर आ गई. उसने मेरा लंड अपने गांड के अंदर डाला और मेरे ऊपर बैठ गई. मेरा पूरा लंड उसकी गांड में चला गया इस बार थोड़ा ज्यादा गया था. वह अब उछल उछल कर चुड रही थी. अब मुझे बहुत मजा आ रहा था और उसे भी मजा आ रहा था. फिर उसने अपनी स्पीड को और तेज कर दिया.

मैं थक गया था इसलिए मैं निकालना चाहता था अपना वीर्य. इसलिए मैंने उसको वापिस से डॉगी स्टाइल में आने को बोला तो फिर ऊपर उठकर डॉगी स्टाइल में खड़ी हो गई. और फिर मैंने उसकी गांड में अपना लंड डाल कर उसे चोदना शुरु कर दिया और फिर मैंने उसको बहुत देर तक चोदने के बाद मेरा कम थोड़ी देर में आ ही गया. मैंने वीर्य आने के बाद भी उसको चोदा, उसके बाद थक कर लेट गया.

वह भी बहुत थक चुकी थी और मेरे बगल में आकर लेट गई थी. हम दोनों ही थक गए थे. फिर मैंने मजाक में कहा कि अभी तो और भी पोजीशन ट्राई करनी है तो उसने बोला कि इस बार बालकनी में करेंगे. इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम

लगभग ३० मिनट के बाद मेरा लंड खड़ा हो गया उसने सहलाके  उसको और कड़क कर दिया. इस बार उसने बोला कि इस बार बिना कंडोम के ही मुझे चुदाई करनी हे.

पहले तो मैंने मना कर दिया लेकिन फिर मान गया. मैं उसको हाथ में उठाकर बालकनी में लेकर गया. वहां पर कारपेट बिछाया और उसको लिटा दिया. बालकनी में बहुत ठंडी ठंडी हवा चल रही थी, और मेरे लंड पे बहुत ठंडी हवा फिल हो रही थी, मुझे तो बहुत मजा आ रहा था.

उसके बाद मैंने उसकी दोनों टांगें हवा में उठाई और उसको चोदने लगा. उसे इस पोजीशन में बहुत मजा आ रहा था, मैंने उसके पैर हवा में ही देख खोल दिये और उसको जोर जोर से चोदने लगा. वह बहुत जोर जोर से आवाज  निकाल रही थी मैंने उसको बोला कि इतनी आवाज मत निकालो तो उसने आवाज धीरे कर दी.

उसके बाद मैंने उसको खड़ा होने को बोला और उसको दीवार से लगा कर खड़ा कर लिया और उसकी एक टांग हवा में उठाई और उसको फिर से चोदने लगा वह मेरी आंखों में देख रही थी और मैं उसको देख कर और जोर जोर से चोद रहा था. इस बार बहोत ट्राय करने के बाद में मेरा लंड का वीर्य नही आया.

मैं थक गया था और वह भी थोड़ा थक गई थी. फिर हमने डिसाइड किया कि सुबह उठकर फिर से मजे करेंगे. वह मेरे बगल में लेट गई और बोली प्लीज मुझे ऐसी ही चोदते रहना और फिर वह मेरे हाथ पर अपना सिर रखकर मेरी बाहों में ही लेट गई उसके बाद हम सो गए.

Hindi sex हेलो दोस्तों, मेरा नाम अवि(नाम चेंज) हे. और में सूरत (गुजरात) का रहेने वाला हू. Stories  मेरे लंड का साइज़ ८ इंच का हे. और इतना बड़ा लंड किसी भी ओरत और लड़की को अच्छे से खुश कर सकता हे. में अभी मास्टर्स कर रहा हु. और में मास्टर्स की एग्जाम देने के लिए अहमदाबाद गया था. सो स्टोरी स्टार्ट…

में सुबह ५ बजे अहमदाबाद पहोचा. वहा पर मेरे एक फ्रेंड के साथ और उसके रिश्तेदार के घर चले गये. और में वही पर सो गया. हमारा एग्जाम ३ बजे था. सो हम १२:३० बजे घर से निकले. और एग्जाम ४:३० को ख़तम हो गया. हालाकी मेरा फ्रेंड वही पर रुकने वाला था. और में उसी दिन  सूरत वापस लोटने वाला था. तो मेने तय किया की में बस में रेलवे स्टेशन पर पहोचता हु. तो फिर में नजदीक के बस स्टैंड पर पहोचा तो देखा की वहा तो बहोत ही ट्राफिक थी. वहा पर मेने एक बड़ी लड़की को देखा. वो एज में मुझसे थोड़ी बड़ी थी. और में उसी बड़ी लड़की के पीछे खड़ा रह गया. इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम वो दिखने मे थोड़ी सावली थी. पर उसका फिगर बहोत ही बेहतरीन था. जैसे कोई न्यूली मेरीड भाभी की तरह. लिप्स मीडियम साइज़ के और रसीले. उसने लिपस्टिक बहोत अच्छी की थी खुशबूदार. बड़े बूब्स और पीछे निकली हुई बड़ी सी बेहतरीन गांड. ऐसे फिगर की लडकिया कम ही दिखने को मिलती हे. उसने मुलायम शर्ट और  जीन्स पहनी हुई थी. शर्ट में से उसके बूब्स को में साफ साफ देख सकता था.

फिर बस आई. बहोत भीड़ होने के कारन हम उस बस में नही चढ़ पाए. हम को दूसरी बस का वेट करना था. क्योकि वहा पर भीड़ बहोत ज्यादा थी. तो मेरा हाथ उसके कंधे पर था. और मुझे मजा भी आ रहा था. शायद वो भी मजा ले रही थी. और मेने फोग का डीओ लगाया था. तो सायद वो भीड़ में मेरे डियो की खुश्बू ले रही थी. और मेरी और देखकर उसने एक अजीब सी स्माइल की. फिर थोड़ी देर बाद बस आ गई. सो हम लोग उस बस में चड गये. वहा पर बहोत ज्यादा ही भीड़ थी. तो में उसके एकदम सामने खड़ा हो गया. और वो भी मेरे सामने खड़ी थी.  उसका सिर मेरे कंधे पर था. और वो डियो की बेहतरीन खुस्बु से मजे ले रही थी. और हमारी आंख एक दुसरे से मिली तो शर्मा गई और स्माइल की. मेने भी जवाब में उसके सामने स्माइल की. बट में भीड़ के कारन अपना सिर भी नही हिला पा रहा था. और वो मुझे हग करके खड़ी थी. क्यों की वो भी नही हिल पा रही थी. तो मेरा हाथ उसके बूब्स को जरासा टच कर रहे थे. मेरा तो हाथ टच होते ही मेरा लंड खड़ा हो गया. और उसको शायद टच भी करने लगा था.

फिर बस जब भी टर्न या ब्रेक लगाती तो में उसके बूब्स को टच करता था. फिर मेने अपना पूरा का पूरा हाथ उसके बूब्स पर रख दिया. और हलके से दबाने लगा. शायद उसने नोटिस भी किया. बट उसने कुछ किया नही. और ना स्माइल की. तो में जरा कंफ्यूज हो गया. बट भीड़ ज्यादा थी तो हम कर भी क्या सकते थे. इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम

फिर मेने अपना पूरा का पूरा हाथ उसके बड़े बूब्स पर रख दिया और सीधा दबाने लगा. फिर उसने मुझे देखा और देखती ही रह गई. इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम

फिर बस एक स्टेसन पर रुकी. तो और ज्यादा पैसेंजर चड़े. भीड़ बहोत ज्यादा ही बढ़ गई. लगा की भीड़ की वजसे हमें अलग होना पड़ेगा. तो में पीछे चला गया. बट वो भी मेरे आगे आकर खड़ी हो गई. उसने टाइट से अपनी गांड को मेरे लंड को दबा दिया.

और वो बिना कोई वजह के अपनी गांड को मेरे लंड पर हिलाने लगी. भीड़ की वजह से उसने अपने हाथ उसके आगे खड़ी लड़की के कंधे पर रख दिया. और मेने मेरा हाथ उसके हाथ के निचे से उसके बूब्स पर रख दिए. और अपना मुह उसकी गर्दन पर रख दिया. में फिर से हलके से उसके बूब्स दबाने लगा. और उसकी और देखने लगा. उसने नोटिस किया और साथ में एक हलकी सी स्माइल भी की. उसकी ये हरकत से मुझे परमिशन मिल गई. तो में फिर जोर जोर से उसके बड़े बूब्स को दबाने लगा. वह हलकी सी आह्ह्हेई …..ले रही थी. और अपनी गांड हिलाकर मेरे लंड को मसल रही थी.

मेने अपना एक हाथ नीचे करके उसकी शर्ट के अन्दर से अपना हाथ डाल कर उसे जोर से अपनी और खीच लिया. और वो पूरी की पूरी मेरी बाहो में आ गई. इसकी वजह से उसकी गर्दन पर मेरा एक किस हो गया. और साथ में बूब्स को भी बहोत जोर से दबाया. तो उसके मुह से हल्किसी आवाज निकल गई आहाहाह हाहाहा……..

फिर मेने अपना एक हाथ उसकी जीन्स के ऊपर से ही उसकी चूत के ऊपर घुमाने लगा. उसे और भी मजा आने लगा.

फिर उसने अपने मोबाईल में कोल आने का नाटक किया. और अपना हाथ उसकी जेब में डाला फोन निकला और देखकर वापस रखा. हाथ पीछे करके मेरे लंड को मेरे जीन्स के ऊपर से ही रगड़ ने लगी. मुझे तो जेसे करंट ही लग गया,उसने अपने हाथ से मेरी जीन्स के ऊपर से ही मेरा लंड मेरी निकर से बहार निकाला और दबाने लगी. जब मेरा लंड मेरी निकर से बहार निकला तो फिर उसने हाथ में पकड़ा.( जीन्स के अन्दर ही) फिर वो शोक हो गई. सायद उसे लगा की ये लंड बहोत ही बड़ा हे.

फिर वो लंड को रगड़ रही थी. और में अपने हाथ से उसके बूब्स को दबा रहा था. फिर वो हलके से सिस्कारिया भर रही थी. मेने अपना एक हाथ उसके शर्ट के उंदर से डाल कर उसकी ब्रा हटा के उसके निपल को दबाने लगा. वो बहोत उत्तेजित हो गई थी. और तेजी से मेरा लंड दबाने लगी. १२ मिनिट ऐसे ही चलता रहा. फिर मेने पीछे से जोर से उसकी गर्दन पर किस किया. और उसे पूरी की पूरी तरह से अपनी बहो में ले लिया. वो शर्मा गई. एंड हँसने लगी और मजे लेने लगी. इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम

फिर हमारान स्टेशन आ गया. हम साथ में ही बस से निचे उतर गये. वो अपनी सहेलियों के साथ आई हुई थी. फिर उसने जल्दी से आपना मोबाईल निकाला. में समज गया. मेने जल्दी से उसे अपने मोबाईल नम्बर  दिया. और उसने कंफर्म किया. और साथ में उसने जल्दी से अपना मोबाईल नम्बर दिया. और वो २-३ बार अपना मोबाईल नम्बर बोली.

फिर वो अपनी फ्रेंड के साथ चली गई. और मुझे एक सेक्सी स्माइल दी. और धीरे से हल्का हाथ उठाके उसने मुझे बाय कहा. और वो अपनी फ्रेंड के पीछे पीछे चली गई. और स्माइल करति करती मुझे ही देख रही थी. में एक जगह पर खड़ा हो गया. मुझे तो समज ही नही आ रहा था की में क्या करू.

फिर मुझे याद आया की मेरा लंड अभी भी मेरी जीन्स में से बहोत ज्यादा दिख रहा हे. मेने अपना हाथ अपनी जेब में डाल कर अपने लंड को सेट किया. और अपनी ट्रेन के लिए निकला. करीब रात को १०:१५ उसका कोल आया. मुझे अभी तक उसका नंबर याद था.

फिर उसने कहा पहचाना मेने कहा की आपको कैसे भूल सकता हु. आप एक सपनो की रानी बनकर मेरी जिन्दगी में जो आये हो. और उसने अपना नाम बताया. उसका नाम सपना (नाम चेंज)था. और हम करीब ११:३० तक बात करते रहे. और मे फिर घर पहोचने वाला था तो मेने कहा अब में फोन रखता हु मेरा घर आ गया हे.

तो उसने बताया की आप बहोत अच्छे हो. आप बहोत ही अच्छे से बात करते हो. एकदम फनी हो आप. मुझे आपसे प्यार हो  गया हे. मेने कहा आप मुझे आप आप क्यों कह रहे हो  में शायद आपसे छोटा हु. आप मुझे तुम बुलाओ. फिर उसने कहा ठीक हे. चलो में बादमे बात करता हु. ऐसा कहके हमने फोन रख दिया.

फिर मेने रात को व्हाट्सआप पर उसके साथ चेटिंग की. और वो मेरी दीवानी हो गई थी. हम रोज रोज बात और चेट करने लगे. और हम सेक्सी बाते भी करने लगे थे. फिर उसने कहा….

सपना : तुम यहाँ मेरे घर पर आओ न.

में  : अरे पगली कैसे आउ. कोई रीजन भी तो मिलना चाहिए ना घर से निकल ने के लिए?

सपना : तुम बाते बनाने में बड़े ही एक्सपर्ट हो आ जाओ कुछ दिन के लिए.

में   : वहाहह वाहह्वाहा…. में वहा आके कहा रुकुंगा? मेरा वहा कोई भी घर नही हे. एक काम करो तुम ही आ जाओ यहाँ पर हमारा एक फार्म हाउस हे. हम २-३ दिन के लिए वहा रह जायेंगे.

सपना : अरे ऐ आईडिया हे…. मेरे मम्मी पापा कुछ दिनों के लिए बहार जा रहे हे. एक वीक के बाद. तुम तब तक कोई रिजन सोच लो. और यहाँ पर आ जाओ. मेरे ही घर पर मेरे पडोसी भी बहार गये हुए हे. हम साथ में रहेंगे.

में  : ठीक हे में कुछ सोचता हु.

सपना : उसमे सोच ने का क्या…..? तुम आ जाओ बस…तुम यहाँ पर कोई भी टेंशन मत लेना. में सब अरेंज कर दूंगी.

में   : ठीक हे. अभी के लिए एक सेक्सी वाली पिक भेज दो मुझे.

सपना ने फिर एक पिक भेजी और में मुठ मार ली. बाद में मेने प्लान बनाया. उसके घर जाने के लिए. और घर पे बोल दिया की मुझे वेरिफिकेशन के लिए जाना हे.

और एक वीक के बाद में फिर से अहमदाबाद पहोच गया. वो बाइक लेके मुझे रिसीव करने आई थी. मेने सीधा ही उसे पूछ लिया की अगर तुमारे पास बाइक हे फिर उस दिन क्यों ट्रावल किया. तो उसने बताया की वो उस दिन उसकी सभी फ्रेंड के लिए बस में आई और उसने कहा “तुमसे मिलना जो था इसी लिए” और वो जोर से हसने लगी…..

फिर हम चल पड़े उसके घर की ओर… में जब उसके घर पहोचा तो में देखता ही रह गया. बहोत ही बडा घर था उसका. उसने बताया की आज उसने सरे नोकर को छुटी दे दी हे. फिर उसने मुझे फ्रेश होने को कहा. में सीधा उसको किस करने लगा. तो उसने बोला की में कहा भागी चली जा रही हु. पहले फ्रेश तो हो जाओ. पर मुझे पता था की उसके अन्दर मुझसे भी ज्यादा आग लगी हे. फिर में नहाने चला गया. थोड़ी देर बाद वो टावर लेकर खुद भी बाथरूम में आ गई.

वो अपने कपडे चेंज करने आई हुई थी. क्या मस्त लग रही थी. उसने टी शर्ट और नीचे लेगिंगस जैसा स्मूथ सेक्सी लेंघा पहना हुआ था. वो भी साथ में नाहने लगी. उसका बदन शोवर में भीगने लगा. जिसकी वजह से वो और भी सेक्सी लगने लगी. और एक बात बता दू दोस्तों अगर कोई लड़की या भाभी या आंटी हलकी सी लिपस्टिक लगाकर पानी के सोवर में भीग जाये तो वो बहोत ही ज्यादा सेक्सी लगती हे. हम साथ में नहाने लगे. और वो मजे से मेरे बदन को हाथ लगा रही थी. में बस उसकी हरकतों को ही देखता रह गया.

और फिर उसने अपने भीगे रसीले लिप्स मेरे होठ पर रख दिए. और न जाने उसे क्या हो गया था…? वो पागलो की तरह मुझे किस करने लगी. और अपनी पूरी ताकत से मुझे अपनी और खीचने लगी. और हम दो जिस्म एक जान बन गये. फिर हम नहाकर बहार आये. और भीगे भीगे ही एकदूसरे को देखने लगे. इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम

वो बहोत ही खुश दिखाई दे रही थी. और मेरे प्यार के लिए तड़प रही थी. फिर हम उसीके रूम में चले गये. मेने उसको किस किया. और साथ में उसका टी शर्ट भी उतार दिया. हम खड़े ही थे. हम जस्ट अभी ही बाथरूम से आये थे.

लेकिन फिर भी वो गरम (हॉट) लग रही थी. उसके गरम जिस्म को छूके मुझे जन्नत का अहेसास होने लगा. फिर में उसके ब्रा के उपर से ही उसके बूब्स को दबाने लगा. और वो मौनिंग करने लगी. और मजे लेने लगी. फिर मेने उसकी ब्रा को निकल दिया. और खड़े खड़े ही उसके बूब्स को चूसने लगा. उसे बहोत ही मजा आ रहा था. उसने पागलो की तरह मेरे मुह को उसके बूब्स पर दबाने लगी. और कहने लगी. और जोर से चुसो. और जोर जोर से चुसो…. चुस्स्सो और जोर से चुस्स्सो……आआआ हाहाहा आआआअ.

फिर उसने मेरे चड्डी के ऊपर से ही मेरे लंड को रगड़ने लगी. मुझे तो जन्नत का अहेसास हो रहा था. फिर उसने मेरे चड्डी निकाल दिए. और मेने उसकी लेगिंस और पेंटी भी निकल दी. हम दोनों पूरी तरह से नंगे हो चुके थे. मेने पहली बार किसी को नंगा देखा था. वो मुझे किस करने लगी. और मुझे अपनी और खीचने लगी. मेरे लंड उसके पैरो की जांघ के बिच मे मसला जा रहा था.

फिर मेने उसके बूब्स को चुसना शुरू कर दिया. और उसके निप्पल को प्यार से चूसने लगा. उसे बहोत ही मजा आ रहा था. मेने करीब ५ मिनिट तक उसके बूब्स को प्यार से चूसा. और अपने हाथो से दबाने लगा.

फिर मेने उसे बेड पर लेटा दिया. और उसकी कमर पर किस करने लगा. उसे कमर पर छुते ही वो बहोत गरम हो गई. और उसके मुह से आआआ हाहाहा आआआ की आवाजे निकल ने लगी. फिर मेने नीचे उसकी चूत को देखा. एकदम क्लीन थी उसकी चूत. में उसे चाटने लगा. और वो बहोत ज्यादा गर्म हो गई. और मेरा मुह उसकी चूत में दबाने लगी.

उसने बताया की वो जन्नत में चली गई हे. वो पुरे मजे से अपनी चूत को चुसवा रही थी. और मेरे हेयर पर हाथ रख कर मेरे माथे को जोर जोर से अपनी चूत में दबा रही थी.

फिर वो जड़ गई. और फिर खड़ी हुई और मुझे लेटा दिया. और मेरे लंड को अपने सॉफ्ट हाथो से मसल ने लगी. जो की वो पहले से ही खड़ा था. उसने बताया की मेरा लंड बहोत ज्यादा ही बड़ा हे. जैसे मूवी ने दीखते हे उतना ही बड़ा हे. फिर उसने मेरे लंड को अपने मुह में लिया. और जोर जोर से चूसने लगी.

जैसे ही मेरा लंड उसके मुह में गया में तो जन्नत में पहोच गया. वो बड़े ही आराम से और प्यार से मेरे लंड को चुसे जा रही थी. और साथ में मजे ले रही थी.

फिर वो बहोत ही गर्म हो गई और उसने कहा की अब डाल दो अपना लंड मेरी प्यासी चूत में. में साथ मे कंडोम लेके ही आया था. मेने कंडोम लगाया. और उसकी चूत पर अपना लंड रगडा. उसे मजा भी आ रहा था. और वो कंट्रोल के बहार चली गई थी. पर उसने कहा की बहोत बड़ा लंड हे जान, नही जायेगा पूरा और मुझे बहोत ही दर्द होगा.

फिर मेने बड़े प्यार से उसकी चूत पर आयल लगाया. और अपना खड़ा लंड उसकी चूत पर रगडा. वो तड़पने लगी और मजे लेने लगी. मेने जान बुचकर अपना लंड अंदर नही डाला. और उसे तडपाने लगा. फिर उसने कहा जान अब कितना तडपाओ गे डाल दोना. और साथ में मोंन भी कर रही थी.

फिर मेने हलके से अपना लंड उसकी चूत में डाला. पर उसकी चूत बहोत टाइट थी. मेरा लंड गया ही नही. और वो आआआ हाहाहा आआआ हाहाहा की आवाजे निकाल रही थी. फिर मेने एक जोर से धका लगाया. और मेरा आधा लंड उसकी चूत में चला गया. और उसकी चीख जोर से नीकल गई. आआआ हाहाहा उफफफा आआआ…..शायद उसको बहोत दर्द हुआ था. मुझे लगा की ये क्या हुआ.

फिर में उसको किस करने लगा. और बूब्स को चूसने लगा. फिर थोड़ी देर बाद वो नोर्मल हो गई. फिर मेने धक्के लगाना शुरू कर दिया. वो आआआआ हहाहहहहह्हा कम ओन यार अम्म्ह उफौफौफफफा आआआआअह्ह ह्हह्ह ह्हह्हह हाहाहा ….. की आवाज निकल ने लगी थी. और बाद मे बोल रही थी और जोर से धका लगाओ. में तेजी से उसको चोदे जा रहा था.

वो ५ मिनिट में जड गई. बट मेरा अभी खतम नही हुआ था. में उसे धके लगा रहा था. और वो मजे ले रही थी. फिर हमने पोजीशन चेंज किया. और उसे मेने घोड़ी (डोगी स्टाइल) बना दिया. और में पीछे से लंड डालने लगा.

और उसे बहोत ही मजा आ रहा था. अब तो वो स्माइल भी कर रही थी. और साथ में और अन्दर जोर से आआआअ हहहहहह्हा हाहाहा आआआआ हाहाहा आआआआ उम्म्म  जोर से बहोत ज्यादा ये जान ये बहोत बड़ा….याआअ उफफा मम्मी यीईईए अहहहहः आआआआअ जैसे आवाज निकाल रही थी.

तकरीबन १५ या २० मिनट के बाद वो फिर से जड गई. और साथ में भी जड गया. जब वो जड़ती हे तब उसका बदन एकदम लूज ओ जाता हे. और वो पूरी की पुरी मेरी बाहों में आ जाती हे.

फिर हम उठके फिरसे नहाने चले गये. और वहा पर हमने फिर से सेक्स किया, बाद में हम ने बहार आ कर कपडे पहने और खाना खाया.

उसके बाद में थोडा सो गया. और ज्ब्मे उठा तो वो मेरे सामने बेठी बेठी मुझे देख रही थी. और स्माइल कर रही थी. और वो फिर से एक राउंड के लिए तयार थी. सायद वो मेरे लंड की प्यासी हो गई थी. फिर हम ने एक बेहतरीन सेक्स राउंड किया. और फिर हमने बहार घुमने का देसिड किया.

फिर हम घुमने के बाद एक मूवी देखने गये. और वहा पर बहोत मजा किया. और ओरल सेक्स किया. वो मेरे लंड को छोड़ ही नही रही थी.

बस वो हमेशा कोई न कोई बहाने से मेरे  लंड को टच करती. और बार बार मुझे एक ही बात बोलती की जान तुम्हारा लंड तो बहोत बड़ा हे. मुझे बहोत मजा आता हे. इसे टच करने में.

मेने कहा ये अब तुम्हारा ही हे. जब चाहो बोलना तुम्हारे लिए हाजिर हो जाएगा. फिर हम रात को १ बजे घर आये. और मेने फिर से कंडोम का बॉक्स ले लिया. और पूरी रत सेक्स का मजा लिया.

करीब ४ बार हमने सेक्स किया और बहोत मजा किया.

फिर हम एकदम नंगे ही सो गये और मेरा हाथ उसके बूब्स पर था और वह भी मेरा लड़ पकड़ कर ही सो गयी. रात को अचानक  वह मेरे लंड को चूसने लगी में जाग गया और मेरा लंड फिरसे खड़ा हो गया और ह्म्मने एक बार और सेक्स किया और हम सीधे दोपहर को ही उठे और मेने लंच करने के बाद देखा की मेरी ट्रेन कब की हे.

फिर हम बहार गये और घूम कर के वापस आ गये. क्योंकि मेरी ट्रेन रात को ८ बजे की थी तो हम लोग ६ बजे ही घर पर आ गये बहार डिनर कर के. घर आकार उसके कहा की चलो सेक्स करते हे. और वह सीधा मेरा जींस निकलकर मेरा लंड चूसने लगी. शायद उसे चुसना बहोत ही ज्यादा पसंद था. इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम

फिर हमने क जोरदार सेक्स किया और वह बहोत ही खुश हो गयी. वह मुझे जाने के लिए मना कर रही थी पर मुझे तो जाना ही था.

फिर में ८ बजे की ट्रेन से निकला और वह भी मेरे साथ आई मुझे ड्रोप करने के लिए और उसने मुझे सब के सामने किस कर लिया. और फिर जाते जाते मारे लंड को कस के पकड़कर दबा दिया. में उसे स्माइल करके उसे बाय कह कर वहा से निकल गया. वह तो अब मेरे लंड की दीवानी हो गयी थी.

sexy stories हेलो दोस्तों मेरा नाम अंकित हे और में वापस आया हु अपनी एक नयी चुदाई की स्टोरी लेकर. और में उसमे आपको बताऊंगा की मैने केसे मेरी आंटी के कहने पर उनकी बहन की प्यास बजाई और और में उन दोनों बहनों की सेक्स की भूखह आज भी शांत कर रहा हु और वह दोनों आज मुझसे बहोत ही खुश हे..

तो चलिए अब देर न करते हुए अब कहानी की शुरुवात करते हे. मैने अपने बचपन के दोस्त भास्कर की माँ पूनम की चुदाई की और उनको अपनी रखेल बनाया और यह सिलसिला आज भी चल रहा हे.तो हुआ यु की एक दिन में और पुनम सेक्स कर रहे थे और उसके बाद ऐसे ही साथ में लेते हुए थे और बाते कर रहे थे और हम दोनों एकदम नंगे थे. और तब उसने ऐसा कुछ कहा जिससे मेरा दिल एकदम ख़ुशी से जमने लगा था.

पूनम : जानू आज बहोत मजा आ गया.

में : वो तो हमेशा आता हे डार्लिंग तुम्हारी चुत में इतना मजा हे की जितना मिले उतना कम ही होता हे. और मुझे तुमसे प्यार कर कर के मेंरा मन कभी भी नही भरता हे

वह : अगर ये मजा दुगना हो जारे तो कैसा रहेगा?

में : में कुछ समजा नहीं तुम क्या कहना चाहती हो? अब मेरे मन में भी लड्डू फुट रहे थे की यह अब मुझे कोन सा नया मजा देने वाली हे की जिसे पाकर में बहोत ही खुश हो जाऊँगा

पूनम : अगर हमारे साथ एक और इंसान जुड़ जाए तो हम दोनों को और भी मजा आ जाएगा.

मैं :  अरे यह तुम क्या बोल रही हो पागल तो नही हो गयी हो ना? अगर कोई तीसरे को यह बात पता चल गई तो बहार के लोगो को भी यह बात पता चलने में ज्यादा वक्त नहीं लगेगा. और अगर बहार के लोगो को पता चल गई तो हमारी क्या हालत हो सकती हे यह तुम्हे कुछ पता भी हे या नहीं?

पूनम : उसकी टेंशन मत लो डार्लिंग वह इंसान कोई और नहीं हे और उसे तुम भी अच्छी तरह से जानते हो वह मेरी छोटी बहन है सोनल.

में तो यह सुन कर मन ही मन में बहोत ही ज्यादा खुश हो गया था क्योंकि मैंने उनसे पहले मिल चुका हूं और वह आंटी से भी ज्यादा सुंदर है.

चलिए आपको सोनू के बारे में थोड़ी बात बता दूं जिस से आप लोगो को कहानी में मजा आ जाये.

सोनल की उम्र यही कोई 38-39 के आस पास होगी. उसका रंग दूध से भी ज्यादा  गोरा मतलब हाथ लगाओ तो मैला हो जाए ऐसा था. और  किसी भी २३-२४ साल की लड़की की तरह सुंदरता उनके सामने एकदम बेकार हो जाये. और उसका फिगर जो कि एक बार देख ले उसका लंड तुरंत खड़ा हो जाए और उसको देख कर तो मुडदे का भी लंड खड़ा हो जाये वह ऐसी सुंदर नारी हे.  इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम  उसका फिगर ४२-३४-४२ का था और उसकी गांड तो मुझे बहोत ही ज्यादा पसंद आती थी. में जब भी उसको देखता था तब मेरी नजर सब से पहले उसकी गांड पर ही जाती थी और में हमेशा से उसकी गांड को चोदना चाहता था. और आज मेरा इंतजार ख़त्म होता दिख रहा था और मेरे मन में भी अब उसको चोदने के सपने आने लगे थे.

में : वह तो ठीक है पर वह मानेगी कैसे? मुझे नहीं लगता कि वह मेरे साथ कभी सेक्स के लिए राजी होगी.

पूनम : अरे मैंने उसको हमारे बारे में सब बता दिया है और वह अब हमारे साथ सेक्स करने  के लिए एकदम पूरी तरह से रेडी है क्योंकि उसका पति उसकी हवस नहीं मिटा पाता है और उसने रोते हुए मुझे सब बताया तो मैंने उसको सब बता दिया की में भी केसे अपने पति से संतुष्ट नहीं होती थी और में पिछले चार साल से तुम्हारे पास आ कर मेरी भूख को मिटा रही हु और मैने उसे यह भी बताया की तुम में इतनी ताकत हे की तुम एक साथ दो ओरतो की भूख को भी आसानी से मिटा सकते हो और मुझे तुम पर पूरा भरोसा हे. मैने उसे यह भी समजाया हे की तुम्हारे साथ सेक्स कर के उसकी हवस तो शांत हो ही जाएगी और यह बात कभी किसी को बहार पता नहीं चल पायेगी क्योंकि में तुम्हारे साथ इतने सालो से सेक्स कर रही हु और तुम मुझे संतुष्ट का देते हो और यह बात कभी बहार नहीं गई हे. और अब वह जल्द से जल्द हमारे साथ जुड़ना चाहती है

में : चलो फिर तो कोई दिक्कत नहीं है. जब आप रेडी हो तो मैं भला आपकी बहन को खुश करने के लिए मना कैसे कर सकता हूं?

इसके बाद हमने फिर से सेक्स करना शुरु कर दिया. और अगले 1 घंटा 30 मिनट चला जिसमें पूनम ने तीन बार पानी छोड़ा था और मैं दो बार झड़ चुका था. और एक बार मैंने अपना माल उनकी चूत में छोड़ दिया और दूसरी बार उनकी गांड में. और फिर थोड़ी देर बाद हम दोनों किस करने लगे और में अपने बदन को साफ कर के मेरे कपडे पहन कर मेरे घर वापस आ गया. इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम  कुछ दिन ऐसे ही चलता रहा और मुझे अब बेसब्री से सोनल के आने का इंतजार था और में  अब हर रोज रात को सपने देखने लगा था की मैं कैसे उस को भोगूँगा और उसकी सारी इच्छा को पूरी कर दूंगा.

तभी मुझे पुनम का  एक दिन व्हाट्सआप  पर मैसेज आया.

पूनम : गुड न्यूज़ है

में :  क्या हुआ?

फिर जो उन्होंने बताया वह सुन के तो मुझे बस मजा आ गया.

पूनम : सोनल के हस्बैंड का ट्रांसफर इको में हो गया है अब वह भी यही रहेगी हमारे साथ.

पूनम आंटी का घर पड़ा था तो कोई दिक्कत भी नहीं थी. बस मैं तो अब उनके आने का इंतजार कर रहा था.

और १५ दिन के बाद उसकी फैमिली यहां शिफ्ट हो गई. और बस हमें मौके की तलाश थी. और चार दिन बाद हमें मौका मिल गया.

उन दोनों के हस्बैंड काम के चलते टूर पर गए थे और हमारे पास 5 दिन का समय था.

आंटी का फोन आया मेरे पास रात को 1:00 बजे

पूनम : कल ठीक 11:00 बजे आ जाना घर डार्लिंग मौज करेंगे तीनों मिल के.

मैं : तैयार रहना दोनों बहने. कल दोनों पर कोई रहम नहीं किया जाएगा.

पूनम : वह तो मैं जानती हूं डार्लिंग, तू भी मरा जा रहा हे उसके लिए..

और यह बात कर के हम दोनों गुड नाइट बोलकर सो गए. पर मुझे तो अब ख़ुशी के मारे नींद भी नहीं आ रही थी और में उसके सपने देखने लगा की में उसे किस किस तरह से चोदुंगा. और फिर मुझे धीरे धीरे नींद आने लगी और में सो गया.

अगले दिन मैं सुबह पहुंचा तो देखा वह दोनों येलो और ग्रीन साड़ी में सेक्सी लग रही थी और सोनल कुछ शरमा रही थी.

पूनम : आओ अंकित बैठो. बताओ क्या करना है?

मैं : करना क्या है? बस आप सेवा का मौका दो बाकी तो आप को सब पता है.

मैं उठा और जाकर पूनम को अपने पास खींच लिया और शुरू हो गया हमारा प्रेम मिलन

हम दोनों किस कर रहे थे सोनल के सामने और वह 1 मिनट तो देखती रह गई फिर दीदी थोड़ी तो शर्म करो बोल के रूम में चली गई, और खिड़की से छुप के देखने लगी.

हम दोनों नहीं रुके और 2 घंटे तक हमारी प्रेमलीला चलती रही जिसमें मैंने उनको पूरा नंगा करके और चोदा और गांड मार कर शांत कर दिया.

थोड़ी देर बाद पूनम उठी और बिना कपड़ों के बाहर गई और बहन को धक्का दे कर बोली

पूनम : चलो अब शर्माना छोड़ो और जाओ मजे लो.

दरवाजा बाहर से बंद करके चली गई फ्रेश होने

मैं : सोनू आंटी मैंने आपको देखा, आप चुप के से हमें देख रही थी, पर अगर आपका मन नहीं है तो में कुछ नहीं करूंगा.

वह ५ मिनट बिना कुछ बोले बैठी रही

सोनल : अंकित मैं चाहती हूं कि मुझे भी खुशी मिले लेकिन मुझे डर लगता है कि कहीं कुछ गलत ना हो जाए.

मैं : कुछ नहीं होगा सोनल आंटी आपको शायद नहीं पता लेकिन आज मुझे और आपकी बहन को सेक्स करते हुए 4 साल से ज्यादा हो गया और हम दोनों खुश है कोई दिक्कत नहीं है सब अच्छे से चल रहा है

सोनल : कुछ देर सोचने के बाद अच्छा चलो ठीक है मैं रेडी हूं पर वादा करो कि कभी कोई कमी नहीं करोगे मुझे प्यार करने में.

मैं : सोनल को करीब खींचते हुए पक्का कोई शिकायत नहीं होगी.

फिर तुरंत मैंने उसके और अपने होंठ आपस में जोड़ दीए और हम एक-दूसरे को १५ मिनट बिना रुके किस करते रहे.

सोनल सच में मजा आ गया दीदी सच बोलती है तुझ में जरुर कुछ है ऐसा जिसके लिए कुछ भी करो कम है,

इतना सुनते ही मुझे जोश आ गया और मैंने उनकी ग्रीन साड़ी उतारना शुरू कर दी और अगले 5 मिनट में हम दोनों के बदन पर एक कपड़ा नहीं था

उनको किस करते हुए मैं उनकी नेक को किस करने लगा और उनके बूब्स पे आ गया और उन 42 के बूब्स को चूसने और काटने लगा. वह भी अब गरम होने लगी और उसने भी मेरा 6 इंच का लंड हाथ में ले लिया और हिलाने लगी.

उसके बाद उसने मेरा लंड अपनी विशाल चुचियो के बिच में दबाया और ऊपर नीचे करने लगी कसम से दोस्तों कभी ट्राई करना बहुत मजा आ जाएगा.

आधा घंटा ऐसे करने के बाद मेरा माल उसके बूब्स पर छूट गया और उन्होंने अपने बूब्स पर उस की मालिश कर ली.

उसके बाद किस करते हुए में नीचे बढ़ता हुआ उसकी चूत पर पहुंचा और १५ मिनट करने के बाद वह भी झड़ गई और मैं उनका अमृत पी गया.

सोनल : कसम से अंकित मेरे उस नल्ले पति ने आज तक कभी ऐसा नहीं किया. सच में दीदी सच बोलती है तुजसे मन नहीं भरता.

कुछ देर बाद हम दोनों 69 पोजीशन में आ गए और दोनों एक दूसरे को चूस और चाट के गर्म कर रहे थे. थोड़ी देर बाद मैंने सोनल को बेड पर सीधा लिटाया और दोनों पैर कंधे पर रख कर एक धक्का लगाया लेकिन अंदर नहीं गया.

सोनल : मेरा  पति सच में नल्ला है उसका लंड ३.५ इंच का है जो शायद ही कभी खड़ा होता है और पिछले 2 साल से हाथ तक नहीं लगाया उस भडवे ने मुझे.

मैं :  टेंशन मत लो बाबा, मैं हूं ना तुम्हारे लिए अब.

फिर दोबारा कोशिश करने पर इस बार मेरा लंड अंदर चला गया और वह जोर से रोने लगी.

सोनल : प्लीज स्टॉप मुझसे नहीं होगा बहुत दर्द हो रहा है. प्लीज लीव मी मुझसे नहीं सहा जा रहा हे.

किस करते हुए मैंने उसे शांत करवाया और १० मिनट के बाद दूसरा  धक्का मारा इस बार मेरा लंड पूरा अंदर जाकर सीधा उसकी बच्चेदानी पर लगा. और वह चीख नहीं पाई क्योंकि उसके होठ मेरे होठो से बंद थे.

१० मिनट बाद वह नोर्मल हुई और फिर मैंने धक्के लगाना शुरु किया और वह भी नीचे से साथ दे रही थी.

सोनल : रुकना मत बाबू, मजा आ रहा है और तेज करो ऐसा बोल रही थी जिसके चलते मैंने धीरे धीरे धक्के की स्पीड बढ़ाई.

२० मिनट के बाद एक दम से वह जड गई और निढाल पड गई और मैं भी रुक गया. ५ मिनट बाद वह खुद बोली

सोनल : सच में मजा आ गया. दीदी की तरह आज से में हमेशा के लिए तुम्हारी हो गई हूं, आई लव यू अंकित.

वह फिर से गर्म होने लगी और मेरा अभी बाकी था सो मैंने उसकी गांड मारने की इच्छा जाहिर की. पहले वह मना करती रही लेकिन मेरे और पूनम के बहुत समझाने पर वह राजी हो गई तो फाइनली उसको डौगी पोज में करके मैंने पूरा दम लगा के मैंने अपना पूरा लंड एक ही बार में उसकी गांड में डाल दिया. इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम

वह इतनी जोर से चीखी कि मैं रुक गया और उस को शांत करवाने लगा और उसकी गांड से खून भी बह रहा था.

१५-२० मिनट के बाद वह अपनी कमर हिलाने लगी.

फिर क्या था मैंने भी धीरे धीरे स्पीड बढाता गया और 40 मिनट बाद उसकी गांड में जड गया जिसकी गर्मी से वह अब तीसरी बार जड गई.

अब हम नंगे थे रूम में और बात कर रहे थे के तभी हमें थ्रीसम का आईडिया आया. फिर हम तीनों शुरू हो गए और मैंने उन दोनों को साथ लेट गया और अगले ३ घंटो में मैंने उन दोनों को दो बार कायदे से चोदा और गांड भी मारी.

सोनल ब्लोजोब इतना अच्छा नहीं दे पा रही थी लेकिन कुछ अलग ही बात थी उसमें.

अगले ५ दिन हमने इतना सेक्स किया की सोनल और हमारी सारी शरम खत्म हो गई.

और वह दोनों इतनी हॉट हे की कभी मन नहीं भरता और वह मुझे अपने पतियों से ज्यादा प्यार करती है.

अब जब मौका मिलता है हम तीनो सेक्स करते हे और खुश रहते हैं.

loading...

मैं मोहन बंसल एक व्यापारी हूँ मेरी उम्र 32 साल है। अभी तक मेरी शादी नहीं हुई है, किसी को चोदने का मन होता है लेकिन खुद को कन्ट्रोल में रख कर अपने काम पर ज्यादा ध्यान देता हूँ। मैं काम के सिलसिले से रात की ट्रेन में सफर कर रहा था, ट्रेन खाली थी ज्यादा लोग नहीं थे सभी के रिजर्वेशन दूर दूर थे। ट्रेन की लाइट बंद कर के सभी सोये थे। 1 बजे के करीब कुछ आवाज से मेरी नींद खुल गयी मैंने देखा हिजड़े ट्रेन में पैसे मांग रहे थे। मैं बहोत कंजूस आदमी हूँ, सोने का ड्रामा किया और हिजड़ों की आवाज से नहीं जागा। मेरी आँख बंद थी उनमे से एक हिजड़े ने मेरा लंड मेरी जीन्स के ऊपर से पकड़ लिया और जोर से दबा दिया मुझे दर्द हुआ। इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम   हिजड़ा मेरा लंड रगड़ने लगा मेरे अंदर जोश की लहर दौड़ गयी मेरा 7 इंच का लंड जीन्स में खड़ा हो कर तम्बू बना लिया।

मैं धीरे से आँखे खोल कर देखा 2 हिंजड़े थे। दूसरा बोला देख साला सोने का ड्रामा कर रहा है। देख कैसे लौड़ा खड़ा हुआ है इसका, खोल चैन निकाल बाहर देखे कितना बड़ा है। जिस हिजड़े ने मेरा लंड पकड़ा हुआ था वो जीन्स की चैन खोल कर मेरा लंड बाहर निकाल लिया। दोनों की एक साथ आवाज आयी – हाय हाय देख रे कैसा तगड़ा मोटा लंड है साले का। वो दोनों मेरा लंड हाथ से छू रही थी, जिस तरफ मेरा सर था अँधेरा था मैं अपनी आँखें हलकी खुली कर के उनको देख रहा था। उसमे से एक बोली रुक साले को अभी मजा चखाती हूँ। वो मेरा लंड जोर से पकड़ कर चींटी काटी मैं चीख कर उठ गया और बोला क्या कर रही है तू ?
वो दोनों कहने लगी साले सोने का नाटक क्यों कर रहा है? 
मैं चुप था, वो पैसे मांगने लगी लेकिन मैं कंजूस आदमी देने से इंकार कर दिया। 
दोनों हिंजड़ो में से एक बिल्कुल लड़की की तरह दिख रही थी उसको देख कर मेरे अंदर चुदाई की प्यास जाग गयी। वो हिजड़ा मेरा लंड पकड़ ली और बोली पैसे निकाल नहीं तो आज इसको नहीं छोड़ने वाली, इसको शांत करना है तो बता मेरे पास छेद है। इतना बोल कर वो अपनी साड़ी उठा दी और मोबाइल की टॉर्च ऑन कर बोली ले देख चूतिये छेद है। उसकी योनि औरत के जैसे ही थी लेकिन विकसित नहीं हुई थी। मैं बोला इसको कैसे चोदुँगा?

वो मुझे गली देते हुए बोली – अरे माधरचोद यहाँ तेरा लौड़ा जायेगा भी नहीं मेरी गांड में डालना पड़ेगा, बोल गांड मारेगा तो बता दोनों मेसे किसी को चुन ले जिसकी मरेगा 
मैं बोला- तेरी लूंगा मैं,, लेकिन ऐसे चलती ट्रेन में कोई आ गया तो ?
वो बोली कोई नहीं आएगा हमारे और साथी है इस ट्रेन में सब जुगाड़ है तू चिंता मत कर लेकिन गांड मरवाने का 1000 रूपया लुंगी। 
मैं ठहरा कंजूस मेरी 1000 रूपया सुन के लंड ढीला पड़ गया गया, मैं बोला 500 दूंगा बोल चलेगा ?
वो मान गयी, मैं अपना जीन्स नीचे सरका दिया और उसको मेरे ऊपर आने को बोला। इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम
दूसरा हिजड़ा खड़ा देख रहा था अपने ब्लाउज से तेल का पाउच निकाला और मेरे लंड के ऊपर डाल के मलने लगा।
दूसरी वाली अपना साड़ी उठा कर मेरे लैंड पर बैठी, मेरा लंड सुरपपप से उसकी गांड में चला गया उसकी गांड मुलायम और गरम थी। वो ऊपर निचे हो कर झटके देने लगी।

ट्रेन के झटकों के साथ वो भी हिल रही थी उसके गांड गोरे गोरे हवा में ऊपर नीचे हो रहे थे, मैं उसको बोला ऐसे मजा नहीं आ रहा चूचियाँ दिखा दो एक बार छू कर देखना चाहता हूँ।
वो बोली इसके 100 रुपया और लगेगा, मैं जोश में था मान गया। वो आपने ब्लाउज खोल कर ब्रा उतार दी उसके बूब्स काफी बड़े और टाइट थे हवा में गोल गोल घूमने लगे मैं दोनों बूब्स पकड़ कर दबाने लगा, क्या मस्त मुलायम बूब्स थे मजा आ रहा था। 

दूसरी वाली अपना बूब्स बाहर निकाल कर मेरे मुँह में डाल कर बोली ले मेरा मजा फ्री में लेले मजा आये तो कुछ दे देना मैं चुपचाप उसके बूब्स चूसने लगा। मेरी दोनों तरफ से मौज थी। 
अब वो मेरे मुँह से बूब्स निकाल कर अपने साथी को बोली अरे रेशमा चल उठ मैं अब इसका लंड लुंगी। पहली वाली मेरे लंड से उठ कर मेरे मुँह के ऊपर घुटनो के बल कुतिया बन कर चढ़ गयी। और दूसरी मेरे लंड पर जा बैठी और जोर जोर से गांड हिला हिला कर चोदने लगी पच पैच थप तहप की आवाज आ रही थी। पहली वाली जिसे नाम रेशमा था, वो मेरे मुँह में अपना गांड रगड़ने लगी मुझे अच्छा नहीं लगा लेकिन जोश इतना था मैं उसके दोनों बूब्स हाथ से मसलते हुए उसकी गांड चाटने लगा। 10 -12 मिनट की चुदाई के बाद मेरा वीर्य छूटा और हिजड़े की गांड में भर गया। वो चमक कर खड़ी हुई और बोली अरे भोसड़ी के जब निकलने वाला था बताया क्यों नहीं साला गांड गन्दा कर दिया।

दोनों अपने कपडे ठीक करने लगी मैं अपना चड्डी और जीन्स ऊपर किया और लाइट चालू कर बैठ गया। मुझे ऐसे चुदाई में बहोत मजा आया था, आज मैं खुस ज्यादा था इसलिये मेरी कंजूसी का पता ही नहीं चला और मैं 1000 रुपये अपने खुसी से उन दोनो को दिया। दोनों मुझे चुम्मा दे कर हाय हाय करती आगे चली गई किसी और से गांड मरवाने।

लगातार २ घंटे तक किसी बी सेक्सी लड़की को कैसे चोदे देखो यह Apps से Free (Download)

loading...

मेरी बीवी दीपिका एक बहुत sexy औरत है, उसकी उम्र 26 साल है, हम दोनों मुंबई में जॉब करते है, मेरी बीवी का फिगर 40″38″44 है, दीपिका मोटी है लेकिन बहुत खूबसूरत है।
हमेशा जीन्स टॉप और छोटे कपडे पहनती है, ऐसी बीवी को हर पति दिन रात चोदना चाहेगा। मैं भी यही करता हूँ, हमारी शादी को 2 साल हो गए है मैं पूरी तरह से उसे चोद कर खुस रखने की कोशिस करता हूँ, हर रात चुदाई होती है लेकिन मेरा लंड सिर्फ 4 इंच का छोटा और पतला है जिसकी वजह से उसकी प्यास अधूरी रह जाती है दीपिका ने कभी मुझे बोला नहीं फिर भी मैं उसे देख कर समझ जाता हूँ।

1 महीने पहले मेरी नौकरी छूट गयी मैं घर पर ही रहता और नयी जॉब की तलाश में था लेकिन कही बात बन नहीं रही थी। दीपिका को डेली उसके ऑफिस बाइक से लेने और छोड़ने जाता था। एक दिन दीपिका खुश हो कर घर आयी और बोली मेरा प्रमोशन हुआ है, मैं सुन कर बहुत खुस हुआ और दीपिका से बोला चलो पार्टी हो जाये, लेकिन वो मना करने लगी, काम बहोत था थक गयी हूँ किसी और दिन पार्टी करेंगे। खाना खा कर हम दोनों सोने चले आये, मैं खुसी के मौके पर अपनी बीवी को चोदना चाहता था मैं उसको पकड़ कर चूमने लगा दीपिका मुझे गुस्से से धक्का दे कर बोली अरे यार थक गयी हूँ और तुम सुरु हो गए।

मैं रुक गया और सोचा काम से थक गयी है आराम करने देता हूँ, एक सप्ताह ऐसे ही निकल गए दीपिका उसके बाद ऑफिस से लेने आने को मना करने लगी। बोली आप शाम को मत आना मुझे काम से देर हो सकता है मैं कैब से घर आ जाउंगी। मैं मान गया मेरी पत्नी की खुसी में मेरी खुसी थी। 
दूसरे दिन मैं बाहर सामान लेने निकला और दीपिका को साथ लेकर जाऊंगा सोच कर उसके ऑफिस चला गया 7 बज गए थे ऑफिस बंद होने का टाइम था। मैं अंदर गया वह कोई नहीं थी सभी जा चुके थे। अंदर हॉल की लाइट जल रही थी और कुछ लोगो की आवाज आ रही थी। मैं जैसे आगे बढ़ा मुझे सामने की गेट पर चपरासी आते हुए दिखा, सायद उसने मुझे नहीं देखा था। मैं चपरासी से बात किये बिना आगे बढ़ गया हॉल के विंडो पर जाली वाला पर्दा लगा हुआ था मैं अपनी पत्नी को ढूंढता हुआ वो पर्दा हलके से उठा कर अंदर देखा।

अंदर बहोत से आदमी बैठ कर शराब पी रहे थे तभी मेरी नजर मेरी बीवी पर गयी वो अपने बॉस की गोद में बैठी थी, ये सब देख कर मेरा गुस्सा बढ़ गया मैं जाकर अपनी बीवी को दो थप्पड़ मारना चाहता था लेकिन खुद को काबू किया और सोचने लगा देखता हूँ ये किस हद तक गिर सकती है आज पता चल ही जाये। वहाँ पर टोटल 8 आदमी थे सभी हट्टे कट्टे मोटे थे, मेरी बीवी अपने बोस की गोद में बैठी थी और उसका बॉस दीपिका के कमर में हाथ रख कर सहला रहा था। 
तभी दीपिका बोली राजीव सर मुझे देर हो रही है आज जल्दी कर लेते है वैसे भी 8 लोग है टाइम लग जायेगा। मेरी समझ में कुछ नहीं आया ये 8 लोग से क्या करना चाहती है। मेरी बीवी दीपिका का बॉस अपने पेन्ट की ज़िप खोल कर अपना लंड बाहर निकाल लिया, दीपिका उसका मोटा लम्बा लंड हाथ में लेकर लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी।

वहाँ बैठे बाकी के 7 लोग अपने पेन्ट उतार कर चड्डी निकाल फेके और मेरी बीवी के पास आकर खड़े हो गए, दीपिका राजीव का लंड छोड़ कर उन सब के लंड को बारी – बारी चूसने लगी। राजीव उठा और अपनी पुरे कपडे उतार कर नंगा हो गया। दीपिका को खड़ा किया और उसके टॉप जीन्स निकाल कर सब दीपिका पर टूट पड़े ब्रा पेन्टी के ऊपर से 8 लोग उसको चूसने लगे। दीपिका पुरे मजे में सिसकारियां ले कर उनको खुस करने की पूरी कोसिस कर रही थी। 
तभी एक ने दीपिका के पेंटी नीचे उतार कर उसकी चुत चाटने लगा एक बन्दा पीछे से उसकी गांड चाट रहा था। ऊपर से दो लोग उसकी ब्रा उतारकर दोनों निप्पल चूसने में लगे थे। बाकी के ४ लोग दीपिका के सरीर पर अपना लौड़ा रगड़ रहे थे। दीपिका का बॉस बोला ये ले तेरी चुत की खुजली मिटाने के लिए आज 8 लोग हो गए है बता अब तो खुजली मिट जाएगी तेरी। दीपिका बोली अरे ये तो कुछ भी नहीं मैं कॉलेज के दिनों में एक साथ 10 लड़को के साथ ग्रुप सेक्स करती थी।

मेरी चुदाई की प्यास बुझाना आसान नहीं है। दीपिका का बॉस बोला – तेरे गांडू पति से तो ज्यादा मजा देंगे हम लोग तेरे को। दीपिका चुप थी और वो लोग उसको मसल रहे थे। अपनी बुराई सुन कर मेरा दिमाग ख़राब हो गया था लेकिन मैं बर्दास्त कर गया। 5 मिनट बाद दीपिका का बॉस टेबल पर लेट गया और दीपिका को अपने लंड पर बैठा लिया पीछे से उसका एक काला दोस्त अपना 7-8 इंच का लंड लिए दीपिका की गांड में डाल कर दोनों एक साथ चोदने लगे। दीपिका उम्म्म्म अह्ह्ह्हह चोदा सालों मेरी प्यास बुझा दो ,, और चोदो साले चोदो चोदो अह्हह्ह्ह्ह ुह्ह्हह्ह कर रही थी।

बाकी लोग अपना लंड हाथ में लिए मुठ मार रहे थे, 2 लोग दीपिका की तरफ बढे और एक ने दीपिका क्वे मुँह में लंड डाल दिया। अब दीपिका के तीनो छेद में लंड था। तीसरा बन्दा दीपिका के बूब्स चूसने लगा दीपिका उसका लंड अपने एक हाथ से हिलाने लगी। बाकी के ४ लोग खड़े थे दीपिका को चोदने का इन्तजार कर रह थे। 10 मिनट बाद शिफ्ट चेंज हुई और ये चार गए और बाकी के 4 दीपिका की वैसे ही चुदाई करने लगे। दीपिका के मुँह से गुन गु गु गु गु गु सिर्फ इतने आवाज निकल रही थी। कमरे से शराब की बदबू चुदाई की थपेड़ो की आवाज तप तप थप थप गन्दी गालिया और हंसने की आवाज आ रही थी 15 -20 मिनट ऐसे वो लोग चोद रहे थे सब अपना लंड हाथ में लेकर मुठ मारने लगे दीपिका टेबल पर लेटी हुई चारो तरफ से वो लोग उसके ऊपर अपना वीर्य गिरा रहे थे।

लगातार २ घंटे तक किसी बी सेक्सी लड़की को कैसे चोदे देखो यह Apps से Free (Download)

दीपिका ब्लू फिल्म के तरह उन लोगो से चुदवा कर उनका वीर्य चाटचाट कर पी गई। 
अपनी बीवी के प्यास मैं बुझा नहीं सकता इसका दुःख था, लेकिन इस तरह वो दुसरो से चुदा कर मेरा मजाक बना रही थी इसका गुस्सा मुझे था। सब लोग कपडे पहनने लगे दीपिका नंगी थी तभी चपरासी हॉल में आया और बोला शाहब आप लोग का हो गया हो तो मैडम की मैं भी ले लूँ ?
राजीव बोला – हां जरूर तू हमारा वफादार है तेरा तो पूरा हक़ है। वैसे भी सब से बड़ा औजार तो तेरा है दीपिका तेरी दीवानी हो जाएगी।

दीपिका बोली आ चंदू आज तेरा लंड भी देखूँ कितना लम्बा – मोटा है। दीपिका चपरासी के कपडे निकाल कर फेकने लगी बाकी के 8 लोग बैठ कर किसी फिल्म की तरह इनकी चुदाई का खेल देखने को तैयार थे। चंदू का कपडा उतारते ही मेरी नजर उसके लंड पर गयी। उसका लंड ब्लू फिल्म में काले लोगो के जैसी 10 इंच से भी ज्यादा लम्बी और मोटी थी। दीपिका बोली ये क्या है कहा से इतना लम्बा मोटा ले आया तू ? बता न कैसे इतना बड़ा हुआ ?
ये सब देख कर मेरा दिमाग और ख़राब हो गया, मुझे मेरा 4 इंच का लंड याद आया जिसकी लम्बाई चंदू के लंड की आधी भी नहीं थी।

चंदू बिना समय बर्बाद किये दीपिका को गोद में उठा कर अपने लंड पर बैठा लिया और एक झटके से लंड चुत के अंदर डाल दिया। दीपिका बोली – हयी माँ मर गयी मैं साले बहनचोद धीरे से डालना था न भोसड़ीके। 
चंदू खड़े खड़े मेरी बीवी को उछाल कर चोदने लगा सब चुदाई देखने का आनंद ले रहे थे। चंदू कभी दीपिका कि गांड कभी चुत दोनों छेद बदल कर चोद रहा था। दीपिका उम्म्म्म अह्ह्ह अह्ह्ह अह्ह्ह चोद माधरचोद और तेज और तेज बोल कर मजे ली रही थी। पैट पैट पैट पैट पैट की आवाज से पूरा ऑफिस गूंज गया।

मेरा दिमाग सुननन पड़ गया था मैं वहाँ से बाहर निकला और घर आ गया। रात को 9 बजे मेरी बीवी आयी और नहाने चली गयी, हमने साथ खाना खाया। जब सोने गए दीपिका बोली मुझे नींद आ रही है आज बहुत काम था थक गयी हूँ पूरा सरीर दर्द हो रहा है। मैं उसको गुड नाईट बोल कर लेट गया।
मेरी आँखों में नींद नहीं था पूरा नजारा घूम रहा था। मैंने फैसला किया जैसे भी है ठीक है, मेरा लंड छोटा है अगर इसकी चुत की आग ज्यादा है तो इसकी मर्जी किसी से चुदाई, अगर मैं कुछ बोला तो मेरा ही इनसल्ट होगा। उस दिन से आज 3 साल हो गए है मेरी दीपिका से सेक्स नहीं हुई है। दीपिका अपनी कंपनी में टॉप लेवल पर पहुँच गयी है, इसे कहते है मजा – प्रमोशन और चुदाई दोनों का।

sex stories में अमन, रांची से हु और मेरा ७ इंच का लंड हे काला हे पर अन्दर पूरा पिंक. मेरे पड़ोस में एक आंटी रहती थी. जिनका नाम परोमिता था. एकदम टाइट माल थी वो. गांड ३६ की थी एकदम फूली हुई और चुचिया ३४ के ब्लाउज से बहार आते हुए.. उसे देख किसी के भी लंड में पानी आ जाए ऐसा माल थी वो.

मेरी उससे मुलाकात एक रात हुई. जब वो कही से आ रही थी. में उस वक्त मेरी गाड़ी से आ रहा था और वह मुजे रस्ते पर चलती मिल गयी. तो मैने उन्हें पूछा की आप मेरे साथ घर पर चलोगी और वो एकदम रंडियों वाली स्माइल दे कर बेठ भी गई. बाते सुरु हुई और में ठहरा हरामी किसम का मर्द ब्रेकर पे जोर जोर से ब्रेक लगा के में उनको मुज पर चिपकने पर मजबूर कर रहा था और उनकी नरम चूचो के मजे भी ले रहा था. इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम  उनका घर आ गया और रस्ते में मुझे यह पता चला की वह एक आर्मी वाले की बीवी हे. और बचे नही हे. इस से मुझे अंदाज हो गया मुझे की साली सेक्स की भूखी होगी रांड. रात को उनके नाम से मुठ मारा. और में उस दिन से उस पर मेरी नजर रखने लगा और वह जब भी मुझे देखती तब में हमेशा स्माइल देता था. एक दिन हिमत करके उसके घर गया उस दिन सन्डे था. उन्होंने दरवाजा खोला साली माल लग रही थी. में तो उसे दो मिनिट तक आँखे फाड़ फाड़ के देखता ही रह गया

उसने उस समय पर टाइट पिंक नाईटी पहनी हुई थी और उसके बूब्स तो  और बूब्स तो जेसे की अभी बहार ही आ जांएगे. मेने अपने होठो को सेक्सी तरीके से चाटा.

उसने मुझे अन्दर बुलाया  तो में अंदर जा के बैठ गया और उसके साथ में नोर्मल बात कर रहा था. मेरे पेंट में अब मारा सोया हुआ  शैतान जाग रहा था.

साली अब मुझसे रहा नही गया. तो में उठा और किचन में जा कर उसकी  गांड पे एक थप्पड़ मार दिया. और बोला आंटी आय लव यु.

अब वह एकदम चकित कर देने वाला जवाब देकर बोली बेटा नजर तो मेरी तुझ पे कब से थी. मुझे तेरे जैसा ही मर्द चाहिए था.

आज रात किटी पार्टी हे. आ जाना सब मेरे जेसी प्यासी औरते होंगी.

मेने कहा अभी कुछ तो दे दो बेबी. उसने बोला तड़प मेरे राजा टाइम आने पे सब मिलेंगा.

मुझसे रहा नही गया. मेने उसके गांड से नाईटी उठा कर गांड दबाने लगा. वो कहरा रही थी आआ हाहाहा हरामी आग लगी हे साले और मुझे नंगा कर दिया. मेरे कपडे जंगली कुत्तिया की तरह फाड़ दिये. इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम

और बोली चल शाम का ट्रेलर दिखाती हु. और मुझे कुत्ते के पटे से बाँध दिया.

और वह मुझे गले से खीचते हुई  टॉयलेट में ले गयी. कपबर्ड में मुह खुलवा कर चूत पे पाइप लगा कर मुतने लगी. उम्म और बोली पि हरामजादे आज से तू मेरा कुत्ता बन गया हे. अब से  तू मुझे शांत करेगा.

मेरे मुह पे गांड डाल कर बैठ गई. और गांड को दबाने लगी. मुझे मजा आ रहा था. बड़े गांड के बीच में गांड में जीभ डाल कर चाट रहा था.

फिर उसने मेरी गांड पे बेल्ट से मारना सुरु किया. और में भीख मांग रहा था. मालकिन छोड़ दो.

मुझे मजा भी बहुत आ रहा था मैंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था की  वह मेरे साथ ऐसा कुछ भी कर सकती हे. वह मुझे बोली बोली मेरी चूत की आग बुझा दे मेरे पालतू  कुत्ते. फिर उसने मेरे लंड पर थूक दिया और उसे चाटने लगी और उसने उसकी चूत को मेंरे मुह में घुसेड दिया.

उसकी चूत की खुशबू बहुत लाजवाब थी और उसकी चूत बहुत टाइट थी मैंने उसकी चूत को चूसा और उस पर मेरे दांत से काट लिया.

और वह साली आह्ह अह्ह्ह अह्ह्ह अह्ह्ह कर के  मेरे हर काटने को एंजॉय कर रही थी. और फिर वह बोली मेरे राजा मेरी चुदाई इससे अच्छी कही नहीं हो सकती और फिर वह मेरे लंड को तब तक चूसती रही जब तक मेरे लंड से पानी उसका मुंह भर ना गया और मैने उसके मुह में मेरा माल छोड़ दिया.

और फिर वह मेरे लंड को चूसने लगी और फिर उसने मेरे लंड पर बैठ गयी और वह उसकी चूत को मेरे मुह पर घिसने लगी फिर उसने उसका सारा माल मेरे मुंह में डाल दिया और साथ में वह मेरे मुंह में मूत भी गई साली रंडी.  मगर मैने उस रंडी के चूत का एक रस का बूंद भी नहीं छोड़ा, सब चाट लिया.

अब उस साली की भूख बहुत बढ़ गई थी. वह मुझे बोली आ जा मेरे राजा आज अपनी चूत की तुज को सेर कराती हु. एक तरह से मैं अभी अपनी वर्जिन हूं क्योंकि मेरे पति के डर से कोई चोदता ही नहीं मुझे. इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम

फिर वह मेरे ऊपर चढ़ गई और अपनी भारी गांड के साथ वह अपनी चूत मेरे लंड पर रगड़ने लगी उम्म्म्म अहहह अह्ह्ह उम्म्म अह्ह्ह वाह क्या सेक्सी फिलिंग थी यार और में उसकी चूची को पकड़ कर दबा रहा था. और फिर वह बोली चल मेरे टॉमी चल अपनी मालकिन की चूत को इतना चोद के मेरी चूत तेरे लंड से प्यार कर बैठे.

मैंने चूत में थूक लगाया, लंड को हीलाया और एक झटके में डालने की कोशिश की पर सच में चूत टाइट थी या मेरा लंड बड़ा था. और लंड घुसने के बाद साली को मजा आने लगा, और वह मुझे बोली, मेरे कुत्ते टॉमी मालकिन की मखमली चूत को फाड़ दे.

और फिर मैं धीरे धीरे से चूत को फेरने और फिर एक जोर से धक्का मारा पर मेरा और अहहह अह्ह्ह मेरा पूरा लंड मालकिन कि नरम नरम चूत में घुस गया. वह चिल्ला गई जैसे की उसका चूत फट गया हो. और फिर वह मुझे बोली मेरे राजा तू मेरा शेर कुत्ता है.

मैं और जोश में आ गया. और मैने साली को कहा मेरी मालकिन कूदो मेरे लंड पे आज सारा मजा ले ही लो मेरी कुत्तिया.

यह सुनकर वह जोश में आ गई और मेरे लंड पर कूदने लगी मेरा लंड टाइट हो गया और मैं तो जैसे जन्नत में था.

वह बोली राजा चोद डाल इस चूत को आह्ह अह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह ओह्ह अहह उम्म्म बहुत मजा आ रहा है.

अब आंटी का मूड चेंज हुआ और वह एकदम से मालकिन बन गई और मुझे बोली जो बोलती हूं वह तुम करो

उसने बोला चल अब मेरे पैर चाट, मैंने बोला सच में? उस ने मुझे थप्पड़ मारा और बोला चाट मादरचोद. मैं भी उसके पैर चाट रहा था उससे बहुत मजा आ रहा था वह आह्ह अह्ह्ह अहहह अच्छे से चाट आह्ह अह्ह्ह. फिर उसने बोला चल अब मेरा टॉप उतार और मेरे बूब्स को चुस डाल पूरा. मैंने उसका टॉप और ब्रा उतारा और उसके बूब्स को १५ मिनट तक चूसता रहा. रिया आह्ह अह्ह्ह ओह्ह और जोर से चूस खाजा मेरा पूरा ऐसा बोल रही थी. फिर उसने मुझे फिर से मारा और बोली गांडू दूध ही पीता रहेगा के चोदेगा भी.

मैंने बोला रंडी तुझे पटक पटक कर चोदूंगा आज. फिर मैंने उसके नवल पर किस किया और उसको लीक करने लगा. रिया तो जैसे पागल होती जा रही थी फिर मैंने उसकी पूरी बॉडी पर किस किया. फिर मैंने उसकी जींस पर हाथ डालने की कोशिश की तो बोली अभी नहीं, अभी तो तेरा लौड़ा चूसना है मेरे को. फिर मैं उसको चुसाया. कसम से क्या मजा आ रहा था उसने ५ मिनट तक मेरा लंड चूसा. और मैंने बोला अब तो उतार डू तेरी जींस?

फिर वह बोली उतार उतार. फिर मैंने जैसे ही उतारी उसकी जींस. और में उसकी पैंटी भी उतार रहा था. फिर उसने मुझे मारा और बोली भोसडीके के सीधा चूत? पहले मेरी जांघे तो चाट दे अच्छे से.. फिर मैं उसकी जांघ को लीक करने लग गया. ५ मिनट तक उस की सिसकिया चालू रही और वह बोली आज तो मजा आ रहा है रे लौड़े तेरे से चुदवाने में. फिर मैंने उसकी पेंटी उतारी उस ने कुछ नहीं कहा. इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम

फिर मैंने उसकी चूत चाटना चालू कर दिया मैंने ३-४  मिनट चाटता रहा. उसके बाद मैं कंडोम पहनने लगा तो वह बोली अबे छोड़ उसको ऐसे ही चोद दे मुझे मैं अब नहीं रुक सकती, कुत्ते जल्दी कर.

फिर मैंने भी सोचा ऐसे ही चोद डालता हूं. फिर मैंने ऐसे ही अपना लंड उसकी चूत पर रखा और में धीरे धीरे डाल रहा था. वह बोली जोर से फिर मैंने भी अपनी स्पीड बढ़ा दी और जोर जोर से धक्के मारने लगा. मैंने बोला ले रंडी ओर से. और वह आह्ह अह्ह्ह अह्ह्ह ओह्ह ओह्ह आह्ह उम्म्म्म  दर्द दे रहा हे धीरे कर बोलने लगी. फिर मैंने बोला मादरचोद ऐसे ही चोदुंगा और जोर से चोदने लगा.

५ मिनट तक उसको चोदता रहा ऐसे ही. फिर उसको बोला चल अब ऊपर आ मेरे और मेरे लंड पर चूत रख और मेरा पूरा लंड उसके अंदर चला गया. और फिर इसी तरह उसको चोद रहा था, इतने में वह जड चुकी थी. और मैं भी बस उसकी चूत के अंदर ही जड गया.

फिर मैंने उसको एक स्मूच किया. फिर वह बोली अब मेरी आखरी बात मान ले. तो मैंने बोला बोल जान बोल मेरी रंडी  क्या? तो वह बोली चल अब मेरी मूत पी. मैंने सोचा फिर मैं बोला ठीक है फिर उसकी चूत के पास बैठा.  वह मेरे चेहरे पर मूत दी और मैं पूरा चेहरा उसकी मूत से भर गया था.  मैंने मुह खोला और उसकी मूत पी.

मैंने बोला चल रंडी तैयार हो जा मुझे भी मूत आ रही है.   इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम

अब वह बैठ गई और उसके ऊपर में मूतना चालू किया. वह मेरा लंड चूस भी रही थी. मैने उसके ऊपर पूरा मूत दिया और मूत उसके बूब्स पे भी आ गयी थी. और मैने उसके मुह में भी मूत पिलाया. फिर हम लोग बात रूम गये और दोनों नहाये वहा पे.

loading...

हैल्लो दोस्तों, में निहारिका एक बार फिर से आप सभी के सामने अपनी चुदाई की एक और सच्ची घटना लेकर आई हूँ. दोस्तों मेरा नाम तो आप लोग पहले से ही जानते ही हो कि में निहारिका हूँ और अब मेरा बदन, फिगर थोड़ा बदल सा गया है तो इसलिए में फिर से अपने फिगर का साईज बता रही हूँ मेरा फिगर अब 36 -28 -38 हो गया है दोस्तों यह मेरी आज की कहानी मेरी और मेरे जीजू की है और मेरी पिछली कहानी में मैंने बताया था कि में होली के दिन जीजू के घर गई थी और फिर उस दिन मैंने बहुत मज़े से होली खेली और अपने बॉयफ्रेंड रोहन से एक बार चुदी और उसके बाद रोहन ने मुझे मेरे घर पर छोड़ दिया था और उसके बाद क्या हुआ था वो में आज अपनी इस आगे की कहानी में बता रही हूँ.

फिर रोहन मुझे अपने घर पर छोड़कर चले आए और उसके चले जाने के बाद में ठीक तरह से चल भी नहीं सकती थी क्योंकि कुछ देर पहले हुई उस ताबड़तोड़ चुदाई के बाद मेरी चूत में बहुत दर्द हो रहा था. फिर जब में अपने घर के अंदर गई तो मैंने देखा कि मेरे जीजू मेरी दीदी को नीचे फर्श पर लेटाकर बहुत मज़े से उनके कपड़ो में हाथ डालकर रंग लगा रहे थे, लेकिन उन्होंने अचानक से मुझे देखकर मेरी दीदी को छोड़ दिया और फिर वो मुझसे बोले कि साली साहिबा क्या आप आ गई? तो मैंने बोला कि हाँ जीजू में आ गई और अब वो उठकर मेरे पास आए और उन्होंने मेरा चेहरा पकड़कर रंग लगा दिया और तब तक दीदी उठकर वहां से चली गई थी. अब जीजू ने सही मौका देखकर जानबूझ कर मेरे बूब्स पर हाथ लगा दिया और फिर मेरे बूब्स को बहुत ज़ोर से दबा दिया.

मैंने जीजू से बहुत गुस्से में कहा कि जीजू यह सब बहुत ग़लत बात है प्लीज अब यह सब करना बंद करो नहीं तो दीदी आ जाएगी. तो जीजू ने कहा कि क्यों जब रोहन तुम्हारे बूब्स दबाए वो तो सब सही है और जब में दबाऊँ वो सब कुछ ग़लत है? तो मैंने एकदम से आश्चर्यचकित होकर तुरंत उनसे पूछा कि क्यों आपको कैसे पता कि रोहन ने मेरे बूब्स दबाए है? तब जीजू ने कहा कि मुझे तो यह भी पता है कि तुम और रोहन चुदाई करने ही गये हो और यह तुम्हारी बिल्कुल बदली हुई चाल सभी को सब कुछ फूट फूटकर बता रही है कि रोहन ने तुम्हे बहुत जमकर चोदा है और साली साहिबा जब रोहन के साथ तुम्हे यह सब करने में कोई भी आपत्ति नहीं तो फिर मेरे साथ करने में क्या आपत्ति है? और फिर में तो वैसे भी आपका जीजू हूँ और आप मेरी साली और साली वैसे भी आधी घरवाली होती है. यह बात कहते हुए उन्होंने मेरी गर्दन पर एक किस कर दिया और मुझे ज़ोर से हग किया और मेरे बूब्स भी दबा दिए.

दोस्तों तब तक में जीजू की बाहों में जकड़कर पकड़े होने की वजह से बहुत गरम हो गई थी और जीजू का लंड भी मेरी गांड में दब रहा था, लेकिन फिर भी मैंने अपने आप पर बहुत कंट्रोल करते हुए उनसे कहा कि जीजू, दीदी अभी घर पर ही है कुछ बात हो गई तो बहुत बड़ी समस्या खड़ी हो सकती है प्लीज अभी मुझे आप छोड़ दो. अब जीजू ने मुस्कुराते हुए मुझसे कहा कि क्यों तो फिर मेरा और आपका चुदाई प्रोग्राम तो पक्का है ना?

तब मैंने उनसे हाँ कहकर जीजू के लोवर के ऊपर से ही उनका लंड दबा दिया, जिसकी वजह से जीजू ने मीठी सी आअहह निकाल दी और फिर मैंने कहा कि हाँ मेरे प्यारे और हॉट जीजू में आपके साथ चुदवाने के लिए एकदम तैयार हूँ, लेकिन यह बात किसी को पता नहीं चलना चाहिए और फिर उन्होंने मुझसे वादा करके मुझे छोड़ दिया और तब तक दीदी भी कमरे में आ गई थी. तो उन्होंने मुझसे मुस्कुराते हुए पूछा कि क्यों तुम दोनों जीजा और साली में ऐसी क्या खिचड़ी पक रही है मुझे भी तो बताओ में भी तो तुम्हारी थोड़ी सी बात सुन लूँ?

तब में और जीजू एक दूसरे की तरफ देखकर हंस दिए और फिर मैंने दीदी को पकड़ लिया और जीजू ने दीदी के कपड़ो के अंदर हाथ डालकर उनके बूब्स पर बहुत सारा रंग मल दिया. फिर दीदी ज़ोर से चिल्लाई तो जीजू ने उन्हें छोड़ दिया और फिर हँसने लगे. फिर दीदी ने मुझसे कहा कि चल अब तू नहा ले, सबसे ज़्यादा तुझ पर ही रंग लगा है पता नहीं यह रंग निकलेगा भी कि नहीं और अब दीदी ने मेरे मुहं के अंदर लगा हुआ रंग देख लिया और वो मुझसे पूछने लगी कि क्यों यह रंग तेरे मुहं के अंदर कैसे रंग गया? अब में उनकी यह बात सुनकर बहुत डर गई, लेकिन तभी मुझे एक आईडिया आया और मैंने उनसे कह दिया कि दीदी वो जब में रोहन के साथ होली खेलने गई थी जब में पानी पी रही थी तभी उस समय ग्लास में रंग गिर गया था और मेरे मुहं के अंदर लग गया.

फिर दीदी ने ठीक है कहा और मुझसे बोला कि चल जाकर नहा ले. तो में बाथरूम में नहाने चली गई और करीब एक घंटे तक अपने बदन से वो रंग निकालती रही और फिर में आख़िर में रंग निकालने में कमियाब रही और उसके बाद दीदी और जीजू एक एक करके भी नहा लिए और फिर हम लोगों ने एक साथ में ही खाना खाया और उसके बाद दीदी घर के कामों में लग गई. में और जीजू उनके रूम में बैठकर लेपटॉप पर फिल्म देखने लगे और जब फिल्म शुरू हुई तब जीजू ने मुझसे कहा कि निक्की तुम बहुत हॉट सेक्सी हो और कहा कि तुम्हारे इन बड़े बड़े बूब्स का तो कोई जवाब ही नहीं है और यह बात कहते हुए उन्होंने मेरे बूब्स दबा दिए और फिर मुझे गाल पर एक किस कर दिया और फिर मुझसे पूछा कि निहारीका मेरा नंबर कब है? तो मैंने कहा कि में क्या कहीं भागी जा रही हूँ?

लगातार २ घंटे तक किसी बी सेक्सी लड़की को कैसे चोदे देखो यह Apps से Free (Download)

मैंने कहा कि जब भी मौका मिलेगा तब में आपकी ही तो हूँ. फिर जीजू उठकर नीचे देखने चले गये कि दीदी क्या कर रही है? उस समय दीदी किचन में कुछ काम कर रही थी. जीजू कमरे में वापस आए और उन्होंने मुझसे कहा कि मैंने देखा है कि तुम्हारी दीदी अभी किचन के कामों में व्यस्त है और अब मुझे तुम्हारे बूब्स चूसने है.

फिर मैंने उनसे साफ मना किया तो जीजू ने मुझसे कई बार आग्रह किया और अब में उनकी बात मान गई. फिर मैंने अपनी टी-शर्ट को जल्दी से ऊपर कर दिया और ब्रा की हुक को खोल दिया. तभी मेरे बड़े और मोटे बूब्स ब्रा के खुलते ही लटककर बाहर आ गए और जीजू मेरे बूब्स को देखकर एकदम से दंग रह गये, वो मुझसे बोले कि तुम्हारे बूब्स तो बहुत बड़े है और गोरे भी उतने ही है. फिर इतना कहकर उन्होंने मेरा एक बूब्स पकड़कर मुहं में भर लिया और दूसरे बूब्स को हाथ से दबाने लगे.

फिर करीब दस मिनट बूब्स चूसने और दबाने के बाद मेरे बहुत बार मना करने पर उन्होंने मुझे छोड़ दिया और मैंने अपनी ब्रा का हुक लगाकर अपनी टी-शर्ट को ठीक किया. अब मैंने जीजू के लोवर में उनका खड़ा हुआ लंड देखा और जीजू ने भी देख लिया कि में उनका लंड बहुत ध्यान से देख रही हूँ. फिर जीजू ने झट से मेरा हाथ पकड़कर अपने लंड पर रख दिया और मैंने भी अब उनका लंड पकड़कर धीरे धीरे सहला दिया. फिर जीजू ने अपना लोवर नीचे करके अपना लंड बाहर निकाल दिया और मुझे एक बार फिर से हाथ में पकड़ा दिया.

दोस्तों मैंने महसूस किया कि उनका लंड रोहन के लंड से भी लंबा और मोटा था तो में उसे अपने सामने आते ही गौर करके देखती ही रह गई. फिर जीजू ने मुझसे कहा कि निक्की प्लीज इसे एक बार अपने मुहं में लेकर चूसो ना और अब मैंने भी उनके कहने पर लंड को मुहं में भर लिया और चूसने लगी. तभी मैंने महसूस किया कि मेरे मुहं की गरमी से जीजू का लंड अब और भी मोटा और लंबा हो गया था और वो मेरे मुहं में पूरा अंदर तक जा भी नहीं रहा था. फिर जीजू ने मेरे सर के बाल पकड़कर अपने लंड पर दबाव लगाया और अब उनका लंड मेरे मुहं में मेरे गले तक चला गया.

फिर थोड़ी देर लंड चूसने के बाद जीजू जब झड़ने वाले थे तो उन्होंने मुझसे कहा कि में तुम्हारे मुहं में ही अपना वीर्य निकालूँगा. फिर मैंने भी हाँ में अपना सर हिला दिया और फिर जीजू ने थोड़ी देर में ही गरम गरम फुहारा मेरे मुहं में छोड़ दिया. अब मेरा पूरा मुहं उनके वीर्य से भर गया था और में उनका सारा वीर्य पी गई. फिर जीजू ने मुझसे कहा कि निक्की अभी तो मैंने सिर्फ़ तुम्हारा मुहं ही चोदा है तो इतना मज़ा आया, अभी चूत और गांड तो बाकी ही है मेरी जान उसमें कितना मज़ा आएगा? अब में और जीजू फिल्म देखने लगे तो मैंने और जीजू ने उस समय एक चद्दर ओढ़ रखी थी जिसकी आड़ में जीजू ने अपना हाथ मेरे लोवर में डाल दिया और अब वो मेरी चूत को सहलाने लगे और अपनी दो उँगलियों से मुझे चोदने लगे और फिर थोड़ी देर बाद में झड़ गई.

फिर जीजू ने मुझसे कहा कि तुम्हारा भी काम हो गया है. मैंने कहा कि हाँ फिर हम फिल्म देखकर उठे ही थे कि दीदी हमारे लिए चाय लेकर आ गई और हमें चाय दे दी. फिर जीजू ने कहा कि तुम दोनों बहने तैयार हो जाओ हम कहीं बाहर घूमकर आते है. फिर दीदी ने कहा कि नहीं मुझे घर पर थोड़ा सा काम है इसलिए में आपके साथ नहीं जा सकती, आप एक काम करिए कि आप और निक्की कहीं बाहर घूमकर आ जाओ. फिर जीजू ने कहा कि तुम्हारे बिना, लेकिन मज़ा कहाँ है? तो दीदी ने कहा कि आप थोड़ा समझो मुझे यहाँ घर में कुछ काम है तो आप दोनों चले जाओ.

फिर मैंने और जीजू ने कहा कि ठीक है और फिर में फ्रेश होने चली गई और मैंने काली कलर की शर्ट और नीले कलर की जीन्स पहनी जिससे जीजू को शर्ट खोलने में ज्यादा दिक्कत ना हो और मैंने गुलाबी कलर की ब्रा और काली कलर की पेंटी पहनी हुई थी और फिर मैंने अपने होंठो पर गुलाबी कलर की लिपस्टिक भी लगा ली थी जिससे में जीजू को अपनी तरफ और भी ज्यादा आकर्षित कर लूँ.

फिर में और जीजू उनकी कार में बैठकर बाहर चले गये और थोड़ा आगे जाकर एक सुनसान रोड पर जीजू ने अपनी कार को रोक दिया और फिर उन्होंने मुझसे कहा कि निक्की डार्लिंग मुझे लगता है कि आप आज तो मुझे मार डालने के मूड में ही हो. फिर मैंने स्माईल दे दी और जीजू ने मेरे होंठो पर किस करना शुरू कर दिया और अब में उनका पूरा पूरा साथ दे रही थी और फिर मैंने अपने ही हाथों से शर्ट के दो बटन खोल दिए ताकि जीजू को मेरे बूब्स दबाने में ज्यादा समस्या ना हो और फिर हम दोनों ऐसे ही 15 मिनट किस और बूब्स प्रेस करने लगे. अब जीजू ने मुझसे कहा कि निक्की हम कोई होटल में चलते है. फिर मैंने कहा कि हाँ तब जीजू ने एक होटल में रूम बुक करवा दिया. अब में और जीजू कार से होटल चले गये. वहां से हमने रूम की चाबी ली और अपने रूम में चले गये.

अब वहां पर जाकर दरवाजा बंद करके जीजू ने मेरे होंठो को चूसना चालू कर दिया और मैंने जीजू के होंठो को चूसना चालू कर दिया और फिर जीजू ने धीरे से मेरे होंठो को काट दिया और मैंने आईई की आवाज निकाली. फिर जीजू ने मेरी शर्ट के बटन को खोलकर मेरी शर्ट को पूरा उतार दिया और अब मेरी जींस के बटन को भी खोल दिया और मैंने जींस को उतार दिया. अब में सिर्फ़ ब्रा और पेंटी में रह गई थी.

तभी मैंने जीजू की शर्ट के बटन खोल दिए और फिर उन्होंने अपनी जींस को भी उतार दिया. फिर वो सिर्फ़ अंडरवियर में ही रह गये और अब में और जीजू किस कर रहे थे. में उनकी अंडरवियर में हाथ डालकर उनका लंड पकड़कर सहला रही थी कि तभी जीजू ने मेरी ब्रा को खोलकर मुझे बेड पर लेटा दिया और वो मेरे बूब्स को चूसने लगे और हल्का हल्का काट भी रहे थे और में आहह उह्ह्ह्ह मर गई कर रही थी. फिर जीजू ने मेरी पेंटी उतारी और मेरी चूत को चाटने और चूसने लगे. वो मुझसे बोले कि यह तो बहुत मस्त है और में उनका मुहं मेरी चूत पर दबाती रही. फिर उसके कुछ देर बाद में झड़ गई और मेरी चूत को जीजू ने चाट चाटकर साफ कर दिया और उन्होंने मुझे खड़ी करके अपना लंड मेरे मुहं में दे दिया.

में उनका लंड अपने मुहं में लेकर चूसने लगी और थोड़ी देर चूसने के बाद जीजू ने मुझे बेड पर लेटा दिया और उन्होंने मेरे दोनों पैरों को अपने कंधे पर रखकर मेरी चूत में अपना लंड डाल दिया. मुझे बहुत दर्द हुआ जिसकी वजह से में ज़ोर ज़ोर से चीखने चिल्लाने लगी और सिसकियाँ लेने लगी उह्ह्हह्ह माँ मर गई उईईईईइ करने लगी. फिर भी जीजू मुझे लगातार धक्के देकर चोदते रहे और कुछ देर बाद उन्होंने मुझे उठाकर खुद नीचे लेट गये और मुझसे अपने लंड पर बैठने को कहा.

में उनके ऊपर आकर अपने एक हाथ से लंड के मुहं पर सेट करके लंड पर बैठ गई और अब लंड धीरे धीरे मेरी चूत में जाने लगा, लेकिन मुझे बहुत दर्द हुआ और मज़ा भी बहुत आ रहा था और में आहहहह आईईईइ मर गई करके चुदवा रही थी और जीजू मुझे लगातार चोद रहे थे. फिर कुछ देर बाद उन्होंने मुझे घोड़ी बनाकर मेरी चूत में अपना लंड डाल दिया, लेकिन करीब दस मिनट तक चोदने के बाद जब उनका वीर्य निकालने वाला था तो उन्होंने मुझे उठाकर लंड मेरे मुहं में डाल दिया और ज़ोर ज़ोर से मेरे मुहं को चोदने लगे फिर करीब तीन मिनट तक चोदने के बाद वो मेरे मुहं में ही झड़ गये और में उनका सारा वीर्य गटक गई और फिर हम बेड पर ही लेट गये और अब थोड़ी देर बाद में बाथरूम में चली गई तो वो वहां पर भी मेरे पीछे पीछे आ गये और मैंने अपनी चूत को साफ किया और उनका लंड भी साफ किया और तब तक मेरे हाथों में ही उनका लंड एक बार फिर से खड़ा होने लगा. उन्होंने मुझे वहीं पर बैठाकर लंड मेरे मुहं में दे दिया और बहुत देर तक चुसवाया. अब उनका लंड पूरी तरह तनकर खड़ा हो गया था.

फिर उन्होंने मुझे वहां से अपनी गोद में उठाकर बेड पर लाकर पटक दिया और अब मुझसे घोड़ी बनने को कहा तो में उनके सामने घोड़ी बन गई. फिर जीजू ने मेरी गांड पर अपना हाथ रखकर सहलाया और फिर मेरी गांड को चाटने लगे. फिर थोड़ा थूक मेरी गांड पर लगाकर मेरी गांड में अपना लंड डाल दिया. में उस दर्द की वजह से कराह उठी और मेरी आँख में से आँसू निकल गये तो जीजू थोड़ी देर रुक गए और जब मेरा दर्द थोड़ा कम हुआ तो वो एक बार फिर से मुझे ज़ोर ज़ोर से झटके मारने लगे और में आहहह माँ ऊईईईइ उह्ह्ह्हह्ह करके अपनी गांड चुदवा रही थी. अब थोड़ी देर चोदने के बाद उन्होंने मुझे अपने ऊपर बैठाकर मेरी गांड में दोबारा लंड डाल दिया तो में भी उनका लंड गांड में लेकर उछल उछलकर चुदवाने लगी और जीजू मेरे बूब्स को दबा रहे थे और फिर थोड़ी देर बाद उन्होंने मुझे बेड पर उल्टा लेटाकर मेरी गांड में अपना लंड डाल दिया और मुझे पीछे से किस करने लगे.

वो मेरे गले पर किस करने लगे और मेरी पीठ पर भी किस करने लगे और फिर अचानक से उन्होंने अपने धक्को की स्पीड को तेज कर दिया और थोड़ी देर चोदने के बाद वो झड़ गये. अब मैंने भी उनका पूरा वीर्य अपनी गांड में ही ले लिया. फिर में उठी और अपनी गांड को साफ करने बाथरूम में चली गई, वहां पर भी जीजू मेरे पीछे आ गये. अब मैंने उनका लंड भी साफ किया, लेकिन मुझे अब दर्द थोड़ा ज़्यादा था तो मैंने जीजू से कहा तो उन्होंने कहा कि में तुम्हे दर्द खत्म करने की दवाई दिलवा दूंगा और फिर में जीजू साथ में ही नहाने लगे. अब में और जीजू तैयार होकर घर के लिए निकल गये और रास्ते में जीजू ने मेरे बहुत बार बूब्स दबाए और ज़ोर ज़ोर से चूसे भी. दोस्तों में उनकी इस चुदाई से बहुत खुश थी क्योंकि उन्होंने मुझे बहुत अच्छी तरह अलग अलग तरह से और मेरे हर एक छेद में अपना लंड डालकर चोदा. जिसकी वजह से में अब उनकी चुदाई से बहुत संतुष्ट थी और मुझे उनसे चुदने में बहुत मज़ा भी आया.

 

loading...

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम मनीष है और में सूरत से हूँ. में आज आपको मेरा आँखो से देखा हुआ रियल सेक्स बताने जा रहा हूँ, जो मेरी वाईफ और एक अजनबी ने किया था. हमारी शादी को 1 साल हुआ है. मेरी वाईफ दिखने में गोरी, लंबी, और अच्छी फिगर की है और उसका साईज 34-29-35 है. अब में जो स्टोरी आपको बताने जा रहा हूँ, ये बात 15 दिन पहले की है. मेरे घर पर फर्निचर का काम चल रहा था और घर पर गगनपाल और सुरेश नाम के दो मिस्त्री काम करते थे. अब रोज की तरह में सुबह 9 बजे घर से जॉब पर चला गया था, लेकिन उस दिन हमारे ऑफिस का काम चल रहा था, इसलिए हमें छुट्टी दे दी थी.

फिर में दोपहर को 1 बजे जब घर लौटा तो मैंने बेल बजाई, लेकिन बिजली ना होने की वजह से बेल नहीं बजी और मुझे लगा कि कोई दरवाजा खोलने आ क्यों नहीं रहा है? फिर मैंने मेरे बैग से अपनी एक्सट्रा चाबी निकाली और दरवाजा खोला. फिर जब में घर में अन्दर आया तो मैंने देखा कि रूम में कोई नहीं था, ना वर्कर्स और ना मेरी वाईफ. फिर में मेरी वाईफ को सर्प्राइज़ देने के लिए धीरे पैर अपने बाथरूम की तरफ गया तो अंदर से थोड़ी आवाज़ आ रही थी.

फिर मैंने दरवाजे के होल से देखने का सोचा. फिर जब मैंने दरवाजे के होल से देखा तो देखते ही दंग रह गया. मेरा मन किया कि अभी दरवाजा खोलकर दोनों को मार दूँ, लेकिन अब मेरी वाईफ को इतना खुश देखकर फिर मैंने अपना मन बदल दिया और फिर से दरवाजे के होल से देखा तो मेरी वाईफ अब पूरी नंगी अपने घुटनों पर बैठी है और मिस्त्री सुरेश भी नंगा खड़ा था.

अब मेरी वाईफ सुरेश का लंड चूस रही थी और बोल रही थी कि वाह सुरेश तेरा कितना तगड़ा लंड है? मन करता है कि तेरा चूसती रहूँ. सच में सुरेश का लंड कम से कम 8 इंच लंबा और 4 इंच मोटा था. फिर तो सुरेश भी मेरी वाईफ के सर को पकड़कर अपना लंड मेरी वाईफ के मुँह में डालने लगा. अब ये नज़ारा देखकर में हैरान हो गया था, मेरी वाईफ आज तक कभी मेरा लंड अपने मुँह तक भी नहीं लाई थी.

अब सुरेश का लंड एकदम घोड़े के जैसा तन गया था और अब में मन ही मन घबरा गया था कि कहीं इस घोड़े जैसे लंड से मेरी वाईफ की चुदाई कर ली तो वो मर जायेंगी. इतने में सुरेश ने मेरी वाईफ के बूब्स ज़ोर से दबाये और कहा कि वाह भाभी जी आपके बूब्स तो मस्त कड़क है, लगता है कि भैया ठीक से दबाते नहीं. तब मेरी वाईफ ने कहा कि वो अभी तुम्हारे सामने बच्चा है तुम्हारी उम्र कम है, लेकिन तुममें उससे ज़्यादा ताकत है और उससे हर चीज़ बड़ी है, अब वो बोलते-बोलते सुरेश का लंड हिला रही थी और सुरेश भी मेरी वाईफ के बूब्स ज़ोर-ज़ोर से खींच रहा था.

अब इतने में खुद मेरी वाईफ आगे झुकी और सुरेश से कहा कि आज मुझे अपने बड़े लंड का स्वाद चखाओं, में कब से इसके लिए तड़प रही हूँ और जब मैंने इसे पहली बार देखा था, तब से कभी ठीक से सो भी नहीं पाई हूँ. तब सुरेश ने कहा कि आपने मेरे लंड को कब देखा था? तब मेरी वाईफ ने कहा कि तुम बाथरूम में मेरी पेंटी को अपने हाथ में लिए इस मस्त लंड को परेशान कर रहे थे. तब सुरेश ने कहा कि हाँ भाभी रोज आपकी बड़ी गांड देखकर मेरा मन करता था कि आपकी गांड मार लूँ, आप जब झुककर बूब्स दिखाती थी तो मेरा लंड बेकाबू हो जाता था. आज ये मस्त मोटी गांड मारूँगा.

फिर मेरी वाईफ ने कहा कि आज अपनी भाभी की जी भर के चुदाई करो और फिर मेरी वाईफ ने सुरेश का लंड हाथ में पकड़ा और अपनी चूत के होल पर रखा तो अब सुरेश भी बेकाबू हो गया और मेरी वाईफ को कमर से पकड़ा और जैसे ही धक्का दिया तो फिर मेरी वाईफ की चीख निकल गई और सुरेश से गुस्से में बोली कि साले एक ही बार में पूरा क्यों डाल दिया? फिर सुरेश ने कहा कि भाभी जी ये तो मेरे लंड का टोपा गया है, पूरा लंड तो अभी बाकि है. ये बोलकर उसने मेरी वाईफ के बूब्स को पकड़कर एक और धक्का मारा तो वाईफ के मुँह से आआआहह निकल गई और कहा कि ऐसा लग रहा है कि जैसे में पहली बार चुद रही हूँ.

लगातार २ घंटे तक किसी बी सेक्सी लड़की को कैसे चोदे देखो यह Apps से Free (Download)

अब सुरेश का आधा भी लंड चूत में नहीं गया था तो सुरेश ने कहा कि भाभी अब तक तेरी चूत पूरी भी नहीं खुली है. क्या, भैया ठीक से चोदते नहीं क्या? फिर मेरी वाईफ ने कहा कि हर किसी का लंड तेरे जैसा मजबूत जोरदार नहीं होता है. फिर सुरेश ने धीरे-धीरे धक्के देना शुरू किया और अब मेरी वाईफ भी आअहह आअहह करके मजे लेने लगी थी. अब मेरी वाईफ ने जोश-जोश में सुरेश का पूरा लंड ले लिया था और अब लगभग 20 मिनट तक सुरेश मेरी वाईफ को चोदता रहा.

फिर मेरी वाईफ बोली कि सुरेश में 3 बार पानी निकाल चुकी हूँ, अब तो अपना पानी निकालो. फिर सुरेश ने कहा कि अभी नहीं अभी तो तेरी चूत का भोसड़ा बनाऊंगा और चोदता रहा. फिर मेरी वाईफ बेड पर उल्टी सो गयी तो सुरेश उसे कमर से खींचकर फिर से चोदता रहा और अब उसका लंड ज़ोर-ज़ोर से चूत के आर पार हो रहा था.

फिर उसने कहा कि मेरा पानी निकलने वाला है, इसको टेस्ट नहीं करोगी? फिर मेरी वाईफ ने कहा कि तूने मुझे जन्नत दिखाई है तो तुमको भी खुशी मिलनी चाहिए. ये कहकर वो सीधी हुई और उसके लंड को अपने मुँह में ले लिया और कहा कि वाउ क्या मर्दाना लंड है तेरा? टेस्ट भी मस्त है. अब सुरेश मेरी वाईफ के मुँह में चुदाई करने लगा और फिर तो मेरी वाईफ भी उसके लंड को अपने मुँह में लेने लगी. तभी ज़ोर से रॉकेट जैसी पिचकारी निकली और मेरी वाईफ ने पूरा पानी पी लिया और अपनी जीभ से सुरेश के लंड को चाट-चाट कर साफ कर दिया. अब वो चाट रही थी तो सुरेश का लंड तन रहा था. फिर सुरेश ने कहा कि साली लंड मुँह से निकाल वरना तेरी गांड की खैर नहीं है. फिर मेरी वाईफ ने कहा कि अब में इस लंड की दीवानी हो गई हूँ.

फिर सुरेश का लंड डबल तन गया और उसने मेरी वाईफ को उल्टा करके उसके गांड के होल पर अपना लंड रख दिया और मेरी वाईफ से कहा कि इतनी मस्त गांड को तेरा पति मारता नहीं, पागल है, फुटबॉल जैसी गांड तो चुदने के लिए ही होती है. ये सुनकर मेरी वाईफ बोली कि साले तेरा लंड तो पीछे जायेगा और आगे से निकल जायेगा. तेरा इतना बड़ा है, इतना तो मेरा पति एक महीने में नहीं चोदता जितनी तूने आज मेरी चुदाई की है, वो देखता तो उसे पता चलता कि उसकी वाईफ की चूत का क्या हाल किया है? फिर सुरेश ने लंड गांड में डालने की कोशिश की, लेकिन उसका लंड गांड में नहीं गया तो मेरी वाईफ सीधी हो गई और कहा कि रूको. फिर उसने सुरेश को सीधा लेटा दिया और खुद अपनी गांड को सुरेश के लंड पर रखकर बैठ गई और उस पर उछलने लगी. फिर काफी देर तक चुदाई के बाद वो झड़ गई और अब वो संतुष्ट लग रही थी.

 

loading...

Related Post & Pages

Indian Xxx - Interracial DP gangbang with nice girl Ria Sunn - XXX Por... *copy this code to Clipboard Thank you for your vote! You have already voted for this video! Uploade...
एक दिन मे दो लंड अपनी चूत मे लिए... मेरा नाम पिंकी है और मैं देल्ही की रहनेवाली हू मेरी फिगर 36 30 38 है और मैं बहुत चुड़दकड़ हू मैं अपन...
Bangla Aunty Hot Video 01 বাংলা আন্টি হট ভিডিও সিরিজে আপনাকে স্বাগতম। চরম হট এবং রোমান্টিক ভিডিও প্রকাশের মাধ্যমে আপনাকে আনন্দ...
Indian Xxx - Bengali professor Punjabi student boob sucking again in a... Indian Xxx - Bengali professor Punjabi student boob sucking again in a car desi hdx - XXX Porn I...

loading...

Bollywood Actress XXX Nude